India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

Limant Post आज हम बात करने जा रहे हैं दुनिया की ऐसी शख्सियत की जिनके बारे में आप सोचकर बहुत  हैरान हो जायेंगे कि कोई ऐसा इंसान भी है। जो बचपन से ही ऐसी कठिन परिश्रम का सामना करते हुए खुद को आज ऐसे मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया है जहां सफलता उनके कदम चूमती है। ऐसे तो कहा जाता है कि दृढ़ निश्चय और दृढ़ संकल्प इंसान  को  एक दिन सफलता तक पहुंचाती है। आज की कहानी भी एक ऐसे इंसान के बारे में अपने जीवन में कठिन परिश्रम और संघर्ष की सहायता से खुद को इतिहास के पन्नों में अमर कर दिया है। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More प्रेरणादायक कहानी दशरथ मांझी मनुष्य जब जोड़ लगता है पत्थर पानी बन जाता है

आज मैं बात करने जा रहा हूं इंडिया टीवी के चेयरमैन और चीफ एडिटर रजत शर्मा के बारे में जी हां ऐसे तो अभी के समय में रजत शर्मा को किसी भी पहचान की जरूरत नहीं है। दुनिया में बहुत कम ही ऐसे लोग होंगे जो रजत शर्मा के बारे में नहीं जानते होंगे। लेकिन रजत शर्मा की जिंदगी काफी तकलीफों और संघर्षपूर्ण रही है। तो आइए आज मैं आपको बताता हूं कि रजत शर्मा के जीवन के सच्चाई को मैं आज आप सभी को रजत शर्मा के जीवन की सच्चाई का विस्तार से वर्णन करूंगा। जिनके बारे में दुनिया नहीं जानती है अक्सर जब हम किसी इंसान के बारे में जानते हैं। तो उनकी सफलता को सबसे पहले देखते हैं। लेकिन उनके सफलता के पीछे किया गया उनका मेहनत उनके कठिन परिश्रम हम नहीं देख पाते इसी कारण से आज हम रजत शर्मा के सफलता की कहानी को उन पहलुओं को देखते हैं जिनके बारे में दुनिया नहीं जानती है

विश्वास वह शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में भी प्रकाश लाया जा सकता है

रजत शर्मा का जन्म 18 फरवरी 1957 को दिल्ली में हुआ था। रजत शर्मा का जन्म एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ था। गरीब परिवार में जन्म होने के रजत शर्मा के पास किसी भी तरह की कोई सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी। रजत शर्मा ने बचपन से ही अपने जीवन में बहुत सारे कष्ट और दुख सहे थे। रजत शर्मा के अलावा उनके घर में उनके माता-पिता 7  छोटे भाई-बहन भी थे। रजत शर्मा के माता-पिता दोनों बीमार थे। और वह कोई भी काम करने में असमर्थ थे। इसी कारण से वह अपने घर में ही रहते थे। घर में कोई भी इंसान काम करने के लायक नहीं था इसी कारण से रजत शर्मा और उनके परिवार के लोगों को खाना भी कभी-कभी नसीब नहीं होता था। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी
India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

Read More Paytm के मालिक विजय शेखर शर्मा के जीवन के संघर्ष की कहानी

रजत शर्मा खुद बताते हैं कि कभी-कभी ऐसा समय भी उनके परिवार वालों को देखना पड़ता था। उनके घर में बिना भोजन के ही सबको सोना पड़ता था। रजत शर्मा के पास ना तो पढ़ने का कोई सुविधा था। ना ही खेलने के लिए कोई सुविधाएं थी। यहां तक कि रजत शर्मा के पास रहने के लिए एक छोटा सा कमरा था रजत शर्मा खुद बताते हैं। कि दिल्ली में उनका घर 10 /10 का एक छोटा सा कमरा था। जिसमें उनके 7  भाई बहन के साथ माता-पिता भी रहते थे। इतने छोटे से कमरे में सभी का गुजारा हो पाना बहुत मुश्किल होता था। रजत शर्मा का कहना है कि पूरे फर्श पर भी सभी लोग एक साथ नहीं सो पाते थे

जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे जबकि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था।
अपना जीवन ऐसे जियो कि तुम्हारी मौत पे पूरी दुनिया रोए और तुम जश्न मनाओ।

इसी कारण से उन्होंने अपने घर में लकड़ी का अलवीरा जैसा बना रखा था। जिसमें एक के ऊपर एक ऐसे कर के सभी भाई बहन सोते थे। यहां तक कि रजत शर्मा के घर में बिजली का भी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं था। इतनी सारी संघर्ष की कहानियों के साथ रजत शर्मा बताते हैं कि जब उनके घर में सारे भाई बहन एक साथ नहीं सो पाते थे तो उनके घर में तत्वों का सहारा लिया जाता था। जहां एक के ऊपर एक एक के ऊपर एक लोग सो पाते थे। पढ़ाई के लिए रजत शर्मा को पास के एक मुंशी पार्टी स्कूल में दाखिला मिला। रजत शर्मा के पास ना पढ़ने के लिए किताबें थी न लिखने के लिए कॉपी कलम ये सभी चीजें दूसरे से डोनेशन के तौर पर मिल जाया करती थी। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More Inspirational Story Shah Rukh Khan 1500 से 4000 करोड़ तक का सफर

उसी के सहारे अपनी पढ़ाई आगे करते चले गए। घर में बिजली की सुविधा ना होने कारण रजत शर्मा अपनी पढ़ाई के समय पास की एक रेलवे स्टेशन पर चले जाया करते थे। जहां जाकर वह रेलवे की लाइट की रोशनी में रात भर अपनी पढ़ाई किया करते थे। इनके घर की हालत कुछ ऐसी थी कि इनके पास सुविधाएं नहीं हुआ करती थी। जैसा की मैंने आप सभी को पहले भी बताया है कि रजत शर्मा के घर में दो वक्त का भोजन मिलना भी बहुत मुश्किल होता था। दूध के पैसे ना होने के कारण यह पाउडर के दूध पिया करते थे। हालत इस कदर खराब थी किन के माता-पिता को यह लगता था कि हम लोगों का जिंदा रह पाना बहुत मुश्किल हो सकता है। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

भीड़ हमेशा उस रास्ते पर चलती है जो रास्ता आसान लगता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह हमेशा सही रास्ते पर चलती है।
अपना रास्ता खुद चुनिए क्योंकि आपको आपसे बेहतर और कोई नहीं जानता है।

लेकिन किसी ने सही कहा है कि मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती। हमेशा अपने कार्य को अपने लिए दृढ़ संकल्प के तौर पर उपयोग करें। जब किसी भी कार्य के पीछे हमारे जीवन का दृढ़ संकल्प लग जाता है तो वह काम एक दिन अवश्य हमारे ऊपर सफलता दिलाता है। घर में माता-पिता के बीमार होने के कारण घर में कोई बाहरी इनकम नहीं आ पा रही थी। जिसके कारण के घर की स्थिति दिन प्रतिदिन खराब होती चली जा रही थी। शुरुआती दौर में रजत शर्मा का यह सोच बिल्कुल नहीं था कि वह जात आगे जाकर TV में काम करेंगे।

Read More Best Inspirational Thought Success or Die करो या मरो

शुरुआती दौर में अपने माता-पिता कि इस तरह की हालत देखकर वह हमेशा यही सोचते थे कि कैसे भी पढ़ाई पूरी हो जाए और बैंक वगैरह में कहीं भी एक नौकरी मिल जाए जिससे वह अपने परिवार की स्थिति को सुधार सकें। इसी कारण से वह दिन-रात अपने पढ़ाई में लगे रहते थे। वह चाहते थे कि उनकी नौकरी बैंक में हो जाए ताकि वह अपने माता पिता और अपने छोटे भाई बहनों का गुजरा आसानी से कर सके। भाई बहनों में सबसे बड़े होने के कारण रजत शर्मा के ऊपर अपने सभी छोटे भाई बहनों का दायित्व था। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More सलाह और सफलता Advice does not always lead to success

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि मैं शर्मा के माता पिता भी बीमार रहा करते थे वह किसी काम के लायक नहीं थी वह कोई काम नहीं कर सकते थे। इस कारणवश रजत शर्मा के ऊपर अपने परिवार की सारी जिम्मेदारी थी। अपने माता-पिता की देखभाल अपने छोटे भाइयों बहनों की देखभाल इत्यादि सभी कामों का भार रजत शर्मा ने अपने ऊपर उठा लिया। रजत शर्मा कहते हैं कि नहाने के लिए भी उनको अपने घर से 400 मीटर दूर नुक्कड़ पर जाकर किसी नल से नहाना पड़ता था। वही अपने वह सभी छोटे भाई बहन को भी ले जाया करते थे और वहीं पर सभी को एक साथ नहाया करते थे। यह जरूरी नहीं था कि इनके  परिवार को अगर सुबह में भोजन मिल गया तो शाम को पूरे परिवार को भोजन नसीब होगा कि नहीं होगा। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More Inspirational think Success is the best Revenge अपमान का जबाब सफलता से

किताब कॉपी कपड़े आदि भी सब मांग मांग के काम चलाए जा रहे थे। पढ़ने के लिए घर में बिजली का सुविधा नहीं था इसी कारण रजत शर्मा अपनी पढ़ाई रेलवे स्टेशन के लाइट में जाकर किया करते थे। लेकिन रजत शर्मा ने अपनी पढ़ाई को कभी नहीं छोड़ा बीच में नहीं छोड़ा। अब मैं आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूं जिस घटना से रजत शर्मा के जीवन का लक्ष्य बदल गया। रजत  शर्मा के घर में किसी भी प्रकार की कोई सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी। उनके घर में TV रेडियो  की भी सुविधाएं उपलब्ध नही था। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

इस दुनिया में असंभव कुछ भी नहीं है।
हम वो सब कर सकते हैं जो हम सोच सकते हैं।
और हम वो सब सोच सकते हैं जो आज तक हमने नहीं सोचा है।

एक समय ऐसा आया जब रजत शर्मा अपने किसी घर के पास वाले में जाकर TV देखते थे।  पहले के समय में एक ही फिल्म आधी फिल्म शनिवार को आती थी और उसी फिल्म का आधा भाग रविवार को दिखाया जाता था। रजत शर्मा अपने घर के पास वाले घर में जाकर अक्सर फिल्में देखा करते थे। यह घटना तब की है जब रजत  शर्मा अपने घर के पास वाले घर में जाकर शहीद फिल्म देख रहे थे। जैसा कि मैंने आपको बताया है कि पहले के समय में अधिक फिल्म शनिवार को और आधी  फिल्म रविवार को आती थी। ओर रजत शर्मा शनिवार को शहीद मूवी देखकर वापस आ गए। और पूरी रात उसी फिल्म के बारे में सोच रहे थे। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More Inspirational thought One step towards success

जब वह रविवार को अपने पड़ोस वाले घर में आधी फिल्म देखने गए तो उनके पड़ोसी ने उन्हें देखकर दरवाजा बंद कर लिया। यह देख कर शर्मा के अंदर बहुत कष्ट हुआ बचपन का समय था उन्हें यह समझ नहीं आया वह इस बात से भाव विभोर हो गए कि उन्होंने आधी फिल्म देख रखी थी और आज ही उन्होंने नहीं देख पाया। अपनी आंखों में आंसू लिए अपने घर आ गए। उनके पिता ने उनकी आंखों में आंसू देख कर यह पूछा क्यों रो रहे हो। रजत शर्मा ने सारी बातें बताई। यह सुनकर उनके पिता ने बताया तुम किसी दूसरे के घर किसी तीसरे को देखने जाते हो। अपने जीवन में कुछ ऐसा करो कि तुम TV पर आओ और तुम्हें सारी दुनिया देखे।  (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More Inspirational Story of Arunima Sinha Mountaineer without legs

यह सुनकर रजत शर्मा बहुत प्रभावित हुए उन्होंने अपने जीवन का यह उद्देश्य बना लिया एक न एक दिन वो TV पर जरूर आएंगे और पढ़ाई में दिलोजान से लग गए। अपनी जिंदगी में आने वाले तमाम मुश्किलों का सामना करते हुए रजत शर्मा दिल्ली के प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से अपनी पढ़ाई पूरी की। रजत शर्मा खुद बताते हैं कि अभी के समय में देश के बड़े-बड़े नेता के साथ उस कॉलेज में पढ़ा करते थे। लेकिन घर की हालत सही नहीं होने के कारण यह शर्मा छोटी मोटी नौकरी करके अपनी पढ़ाई पूरी करते गए  अपने पढाई का खर्चा अपने द्वारा किए गए काम सही किया करते थे। एक समय की बात है जब उनके कॉलेज में गर्मियों की छुट्टी हो रही थी। रजत शर्मा अपने गर्मी की छुट्टी में एक छोटे मोटे काम करके अपने जीवन का गुजर बसर करना चाह रहे थे। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी
India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

Read More  Inspirational Story KFC Founder दिल के गहराई में उतर जाने वाली घटना

इसी समय खोज के दौरान अपना कदम मीडिया जगत में रखा। मीडिया जगत का काम रजत शर्मा के लिए बिलकुल अनभिज्ञ था। इस जगत में किसी भी तरह के कार्य को नहीं जानते थे। फिर भी एक छोटे-मोटे काम करने के लिए इस जगत में अपने कदम को रोक दिया। उस समय के चर्चित पत्रकार जनार्दन ठाकुर की मुलाकात रजत शर्मा से हुई। हालांकि उनको अपने ऑफिस में एक छोटे से काम के लिए किसी वर्कर का तलाश था। इसी कारण से उन्होंने रजत शर्मा को अपने पास काम पर रख लिया। रजत शर्मा खुद बताते हैं कि उन्होंने मुझे अपने ऑफिस में रिसर्च के रूप में रखा था। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं है। क्योंकि लौटने पर आपको उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी जितना दूरी तय करने पर आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हो।

3 महीने श्री जनार्दन जी के यहां काम करने के बाद पश्चात रजत शर्मा अपने एम कॉम की पढ़ाई में जुड़ गए। बड़ी मुश्किलों का और बड़ी कठिनाइयों का सामना करते हुए रजत शर्मा ने अपने एम कॉम की पढ़ाई पूरी की 13 मार्च 1992 को रजत शर्मा ने Zee TV को ज्वाइन किया यहां उन्होंने सुभाष चंद्र के साथ मिलकर आप की अदालत शो का संचालन किया। अभी के समय में आप की अदालत ना केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में मशहूर माना जाता है। रजत शर्मा को इस शो के दौरान इतनी अपार सफलता का सम्मान मिला। रजत शर्मा के कदम भारतवर्ष में सफलता के मुकाम को छूने लगे। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More  चौकीदार से ले के सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक और संघर्ष की कहानी

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि इतनी कठिन परेशानी इतनी मुश्किलों का सामना करते हुए भी आज रजत शर्मा इंडिया टीवी के चेयरमैन और चीफ एडिटर भी हैं। एक इंटरव्यू के दौरान रजत शर्मा ने कहा है इंसान की शक्ल पर उसकी सफलता नहीं लिखी होती। हमेशा किसी सफल इंसान का काम ही उसे और हमें उसे सफल बनाता है। अतः किसी भी काम को करने के लिए हमें अपने जीवन में उस काम के प्रति ईमानदार होना अति आवश्यक है। 2004 ईस्वी में उन्होंने अपना खुद का एक न्यूज़ चैनल खोला जिसका नाम उन्होंने इंडिया टीवी चैनल रखा। आज के समय में इंडिया टीवी इतना मशहूर हो चुका है कि ज्यादा देखे जाने वाला न्यूज़ चैनल बन चुका है। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More   Munaf Kapadia google की नौकरी छोड़ के बेचने लगे समोसा

एक समय भूखे पेट सोने वाले रजत शर्मा आज भारतवर्ष के सफल इंसान बन चुके हैं। एक समय दूसरे के घर में TV ना देखे जाने पर रजत शर्मा को इस बात का इतना धक्का लगा कि आज पूरी दुनिया इन्हें TV चैनल पर देखती है। रजत शर्मा के लिए बड़े ही फक्र की बात है। कि आज ना केवल भारतवर्ष में बल्कि पूरी दुनिया में उनके शो आपकी अदालत को बड़े प्यार से देखा जाता है। रजत शर्मा का कहना है कि हमेशा आपके सपने बड़े होने चाहिए। सफलता पाने का कोई शॉर्टकट नहीं होता है। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Read More  Inspirational Story about Alibaba founder 30 बार असफल होने के बाद की सफलता

आपको अपने काम के प्रति ईमानदार होना अति आवश्यक है। अगर आप अपने काम के प्रति ईमानदार है तो सफलता आपको 1 दिन अवश्य मिलेगी। कभी भी आपको अपने भाग के भरोसे नहीं बैठना चाहिए। किसी ने सही कहा है कि भाग्य के भरोसे बैठने वाले को उतना हे मिलता है जितना मेहनत करने वाले छोड़ देते हैं। यह बात सत प्रतिसत सही है कि अपने काम में मेहनत की है तो सफलता उसे अवश्य मिलती है। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

सफलता हमारा परिचय दुनिया से करवाती है। और असफलता हमें दुनिया का परिचय करवाती है।

अगर आप सभी को यह जानकारी पसंद आई हो। तो आप इसे दोस्तों के बीच शेयर अवश्य करें। अगर आपको किसी भी तरह का कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट के जरिए बता सकते हैं। आप किसी भी तरह का मैसेज हमें करना चाहते हैं तो आप हमें Facebook के जरिए मैसेज भी कर सकते हैं। मैसेज करने के लिए आपको हमारी वेबसाइट के होम पेज पर Facebook के जरिए मैसेज करने का विकल्प मिल जाएगा। हम आपके द्वारा किए गए प्रश्नों का अतिशीघ्र जवाब देने का प्रयास करेंगे। (India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी)

Inspirational Story of Sundar Pichai जमीन से आसमान तक का सफर

अगर आप समय पर अपनी गलतियों को स्वीकार नहीं करते हैं तो आप एक और गलती कर बैठते हैं। आप अपनी गलतियों से तभी सीख सकते हैं जब आप अपनी गलतियों को स्वीकार करते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

17 Comments

  1. Pingback: Munaf Kapadia google की नौकरी छोड़ के बेचने लगे समोसा हिंदी में
  2. Pingback: दुनिया से सबसे अमीर इंसान Bill Gates के जीवन में हुए संघर्ष से परिचय | Limant
  3. Pingback: भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी | Limant
  4. Pingback: भारत के महान जासूस रविंद्र कौशिक जिसने पाकिस्तान की सेना तक ज्वाइन कर लिया | Limant
  5. Pingback: क्रिकेट जगत के महान खिलाड़ी सचिन तेन्दुलकर की जीवनी | Limant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us