Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार

Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार

Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार

भारत ही नहीं पूरे विश्व हार्ट अटैक एक गंभीर समस्या बनती जा रही है। तो सबसे पहले आइए हम यह जानते हैं। कि हार्ट अटैक होने का मुख्य कारण क्या है। जैसा कि आप सभी जानते हैं। कि हमारा शरीर एक मशीन की तरह काम करता है। और हमारे शरीर में यदि किसी भी तरह की कोई परेशानी उत्पन्न होने वाली होती है। तो हमारा शरीर उन पर संकेत  देना शुरू कर देता है। आप सभी को यह जानकर बहुत हैरानी होगी कि शरीर में उत्पन्न हो रहे किसी भी तरह के रोग का संकेत हमारे शरीर के द्वारा पहले से दिए जाना संभव हो जाता है। अभी हम सबसे पहले यह जानते हैं। कि हार्ट अटैक होने का मुख्य कारण क्या है। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

How to Control Diabetes Naturally हिंदी में जानकारी

हार्ट अटैक अर्थात दिल का दौरा होने का प्रमुख कारण क्या है। तो आइए सबसे पहले मैं आपको यह बताना चाहता हूं। कि हार्ट अटैक का शुरुआत हमेशा एसिडिटी से ही होती है। अगर आपको एसिडिटी के बारे में विस्तार से पता नहीं है। तो सबसे पहले मैं आपको एसिडिटी के बारे में बताने जा रहा हूं। एसिडिटी मुख्यता दो प्रकार की होती है। एक पेट की एसिडिटी और दूसरी रक्त की एसिडिटी। जब पेट की एसिडिटी बहुत ज्यादा मात्रा में बढ़ जाती है। तो हमारे खून से मिलकर खून को गाढ़ा करने लगता है। जिसे हम रक्त अम्ल  ब्लड एसिडिटी कहते हैं। इस विकार  के दौरान हमारे शरीर के अंदर रक्त गाढ़ा होने लगता है। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

नीम के पत्ती के असाधारण औषधीय गुण हिंदी में जानकारी

खून के गाढ़ा होने के कारण वह हमारे दिल की नालियों  से आसानी से बाहर नहीं निकल पाता है। यही एक प्रमुख कारण है। जिसके कारण एक किसी भी इंसान को दिल का दौरा अर्थात हार्ट अटैक जैसे रोग का सामना अचानक से करना पड़ सकता है। जैसा कि आप सभी जानते हैं। कि जब भी हम किसी डॉक्टर से दिल के दौरा अर्थात हार्ट अटैक के बारे में विस्तार से जानना चाहे तो हमें पूरी जानकारी नहीं दी जाती है। कोई भी रोगी अपनी रोग के कारण को जान ले तो आपने  रोग को आसानी से जड़ से खत्म करने में सफल साबित हो सकता है। अतः हमें सबसे पहले अपने शरीर में उत्पन्न हो रहे रोग के ठीक करने से पहले रोग के कारण का जानना अति आवश्यक है। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

How to Stop Hair Fall Naturally हिंदी में जानकारी

तो चलिए आज मैं आप सभी को दिल का दौरा अर्थात हार्ट अटैक के कारण के बारे में सबसे पहले बताता हूं। जैसा की मैंने आप सभी को ऊपर वाले कुछ पंक्तियों में पहले ही बता रखा है। कि हार्ट अटैक की शुरुआत अर्थात दिल के दौरे की शुरुआत एसिडिटी से ही होती है। तो सबसे पहले आप यह जान लीजिए कि हमारे शरीर में एसिडिटी के कारण कौन कौन सेभोजन करने से होता हैं। जो हमारे शरीर के अंदर रक्त में अम्लता की मात्रा को ज्यादा मात्रा में बढ़ाने लगते हैं। जिसके कारण हमारे शरीर के अंदर या किसी के भी शरीर के अंदर दिल का दौरा होने की संभावना बढ़ जाती है। सबसे पहले हम यह जानले  की ऐसी कौन सी पदार्थ या भोजन है। जिसके खाने से हमारे शरीर के अंदर रक्त की अम्लता बढ़ती है।

अपने शरीर के अंदर हीमोग्लोबिन की कमी को कैसे दूर करे हिंदी में जानकारी

हमारे शरीर में दो प्रकार के तत्व होते हैं। एक आम और दूसरा झाड़ यह दोनों तत्व हमारे शरीर में उपलब्ध होते हैं। शरीर के सभी रोग की शुरूआत अम्ल और छार के असंतुलन होने के कारण होती है। मनुष्य के शरीर के अंदर 80% छार और 20% अम्ल पाए जाते हैं। जब तक एक मनुष्य के अंदर इस अनुपात का नियंत्रण बना होता है। तब तक वह मनुष्य स्वस्थ होता है। इन दोनों के अनुपात में असंतुलन उत्पन्न होती है। मनुष्य के शरीर के अंदर विभिन्न प्रकार के रोग उत्पन्न होने भी शुरू हो जाते हैं। अतः मनुष्य को यह ऐसा कोशिश करना चाहिए कि उनके शरीर का अनुपात हमेशा संतुलन में बना रहे। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

How to Stop Hair Fall Naturally हिंदी में जानकारी

हम जानते हैं। कि ऐसी कौन सी पदार्थ है। जिसके सेवन करने से हमारे शरीर के अंदर अम्ल की मात्रा ज्यादा मात्रा में बढ़ने लगती है। आयोडीन युक्त नमक चाय-कॉफी अंडा मांस तम्बाकू  सफेद शक्कर इन सभी चीजों के खाने से हमारे शरीर के अंदर अम्ल की मात्रा ज्यादा मात्रा में बढ़ने लगती है। अतः एक दिल के मरीज को हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि वह ज्यादा मात्रा में आयोडीन नमक का सेवन ना करें कॉफी चाय के सेवन से दूर रहे। मांस मछली इत्यादि का सेवन कम से कम मात्रा में करें या हो सके तो इनका सेवन बिल्कुल ना करें। इन सभी चीजों के सेवन से हमारे शरीर के अंदर छोटी-छोटी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।

अपने शरीर के अंदर हीमोग्लोबिन की कमी को कैसे दूर करे हिंदी में जानकारी

जैसे कमर में दर्द होना ब्रेन हेमरेज होना शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ना बड़े-बड़े रोग हमारे शरीर में होने के कारण भी इन्हीं सब चीजों के सेवन से हो सकते हैं। सबसे मुख्य समस्या दिल के दौरे अर्थात हार्टअटैक की समस्या भी इन्हीं सब चीजों के सेवन के ज्यादा मात्रा में होने के कारण होता है। इन सभी चीजों के अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से कैंसर तक होने की भी संभावना उत्पन्न हो जाती है। अब मैं आपको यह बताना चाहता हूं। कि यदि आप अपने इन सभी तरह के समस्याओं से दूर होना चाहते हैं। तो आपको अपने खान-पान पर विशेष ध्यान रखना अति आवश्यक है। यदि आप अपने दैनिक दिनचर्या के खानपान की स्थिति को सुधार लेते हैं।

बढ़ते हुए वजन और चर्बी को कैसे कम करे हिंदी में जानकारी

तो यह बात स्पष्ट रूप से साबित हो जाती है। कि आपके शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे समस्या क्या पहले से ग्रसित है। यह दोनों बहुत जल्दी आपस में ठीक हो जाते हैं। और जड़ से खत्म भी हो सकते हैं। आपको अपने भोजन में उन सभी चीजों को बंद करना होगा। जिनके सेवन करने से आपके शरीर के अंदर आमिर की मात्रा बढ़ती जा रही है। जैसे कि आयोडीन युक्त नमक खा रहे हैं। तो आपको आयोडीनयुक्त नमक की जगह पर सेंधा या काला नमक का प्रयोग अपने भोजन में करना चाहिए। आयोडीन युक्त नमक की जगह सेंधा और काला नमक के सेवन से आपके शरीर के अंदर इन सभी तरह के रोगो  को आसानी से सही करने में मदद मिल सकती है।

Thyroid थायराइड क्या है थायराइड से कैसे बचे हिंदी में जानकारी

यदि आप चाय की अधिक मात्रा में सेवन करते हैं। तो यह भी एसिडिटी हमारे शरीर के अंदर बनाती है। अब मैं आपको ऐसे तरीके के बारे में बताने जा रहा हूं। जिससे आपके चाय की तलब कम हो सकती है। यदि आप चाय पिए बिना नहीं रह सकते हैं। दिल के मरीजों के लिए चाय कॉफी इत्यादि का सेवन करना बहुत खतरनाक साबित होता है। इसलिए मेरे द्वारा बताए गए इस उपाय और औषधि के सेवन से आपके चाय की तलब भी कम हो जाएगी।और आप स्वस्थ भी होने लगेंगे। सभी ने अर्जुन के छाल के बारे में अभी सुना होगा। आपको अर्जुन का छाल बाजार में भी आसानी से उपलब्ध हो जाएगा। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

डेंगू क्या है डेंगू के बुखार को कैसे रोके हिंदी में जानकारी

अर्जुन की छाल को खरीद के घर पर ले आए उसे कूट-पीसकर उनका पाउडर बना लें। अर्जुन के छाल के सेवन करने से हमारे शरीर के अंदर ब्लॉकेज को यह बहुत जल्दी सही करने में मदद करता है। अर्जुन के छाल के पाउडर का सेवन आप चाय में डालकर कर सकते हैं। एक गिलास पानी लेकर आप इसमें एक चम्मच अर्जुन के छाल के पाउडर को मिलाएं। और इन्हें तब तक उबालें जब तक इनका मात्रा एक तिहाई ना हो जाए। एक तिहाई माता होने के बाद आपको इनको ठंडा करके सेवन करना है। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

अपने चेहरे से दाग धब्बे पिम्पल्स मुहासे को हटाने के उपाय

इस औषधि के सेवन से आपकी चाय की तलब दिशांत रहेगी और यह आपके शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे दिल के पीड़ाओं को भी शांत रखने में मदद करेगा। रक्त की गाढ़ा होने के कारण दिल के नालियों में उत्पन्न हो रहे ब्लॉकेज को भी अर्जुन की छाल उपयोग करने में बहुत मदद करता है। अर्जुन की छाल से चाय का स्वाद भी आप वास्तविक चाय के स्वाद की तरह ही लगेगा। 15 से 20 दिन तक आपको इसी चाय का सेवन करना है। 15 से 20 दिन लगातार इस चाय के सेवन करने से आपकी चाय की तलब आसानी से छूट जाएगी और आपके दिल के अंदर उत्पन्न हो रहे ब्लॉकेज को भी आसानी से दूर किया जा सकता है।

किडनी के विकार के लक्षण और सुरक्षा के प्राकृतिक उपाय

अर्जुन की छाल से बनी चाय आपके शरीर के अंदर बन रहे एसिडिटी को भी कम करने में बहुत मदद करता है। हार्ट अटैक जैसे गंभीर समस्या में कभी भी बाजार से मिल रहे तेल का उपयोग अपने भोजन में नहीं करना चाहिए। यदि आप अपने घर में रिफाइंड ऑयल का सेवन करते हैं। तो सबसे पहले आपको इसे करना होगा। रिफाइंड ऑयल के सेवन से एक दिल के मरीज के जिंदगी में बहुत तरह की परेशानियां उत्पन्न हो सकती है। सबसे पहले आप कोशिश करें कि अपने घर में रिफाइंड तेल का उपयोग ना करें। आप अपने घर में सरसों का तेल मूंगफली के तेल का सेवन करें इससे दिल के मरीज को किसी भी तरह की कोई परेशानी उत्पन्न नहीं होती है। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

TB अर्थात क्षय रोग के लक्षण अथवा बचाव हिंदी में जानकारी

लेकिन यदि आप रिफाइंड जैसे तेल का उपयोग अपने भोजन में करते हैं। तो यह दिल के मरीज के लिए परेशानी उत्पन्न करने के लिए मदद करती है। अब मैं आपको हार्ट अटैक से बचने के लिए ऐसे नुस्खे के बारे में बताने जा रहा हूं। जो 99% आपके शरीर के अंदर से हार्ट अटैक अर्थात दिल के दौरे की परेशानी को हमेशा हमेशा के लिए दूर कर देगा। आप सभी नेट पीपल के पत्ते का नाम अवश्य सुना होगा पीपल का पेड़ आसानी से हमारे भारत देश में प्राप्त हो जाता है। इस औषधि के सेवन करने के लिए आपको पीपल के पत्ते लेना है।  आपको पीपल के उन्हीं पत्ते को लेना है। जो कोमल हो उनका रंग गुलाबी हो। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

Kidney Stone क्या है Kidney से Kidney Stone को बाहर निकलने के सरल उपाय

पत्ते को लेने के बाद आपको पीपल के इन पत्तों के ऊपर वाले हिस्से और नीचे वाले हिस्से दोनों को काट देना है। इन पत्तों के बीच के भाग को पानी से साफ कर लेना है। अच्छी तरह से पानी से साफ कर लेने के बाद एक गिलास पानी में धीमी आंच पर इन्हें पकाना है। आपको यहां पर एक बात ध्यान देना होगा (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

कैंसर के शुरुआती लक्षण और कैंसर के विकार से बचने के उपाय हिंदी में जानकरी

यदि आप पीपल के पत्ते कि औषधि का निर्माण कर रहे हैं। तो आपको पीपल के पत्ते को ऊपर और नीचे दोनों तरफ से काट लेना है। इसे पानी में अच्छी तरह से धो लेना है। और फिर एक गिलास पानी माप लेना है। और एक गिलास पानी में इसे अच्छी तरह से आग के ऊपर पकाना है। आप इसे तब तक उबलने दें। जब तक इस पानी का एक तिहाई हिस्सा ना बच जाए।

High blood pressure और Low blood pressure के लक्षण संकेत और उपचार

अब आप इसे छान लें और इसे ठंडा होने दें। इस तरह से आपका औषधि तैयार है। अब आपको इसका सेवन करना है। इसके सेवन कैसे करने हैं। आप इस बात को थोड़ा अच्छे से जान लें। पीपल के पत्ते से बने औषधि के सेवन करने के लिए आपको सुबह नाश्ता करने के बाद सेवन करना है। एक बात ध्यान रखिए कभी भी इस औषधि का सेवन आप खाली पेट में ना करें। और इन औषधि के सेवन करने के बीच में कम से कम 3 घंटे का अंतराल अवश्य रखें। जैसे कि अगर यदि पहली बार आप इसका सेवन सुबह 8:00 कर रहे हैं। तो अगली बार इसका सेवन आपको 11:00 बजे करना है। आपको इसका सेवन 2:00 बजे करना है। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

Piles अर्थात बवासीर के शुरुवाती संकेत लक्षण और उपचार

अतः आप हमेशा इस औषधि के सेवन करने में कम से कम 3 घंटे का अंतराल अवश्य रखें। यह एक ऐसा औषधि है। जो आपके शरीर के अंदर से हमेशा के लिए दिल के दौरे अर्थात हाथ-पैर की परेशानी को दूर कर देगा। सुनने में बड़ा सामान्य लगता है। लेकिन प्राकृतिक औषधि का एक नायाब तोहफा है। जो हमारे शरीर के अंदर हो रहे हमको बड़े आसानी से दूर करने में हमारी मदद करता है। आप सभी को एक बात और यहां पर ध्यान रखनी होगी यदि आप इन तरह की औषधियों का सेवन कर रहे हैं। तो आप मछली अंडे शराब धूम्रपान इत्यादि का सेवन बिल्कुल ना करें यह बिल्कुल बंद कर दें आयोडीन नमक का उपयोग बिल्कुल बंद कर दें। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

आंवला के गुण और आंवला के उपयोग से रोगों का उपचार हिंदी में जानकारी

बॉलीवुड जानते हैं। कि ऐसे समय में आप किन किन चीजों का सेवन कर सकते हैं। आप अनार पपीता आंवला बथुआ लहसुन मैथी दाना सेब रात में भिगोए हुए चने किशमिश दूध दही छाछ आदि का सेवन कर सकते हैं। इन सभी तरह के करने से आपको किसी भी तरह की कोई परेशानी उत्पन्न नहीं होगी। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

Arthritis गठिया रोग के लक्षण और इसके बचाव से उपचार की जानकारियां

यदि आप हमारे द्वारा प्रदान की गई Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार की जानकारी से संतुष्ट हैं। तो इसे शेयर अवश्य कर दें। ताकि उन सभी जरूरतमंद लोगों को यह जानकारी मिल जाए। कि Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार को घरेलु नुस्खे से कंट्रोल किया जा सकता है। अभी के समय में बहुत सारे ऐसे मरीज है। जो Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से परेशान होके इधर उधर भटकते रहते हैं। और उन्हें सही उपचार सही समय पर नहीं मिल पाता है। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

फाइलेरिया हाथीपाँव क्या है फाइलेरिया रोग के लक्षण और उपचार कैसे करे

आपके शेयर करने से उन सभी को महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाएगी। जिससे उन्हें अपने Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार के लिए घरेलू नुस्खे का इस्तेमाल आसानी से कर सकते हैं। यदि आपको इस जानकारी के संबंध में कुछ पूछना हो या आप कमेंट के जरिए कुछ बताना चाहते हैं। तो इस पोस्ट के नीचे दिए गए विकल्प में आप कमेंट करके हमसे किसी भी तरह के जानकारी का आदान प्रदान कर सकते हैं। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

Snake Poison First Treatment सांप के विष का उपचार Limant Post

यदि आप हमें मैसेज करना चाहते हैं। तो आपको इस वेबसाइट के होमपेज पे जाना है। होमपेज पे जाने के बाद आपको फेसबुक के जरिये मैसेज करने के लिए आपको विकल्प आसानी से मिल जाएगा। हम आपके द्वारा किए गए प्रश्न और किए गए कमेंट का जल्द से जल्द जवाब देने की कोशिश करेंगे।

How to increase height लम्बाई कैसे बढ़ाए हिंदी में जानकारी

यदि आप Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार के बारे में कोई अन्य जानकारी रखते हैं। और हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं। आप चाहते हैं। कि आप की जानकारी हमारे वेबसाइट पर दिखाई जाए। तो आप हमें कमेंट अपना ईमेल के जरिए बता सकते हैं। आपके द्वारा दी गई जानकारी यदि सही होगी। तो हम उसे आपके नाम के साथ वेबसाइट पर अपलोड कर देंगे। (Heart Attack यानी दिल का दौरा आने से पहले के संकेत और उपचार)

Asthma अर्थात दमा के विकार के उपचार की हिंदी में जानकारी

17 Comments

  1. Thank you for some other informative blog. The place else may I get that type of info written in such an ideal manner? I have a mission that I am just now working on, and I have been on the glance out for such information.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *