Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार Limant Post

Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार

Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार

सांपों का देखा जाना बड़ी साधारण सी बात है। शहर की अपेक्षा गांव में इसकी संख्या ज्यादा मात्रा में देखने को मिलती है। शहर में जंगलों की कमी होने के कारण सांप की मात्रा बहुत ना के बराबर देखी जाती है। लेकिन अगर हम गांव की बात करें तो शहर की अपेक्षा गांव में जंगलों की मात्रा अधिक होने के कारण ज्यादा मात्रा में सांप पाई जाती है। यह जरूरी नहीं कि सांप हमेशा जंगलों में ही रहते हैं। सांप जमीन के अंदर बिल बना कर भी आसानी से अपना जीवन यापन कर सकते हैं। अतः बरसात के मौसम में गांव के सांपों को जयादा देखा जा सकता है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

पूरे दुनिया में लगभग 450 प्रजाति के सांप पाए जाते हैं। 8 से 9 प्रजाति के सांप ऐसे हैं जिनके काटने से इंसान के शरीर के अंदर विष फैलता है। बाकी के सभी सांप के अंदर या तो जहर नहीं होता है। या अगर होता भी है तो बहुत ही कम मात्रा में होता है। जिससे इंसान की मौत नहीं होता है। सबसे पहले मैं आपको बताना चाहूंगा कि आजकल के समय में सांपों के काटने के बाद इंसानों के अंदर इतना डर बैठ जाता है। की इंसान डर के कारण मृत्यु को प्राप्त कर लेता हैं। अतः सांप के काटने के बाद घबराएं नहीं। सांप के काटने के बाद हमेशा मरीज को प्राथमिक उपचार करना अति आवश्यक है। मैं आप सभी को सलाह दूंगा यदि आप में से कुछ लोग शहर में रहते हैं और ऐसे समय का सामना करना पड़ रहा है। तो आप अपने नजदीकी अस्पताल में अवश्य जाएं। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

How to Control Diabetes Naturally हिंदी में जानकारी

क्योंकि यदि आप शहर में रहते हैं तो आपके आसपास अच्छे अस्पतालों की सुविधा भी अवश्य ही होगी। जैसा की मैंने आप सभी को बताया है। कि पूरी दुनिया में 450 तरह के सांप की प्रजाति पाई जाती है। जिसमें से 10 प्रजाति ऐसे हैं जिनके काटने से इंसान के शरीर के अंदर जहर फैलने लगती है। अब मै आप सभी को बताना चाहूंगा कि यदि आप में से किसी को भी इस समय का सामना करना पड़े और आप शहर में रहते हो तो आपको सबसे पहले अपने नजदीकी अस्पताल और डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए। क्योंकि किसी भी इंसान को यह जानकारी नहीं होती है कि कौन सा सांप विषैला है और कौन से सांप विषैले नहीं है। यदि आप किसी सांप के काटने के बाद प्राथमिक उपचार नहीं करवाते हैं तो यह आपकी सबसे बड़ी भूल होगी। और यह आगे चलकर जानलेवा साबित भी हो सकती है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

अतः मैं आप सभी से नम्र निवेदन करता हूं कि आप सभी सांप के काटने के बाद सबसे पहले प्राथमिक उपचार के लिए अपने आसपास के डॉक्टर और अस्पताल में अवश्य सहायता लें। शुरुआत में किया गया उपचार आप को जीवनदान प्रदान कर सकता है। भारत में बहुत सारे जगहों पर देखा जाता है कि सांप के काटने के बाद लोग उसे झाड़-फूंक जैसे अंधविश्वास में चले जाते हैं। ऐसा बिलकुल न करे। सांप के काटने के बाद ऐसी कोई सी भी झाड़-फूंक नहीं है जिससे किसी भी इंसान के अंदर के जहर को बाहर निकाला जा सके। अतः सांप के काटने के बाद आप सभी को प्राथमिक उपचार के लिए अपने आस पास के अस्पताल अथवा डॉक्टरी सलाह लेना अतिआवश्यक है।

Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार
Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार

नीम के पत्ती के असाधारण औषधीय गुण हिंदी में जानकारी

कभी भी आप किसी बाबा तांत्रिक अथवा झाड़-फूंक के चक्कर में ना पड़ें। यह मरीज के लिए जानलेवा साबित हो सकता है। सांप के काटने के बाद कई जगहों पर देखा जाता है कि सांप के काटने की जगह पर दूसरे इंसान मुंह लगाकर उसके रक्त को बाहर निकालने की कोशिश करते हैं। ऐसा करना दूसरे इंसान के जीवन को भी खतरे में डाल सकता है। अतः यदि किसी सांप काट लेता है तो दूसरे इंसान को कभी भी मुंह लगाकर उसके रक्त को बाहर निकलना नहीं चाहिए। इससे पहले इंसान के अंदर फैली हुई जहर दूसरे इंसान के अंदर भी आसानी से जा सकती है। जिससे दोनों इंसानों की जीवन खतरे में पड़ सकती है। कभी-कभी यह जानलेवा भी बन सकती है। अतः आप सभी ऐसे कार्य से परहेज करें। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

जैसा की मैंने आप सभी को भी बताया है कि पूरे दुनिया में 450 तरह की सांप की प्रजातियां उपलब्ध हैं। जिनमें से 10 प्रजातियां हैं जिनके काटने से इंसान की मौत की संभावना हो सकती है। बाकी जितने भी सांप है इन के काटने से आपको किसी भी तरह की कोई हानि नहीं पहुंचती है। बाकी सांपों के काटने से थोड़ी सी जलन पैरों में सूजन उल्टी इत्यादि संभव है। लेकिन मैं आप सभी पाठकों को यह नम्र निवेदन करता हूं कि आप अपने जीवन में कभी भी इस तरह के काम में रिस्क ना लें। हमेशा प्राथमिक उपचार करना अति आवश्यक है। यदि हम यह सोच कर सांप का काटने का इलाज ना करवाएं किया विषैला नहीं होगा।

How to Stop Hair Fall Naturally हिंदी में जानकारी

आगे चलकर यह आपके जीवन के लिए प्राण घातक भी साबित हो सकता है। अब मैं आपको बताता हूं कि यदि आपके आसपास कोई हॉस्पिटल अस्पताल या अच्छे डॉक्टर की सुविधा उपलब्ध नहीं है तो आप क्या करेंगे। जैसा की मैंने आप सभी को बताया है कि यदि आप शहर में या शहर के आसपास रहते हैं। आपके आसपास अच्छे डॉक्टर अच्छे हॉस्पिटल अवश्य मिल जाती है। यदि आप गांव में रहते हैं। 

आपके आसपास अच्छे अस्पताल की सुविधा उपलब्ध नहीं है तो कुछ प्राथमिक उपचार के बारे में मैं आपको विस्तार से बताता हूं जिसके उपयोग से आप किसी भी सांप काटने के बाद मरीज की जान को आसानी से बचा सकते हैं। सबसे पहले यदि किसी भी मनुष्य सांप काट लेता है। तो आप कोशिश करें कि उस मनुष्य के शरीर के ऊपर सांप के काटने का निशान ढूंढे। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

क्योंकि जब भी कोई सांप किसी मनुष्य को काटता है तो अपने दोनों दांतो का निशान मनुष्य के शरीर पर छोड़ देता है। जिसे हम आसानी से पता लगा सकते हैं कि सांप मनुष्य के शरीर के किस हिस्से में कांटा है। आप यह बात पता लगाने में सफल हो जाते हैं। तो अब आपको इंजेक्शन लेना है। इंजेक्शन के आगे का हिस्सा काट के हटा देना है। आगे का हिस्सा काट के हटाने के बाद आपको सांप के काटने वाली जगह पर उसको चिपकाना है। उसके बाद आप मरीज के काटे गए जगह से रक्त को बाहर निकाल कर बाहर हटाते रहना है। इस तरह से आप मनुष्य के अंदर जहर को फैलने से रोक सकते हैं। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार
Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार

अपने शरीर के अंदर हीमोग्लोबिन की कमी को कैसे दूर करे हिंदी में जानकारी

जैसे ही आपको पता चलता है किसी मनुष्य को सांप ने काट लिया है तो आप सबसे पहले कटे हुए जगह पर एक जोर की पट्टी बांध दें। जिससे मनुष्य के शरीर के अंदर जहर आसानी से ना फैल सके। यदि हम किसी भी मनुष्य के सांप काटने वाली जगह को अच्छे से बांध देते हैं तो रक्त प्रवाह रुक जाती है। रक्त प्रवाह के रुक जाने से सांप का जहर शरीर के अंदर फैल नहीं पाता है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

देखा जाता है कि सांप के काटने के बाद इंसान की मृत्यु तुरंत नहीं हो जाती है। जहर को फैलने में कुछ समय लगता है। कुछ संशोधन के द्वारा पता लगाया गया है कि सांप के विष को फैलने में 3 घंटे या 3:30 घंटे तक का समय लगता है। 3:00 से 3:30 घंटे में किसी भी मनुष्य के जीवन को बचाने के लिए संभव माना जा सकता है। 3 घंटे के दौरान हम मरीज को किसी भी अच्छे अस्पताल में आसानी से ले जा कर उस की जान बचा सकते हैं।

बढ़ते हुए वजन और चर्बी को कैसे कम करे हिंदी में जानकारी

सांप के काटने के बाद सांप का जहर धीरे-धीरे हमारे रक्त से हमारे पूरे शरीर में फैलने लगता है। इंसान की मृत्यु तब तक नहीं होती जब तक कि के सांप का जहर इंसान के उसके दिल तक ना पहुंच जाए। किसी भी विषैले सांप के जहर को मनुष्य के पूरे शरीर अथवा दिल तक पहुंचने में लगभग 3:00 से 3:30 घंटे का समय लगता है। 3:00 से 3:30 घंटे के दौरान हम मनुष्य की प्राथमिक उपचार करना प्रारंभ कर देना चाहिए।

सांप के जहर को फैलने से रोकने के लिए हम पोटेशियम परमैंगनेट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। पोटेशियम परमैंगनेट मैं ऐसा योगिक गुण पाया जाता है जिससे किसी भी तरह के विष का निवारण किया जा सकता है। साधारण तौर पर पोटेशियम परमैंगनेट का मिलना तो मुश्किल है। लेकिन हम अपने घर में रोजमर्रा के खाने में उपयोग होने वाले लहसुन का उपयोग कर सकते हैं। शायद आप सभी को नहीं पता होगा कि लहसुन में भरपूर मात्रा में पोटेशियम परमैंगनेट पाया जाता है। अतः सांप के विष के प्रभाव को कम करने के लिए हम घर में पाए जाने वाले लहसुन का उपयोग भी कर सकते हैं। लहसुन में मौजूद पोटेसियम मैग्नेट के योगिक गुण हमारे शरीर के अंदर सांप के विष को फैलने से रोकते हैं। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

Thyroid थायराइड क्या है थायराइड से कैसे बचे हिंदी में जानकारी

ऐसे तो कहा जाता है कि सांप के काटने वाली जगह पर एक ब्लेड से चीरा लगाकर अंदर से रक्त को बाहर निकाल देना चाहिए। लेकिन कभी-कभी यह ज्यादा खतरनाक भी साबित होने लगता है। कई बार ऐसा देखा गया है कि काटने अथवा ब्लेड से चीरा लगाने के बाद कई तरह के मरीजों का नस भी कट गया है। अत आप कोशिश करें कि  मनुष्य को सांप काटने के बाद बैलेड अथवा किसी भी काटने वाली चीज से उसके चमड़े को ना काटे। अगर थोड़ी सी भी गलती हो गई तो मनुष्य के नस कटने का संभावना बढ़ जाता है।

ज्यादातर मनुष्य की मौत सांप के काटने से नहीं सांप के काटने के डर से हो जाता है। सांप  काटने के बाद मनुष्य इतना घबरा जाता है कि उसका हार्ड फेल हो जाता है। इस कारण से मनुष्य की मृत्यु हो जाती है। मैं आप सभी को बताना चाहूंगा कि यदि आपके आसपास किसी भी मनुष्य को कोई सांप काट लेता है तो आप उसे घबराएं नहीं उसे किसी भी तरह का ऐसा बात ना बोले जिससे वह और ज्यादा परेशान हो जाए। क्योंकि जब भी कोई इंसान घबराने लगता है तो उसका रक्त संचार पहले की अपेक्षा तीव्र गति से चलने लगता है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

डेंगू क्या है डेंगू के बुखार को कैसे रोके हिंदी में जानकारी

जिस कारण से शरीर में अंदर जहर आसानी से फैलने लगती है। यदि कोई इंसान ज्यादा घबराने लगता है तो उसके रक्त संचार के ज्यादा तेजी से बहने के कारण रक्त भी बहुत तेजी से शरीर के अंदर फैलने लगती है। प्रायः सांप के विष को फैलने में शरीर के अंदर 3:00 से 3:30 घंटे का समय लगता है। लेकिन मनुष्य जब घबराने लगता है तो यह जल्द से जल्द पूरे शरीर में फैल जाती है और यह मनुष्य के मृत्यु का कारण भी बन जाता है।

अब मैं आपको अब एक ऐसे उपाय के बारे में बता रहा हूं जिसके सेवन से सांप का जहर बहुत जल्द आपके शरीर के अंदर से खत्म होने लगता है। ऐसे तो यह नहीं है यह एक दवाई है जिसका नाम है NAJA 200। मैं आप सभी को इस दवाई का एक फोटो इस पोस्ट के नीचे संलग्न कर दूंगा जिसकी सहायता से आप इस दवाई को आसानी से पहचान और खरीद सकते हैं। यह दवाई आपको किसी भी हेमोपैथिक दुकान पर आसानी से प्राप्त हो जाएगा। इसका मूल्य भी कुछ इतना ज्यादा नहीं है जिसे आप खरीद ना सके इसकी मूल्य ₹110 हैं जो आपको आसानी से किसी भी होम्योपैथिक दवाई की दुकान पर मिल जाएगा। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार
Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार

अपने चेहरे से दाग धब्बे पिम्पल्स मुहासे को हटाने के उपाय

सबसे पहले मैं आपको इस दवाई को लेने के तरीके के बारे में बताता हूं किस तरह से आप इस दवाई का सेवन करेंगे और कब करेंगे। यदि किसी इंसान को कोई सांप काट लेता है तो हमें NAJA 200 की एक बूंद का सेवन करना है। एक बूंद से ज्यादा इसका सेवन ना करें। फिर 10 मिनट के बाद आप इसके दूसरे बूंद का सेवन करें। ऐसे आप 10 से 20 बार 10:10 मिनट पर एक बूंद का सेवन करते रहें। यह एक रामबाण इलाज है इस दवाई से आप भयंकर से भयंकर सांप के जहर को अपने शरीर के अंदर से खत्म कर सकते हैं। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

आपको यह बात जानकर बहुत हैरानी होगी कि नाजा 200 का निर्माण भी एक विषैले सांप के जहर से ही किया जाता है। कहा जाता है कि साउथ अफ्रीका में पाए जाने वाले दुनिया के सबसे खतरनाक सांप के जहर से इस दवाई का निर्माण किया जाता है। साउथ अफ्रीका के जंगल में पाए जाने वाला यह दुनिया का सबसे खतरनाक सांप की एक बार काटने से इंसान की मृत्यु 2 से 3 मिनट में ही हो जाती है। NAJA 200 का निर्माण इसी सांप के विष से किया जाता है। यह एक ऐसा रामबाण इलाज है जिससे खतरनाक से खतरनाक सांप के विष को शरीर के अंदर से आसानी से खत्म किया जा सकता है। मैं आप सभी के सुविधा के लिए NAJA 200 का एक फोटो संलग्न कर रहा हूं जिसकी सहायता से आप आसानी से इस दवाई को खरीद सकते हैं।

किडनी के विकार के लक्षण और सुरक्षा के प्राकृतिक उपाय

आप सभी ने सुना होगा कि लोहे को लोहा ही काटता है। इसी कारण से सांप के जहर को काम करने के लिए दूसरे सबसे बड़े विषैले सांप को दवाई बनाने के लिए उपयोग किया गया है । आप लोग यह सोच कर हैरान होंगे कि आपको इस दवा के सेवन से किसी भी तरह की कोई परेशानी उत्पन्न हो सकती है। आप यह सोचकर बिल्कुल ना घबराए क्योंकि NAJA 200 कोई जहर नहीं है। यह सांप के विष का तो जरूर बना हुआ है लेकिन यह सांप के विष नहीं होता बहुत सारी प्रक्रिया से बदलकर इसका दवाई बनाया जाता है।

लेकिन मैं आप लोगों को एक सलाह और जरूर दूंगा कि आप बिना मतलब के इस दवाई का सेवन ना करें। जैसा की मैंने आप सभी को बताया है कि NAJA 200 का सेवन हमेशा सांप के काटने के बाद ही करें। आप सभी को मैंने पहले ही बताया है कि यह दुनिया का सबसे खतरनाक सांप के विष से बनाया जाता है। इसी कारण से आप इसे बच्चों की पहुंच से दूर रखें। जरूरत के समय में ही इस दवाई का सेवन करें और इसे बाहर निकालने। गलती से भी किसी बच्चे इस NAJA 200 दवाई का सेवन करते हैं तो बच्चों के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

सांप के काटने की बात इंसान के अंदर नींद आने लगती है। आप कोशिश करें कि सांप के काटने के बाद इंसान को सोने ना दे। उसी जगा के रखें। मरीज के सोने के बाद शरीर के अंदर बड़ी तीव्र गति से जहर रक्त में मिलने लगता है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

TB अर्थात क्षय रोग के लक्षण अथवा बचाव हिंदी में जानकारी

जब भी किसी इंसान को कोई सांप काटता है तो आप पीड़ित को गर्म चाय का सेवन करवाएं। गर्म चाय के सेवन करने से शरीर के अंदर रोग निरोधक क्षमता बनी रहती है। जिस कारण से इंसान का शरीर मजबूत रहता है और रक्त में जहर धीरे-धीरे फैलता है।

सांपों की प्रजाति में कुछ प्रजातियां ऐसी है जो हमारे भारत देश में आसानी से मिल जाती है। जिसमें से कुछ ऐसी प्रजाति है जिनके अंदर काफी मात्रा में विष पाया जाता है और वह काफी जहरीले भी होते हैं।  क्योंकि इन में वास्तविक रुप से काफी मात्रा में जहर अथवा विष भरा हुआ होता है। आप सभी ने करैत का नाम जरूर सुना होगा। करैत भारत के विभिन्न राज्यों में पाया जाने वाला ऐसे सांप का प्रजाति है। जिसके अंदर बहुत अधिक मात्रा में जहर अथवा विष पाया जाता है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

करैत देखने में तो बहुत छोटे कद का सांप होता है। आप कभी इसके लंबाई और चौड़ाई पर ना जाएं क्योंकि यह छोटा दिखने वाला सांप के अंदर बहुत ज्यादा मात्रा में जहर भरा हुआ होता है। अक्सर गांव में आपके घर में खपरो के मकान में मिट्टी के मकान में छत में आसानी से अपना आवाज बना लेता है। इस के काटने से इंसान के शरीर के अंदर बहुत ज्यादा मात्रा में विश भरना शुरू हो जाता है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

कैंसर के शुरुआती लक्षण और कैंसर के विकार से बचने के उपाय हिंदी में जानकरी

मैं आपको दूसरे प्रजाति के बारे में बता रहा हूं जिसका नाम आप लोगों ने सभी ने सुना होगा। ब्लैक कोबरा जिसे हम लोग नाग के नाम से भी जानते हैं। ब्लैक कोबरा भी एक ऐसी प्रजाति है जो भारत के विभिन्न राज्यों में आसानी से देखने को मिल जाती है। ब्लैक कोबरा के अंदर भी बहुत भारी मात्रा में जहर अथवा विश भरा हुआ होता है। इस कारण से ब्लैक कोबरा के काटने से इंसान की मृत्यु संभव हो जाती है। आप हमेशा कोशिश करें कि किसी भी सांप के काटने के बाद आप प्राथमिक उपचार अथवा आसपास के किसी भी डॉक्टर अस्पताल में अवश्य सलाह लें। यदि आप आसपास में किसी डॉक्टर अथवा हॉस्पिटल जाने में असमर्थ है तो आप NAJA 200 का सेवन आसानी से कर सकते हैं।

आप सभी को यह जानकारी पसंद आई हो। तो आप इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। ताकि सांप के काटने से परेशान लोगो को आसानी से नयी जिंदगी मिल सके और अधिक से अधिक लोगों को पता चल सके। यदि आपको किसी भी तरह का कोई सुझाव या मैसेज देना है तो आप हमें कमेंट कर जरूर बता सकते हैं। मैसेज करने के लिए आप हमारी वेबसाइट क्यों होम पेज पर Facebook के जरिए अपने मैसेज भी कर सकते हैं। आपके किए गए मैसेज का तुरंत रिप्लाई देना और आपके समस्याओं का समाधान करना हमारी जिम्मेदारी है। (Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार)

Arthritis गठिया रोग के लक्षण और इसके बचाव से उपचार की जानकारियां

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

17 Comments

  1. Pingback: आवला के गुण और आवला के उपयोग से रोगों का उपचार हिंदी में जानकारी | Limant
  2. Pingback: माइग्रेन के समस्याओ के लक्षण और इसके उपचार | Limant
  3. Pingback: High blood pressure और Low blood pressure के लक्षण संकेत और उपचार | Limant
  4. Pingback: चेहरे पे दाग धब्बे पिम्पल्स कील मुहासे होने के कारन और इसके उपचार | Limant
  5. Pingback: दाद खाज खुजली के समस्याओं के कारण और इसके उपचार | Limant
  6. Pingback: गठिया रोग के शुरुआती लक्षण और इसके उपचार के उपाय | Limant
  7. Pingback: दांतों के पीलेपन से छुटकारा और मसूड़ों के रोग से मुक्ति के उपाय | Limant
  8. Pingback: बहरापन कान से जुड़ी समस्याओं के कारण लक्षण और उपचार | Limant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us