Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार

Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार

Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार

कोलेस्ट्रॉल की समस्या अभी के समय में सबसे ज्यादा रोग को बढ़ाने वाले श्रेणी में आ चुका है। एक स्वस्थ इंसान को अनेको रोगो का सामना केबल कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के कारण हो सकता है। आजकल के समय में कोलेस्ट्रॉल सबसे तीव्र गति से फैलने वाली बीमारी मानी जा रही है। भारत सरकार के द्वारा किए गए सर्वेक्षण के अनुसार भारत की लगभग 70 से 80% लोगों को कोलेस्ट्रॉल की समस्या प्रभावित करती जा रही है। कोलेस्ट्रॉल की समस्या केवल गलत खानपान के कारण होती है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग कई तरह के ऐसे खानपान पर निर्भर हो गए हैं। कि उनके शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल की समस्या बड़ी तीव्र गति से प्रभावित करती जा रही है। आज हम सभी कोलेस्ट्रॉल के इसी सब तरह के समस्या के बारे में विस्तार से जानेंगे। आज हम जानेंगे कि कोलेस्ट्रॉल की समस्या क्या है। हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का मुख्य कारण क्या है। कैसे हम अपने शरीर के अंदर बड़ी कोलेस्ट्रॉल को जड़ से खत्म करने में सफल साबित हो सकते हैं। आप सभी ने मोमबत्ती को अवश्य देखा होगा। हमारे शरीर के अंदर भी कोलेस्ट्रॉल मोमबत्ती की तरह चिकना पदार्थ होता है। मुख्य रूप से हमारे शरीर के अंदर कैलेस्ट्रोल हमारे शरीर के अंदर उपस्थित लीवर से आता है।

लेकिन हमारे शरीर के अंदर उपस्थित सभी कोलेस्ट्रॉल का 70 % भाग ही हमारे लिवर द्वारा प्राप्त किया जाता है। बाकी के 30% कॉलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के अंदर हमारे द्वारा किए गए भोजन से आता है। कोलेस्ट्रोल का मुख्य काम हमारे शरीर के अंदर कोशिकाओं के निर्माण में होता है। कॉलेस्ट्रोल हमारे शरीर के अंदर नए-नए कोशिकाओं के निर्माण करने में अपना महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साथ ही साथ कॉलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के कोशिकाओं की मदद से सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी  के ग्रहण करने में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यदि सही मायने में देखा जाए तो हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल की उपस्थिति भी उतनी ही आवश्यक है जितना कि किसी इंसान के शरीर में रक्त की आवश्यकता होती है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

अर्थात हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रोल की उपस्थिति भी बहुत महत्वपूर्ण मानी जाती है। मुख्यता हमारे शरीर के अंदर तीन प्रकार के कॉलेस्ट्रॉल पाए जाते हैं। ज्यादातर लोग कैलेस्ट्रोल के दो प्रकार के बारे में ही जानते हैं। 3 प्रकार के कैलेस्ट्रोल में सबसे पहले नंबर पर आता है LDL जिसे हम लोग डेंसिटी लिपोप्रोटीन के नाम से भी जानते हैं। LDL कैलेस्ट्रोल में हमारे शरीर के अंदर ब्लॉकेज की समस्या ज्यादा उत्पन्न हो जाती है। इसी कारण से हार्ट अटैक स्ट्रोक दिल के दौरे जैसे समस्याओं को उत्पन्न होने लगती  है। जब LDL कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में बढ़ जाता है तो यह हमारे शरीर के अंदर प्रवाहित रक्त के ऊपर एक दीवार बना देता है।

जिस कारण से हमारे शरीर के अंदर प्रवाहित रक्त का बहाव धीरे-धीरे कम होने लगता है। और धीरे-धीरे रक्त के प्रवाह की गति कम होते होते बिल्कुल रुक सी जाती है। जब शरीर के अंदर रक्त की प्रवाह बिल्कुल रुक जाती है तो यह हमारे शरीर के अंदर दिल के दौरे जैसे गंभीर समस्या को उत्पन्न कर देता है। इसी कारण से LDL को सबसे ज्यादा खतरनाक कैलेस्ट्रोल माना जाता है। तो आइए हम जानते हैं कि किस तरह के भोजन के सेवन करने से यह कैलेस्ट्रोल हमारे शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में फैलने लगता है। किसी भी तरह के मांस के ज्यादा मात्रा में सेवन करने से कैलेस्ट्रोल हमारे शरीर को ज्यादा प्रभावित करती है। बकरी का मांस मुर्गे का मांस गाय का मांस भैंसे का मांस सूअर का मांस इन सभी तरह के मांस के अधिक मात्रा में सेवन करने से यह सब हमारे शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में बढ़ने लगता है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

साथ ही साथ यदि हम अपने भोजन में रिफाइंड के मात्रा का ज्यादा सेवन करते हैं। तो रिफाइंड के मात्रा के ज्यादा सेवन करने से भी हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने में ज्यादा सहायता मिलती है। इसके अलावा यदि हम अपने भोजन में ज्यादा मात्रा में मैदे का सेवन करते हैं। तो इससे भी हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने लगती है। अपने भोजन में ज्यादा मात्रा में बटर का सेवन करते हैं। तो इन सभी के सेवन करने से भी हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है। डालडा  के अधिक मात्रा में सेवन करने से भी हमारे शरीर के अंदर LDL नामक कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने लगती है। यदि कोई व्यक्ति ज्यादा मात्रा में सिगरेट और शराब का सेवन करता है।

तो उनके शरीर में भी कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो जाती है। अब हम जानते हैं कि कैलेस्ट्रोल के दूसरे कैलेस्ट्रोल का नाम क्या है। दूसरे नंबर पर जो कैलेस्ट्रोल आता है उसका नाम है HDL। जिसे हम हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन के नाम से भी जानते हैं। इस कोलेस्ट्रॉल का हमारे शरीर के अंदर उपस्थित रहना अति आवश्यक है। यह कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के अंदर उपस्थित LDL कोलेस्ट्रॉल यानी कि खराब तरह के कैलेस्ट्रोल को खत्म करने में काफी कारगर साबित होता है। हमारे शरीर के अंदर उपस्थित खराब कैलेस्ट्रोल को यह शरीर से अलग करके उसे खत्म करने में मदद करता है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

जो हमारे शरीर के अंदर गलत खानपान के कारण हमारे शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल ज्यादा मात्रा में जमा होने लगता है। HDL  हमारे शरीर के अंदर उपस्थित इन सभी तरह के हानिकारक कैलेस्ट्रोल को खत्म करने में मदद करता है। यदि हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है। तो यह डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारी को भी हमारे शरीर के अंदर उत्पन्न कर देती है। ज्यादा मात्रा में शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल के बढ़ जाने से यह हमारे शरीर के अंदर मधुमेह यानी चीनी की बीमारी को भी जन्म देने में सफल साबित हो जाती है। कैलेस्ट्रोल एक ऐसी गंभीर समस्या है। जिसके कारण शरीर के अंदर कई तरह की अन्य बीमारियां भी उत्पन्न होने लगती है। अगर सही मायने में देखा जाए तो कैलेस्ट्रोल ही हमारे शरीर के अंदर 80% रोगो  का जनक माना जाता है।

तो आइए हम जानते हैं कि यदि हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा बढ़ चुकी है। तो कैसे हम इस बात का अनुमान लगा सकते हैं। कि हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा बढ़ चुकी है। अचानक से सीने में दर्द होना कैलेस्ट्रोल के बढ़ने का संकेत माना जाता है। यदि हमारे शरीर के अंदर रक्त की कमी हो जाती है। तो ऐसी स्थिति में दिल अच्छी तरह से काम नहीं कर पाता है। और ऐसे में जब भी हम कठिन परिश्रम वाला कोई भी कार्य को संपन्न करते हैं। तो हमारे दिल में अर्थात सीने में दर्द होना शुरू हो जाता है। यदि किसी भी इंसान के शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल ज्यादा मात्रा में बढ़ चुकी है। तो ऐसे में उस इंसान की किडनी गुर्दों में सूजन का आ जाना भी आम बात सी हो जाती है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के कारण किडनी में सूजन भी होने लगते हैं। पैरों के तलवों में पानी का लगातार आना उच्च रक्तचाप होना किडनी का खराब होना और पेशाब में जलन जैसी गंभीर लक्षण कैलेस्ट्रोल के हमारे शरीर में ज्यादा बढ़ जाने का संकेत माना जाता है। कभी-कभी कैलेस्ट्रोल के ज्यादा मात्रा के बढ़ जाने के कारण हमारे पेट में दर्द होना भी शुरू हो जाता है। यदि रक्त का प्रवाह हमारे पेट के अंदर सही ढंग से नहीं हो पाता है। तो यह हमारे नाभि के ऊपर वाले हिस्से में दर्द करना शुरू कर देता है। यदि किसी इंसान के शरीर के अंदर ब्लॉकेज पूरी तरह से आ चुकी है। तो ऐसे में इंसान को खाना खाने के 1 घंटे बाद अचानक से पेट में दर्द होना आम बात हो जाती है। इन सभी तरह के लक्षण हमारे शरीर के अंदर बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को दर्शाती है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में कोलेस्ट्रॉल के बढ़ जाने के कारण पेट में पथरी हो जाना भी आम बात हो जाता है। आजकल पित्त में पथरी होना बहुत ही गंभीर समस्या बनती जा रही है। लेकिन यह जानकर आप लोगों को बहुत आश्चर्य हुआ कि पित्त में पथरी बनने के पीछे भी हमारे शरीर के अंदर बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल का ही हाथ होता है। यदि हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल ज्यादा मात्रा में बढ़ रही है। तो बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के कारण हमारे पथरी में पत्थर हो जाना आम बात हो जाती है। तो आइए हम जानते हैं कि आप अपने शरीर के अंदर जमा हुए कोलेस्ट्रॉल को कैसे कम कर सकते हैं। जैसा कि मैंने आप सभी को पहले भी बताया है। कि आजकल के समय में भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने खानपान का सही ढंग से ख्याल नहीं रख पाते हैं। और हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का मुख्य कारण हमारे द्वारा किये गए खानपान पर ही निर्भर करता है।

ज्यादातर लोग अपनी भागदौड़ भरी जिंदगी में बाहर के खाने पर निर्भर हो गए हैं। इस कारण से भी हमारे शरीर के अंदर कैलेस्ट्रोल बहुत ही अधिक मात्रा में बढ़ने लगता है। तो आइए हम जानते हैं कि हमारे शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को हम अपने घरेलू नुस्खों के साथ कैसे जड़ से हमेशा के लिए खत्म कर सकते हैं। सबसे पहले नुस्खे के बारे में जानने से पहले मैं आप सभी को बताना चाहूंगा कि आप सभी लोगों ने मेथी का नाम अवश्य सुना होगा। मेथी एक ऐसा पदार्थ जो हमारे घर के रसोई में आसानी से प्राप्त हो जाता है। ऐसे तो हमारे भोजन के दिनचर्या में प्रतिदिन हमारे रसोई में इसका उपयोग किया जाता है। लेकिन आप लोगों को यह जानकर बड़ा आश्चर्य हुआ कि मेथी में ऐसे गुण मौजूद हैं। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

जो हमारे शरीर के अंदर से कोलेस्ट्रॉल को पूरी तरह से खत्म करने में सफल साबित होता है। तो आइए हम जानते हैं। मेथी के उपयोग से हम अपने शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कैसे कम कर सकते हैं। मेथी का उपयोग करने से पहले आप सभी को मेथी को रात भर एक गिलास पानी में एक चम्मच मेथी को फूलने के लिए छोड़ देना है। ध्यान रखें कि कभी भी तुरंत रखे हुए मेथी के पानी अथवा मेथी का सेवन ना करें। क्योंकि रात भर पानी में घुलने के बाद मेथी के अंदर मौजूद गुण पानी में घुल जाता है। हमें एक चम्मच मेथी के दाने को एक गिलास पानी में रात भर घुलने के लिए छोड़ देना है।

सुबह उठकर हमें इस पानी का सेवन करना है। और फूले हुए मेथी को चबा चबा कर खा जाना है। यदि आप इस नुस्खे का उपयोग प्रतिदिन करते हैं। तो आपके शरीर के अंदर बने हुए कोलेस्ट्रॉल बहुत जल्द से जल्द काबू में आने लगता है। जैसा की आप सभी को पता है कि मेथी एक प्राकृतिक पदार्थ है। अतः इसके सेवन करने से आपको किसी भी तरह के साइड इफेक्ट का सामना नहीं करना पड़ेगा। यदि आप अपने शरीर के अंदर बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए बाजारू अर्थात रासायनिक दवाइयों का सेवन करते हैं। तो आपको इसके सेवन बंद करना होगा। क्योंकि बाजार में मिल रहे रासायनिक दवाइयों के सेवन करने से आपके शरीर के अंदर कई अन्य तरह के दुष्प्रभाव नजर आने लगते हैं। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

अतः आप कोशिश करें कि अपने शरीर के अंदर हुए रोग का निवारण आयुर्वेदिक अथवा प्राकृतिक प्राकृतिक पदार्थों के साथ ही करें। मेथी के अंदर इतने सारे गुण मौजूद हैं। जिससे ना केवल यह आपके शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल को ही कम करेगा। बल्कि इसके सेवन करने से आपके शरीर के अंदर अन्य लोगों को भी सुधार करने में काफी कारगर साबित होता है। यदि कोई बढ़े हुए ब्लड प्रेशर से परेशान है। तो यह मेथी का दाना आप के बढ़े हुए ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है। उक्त उच्च रक्तचाप को भी संयमित करने में मेथी बहुत अहम भूमिका निभाती है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

यदि किसी इंसान के शरीर के अंदर चीनी अर्थात मधुमेह की जैसी गंभीर समस्या उत्पन्न हो रही है। तो मेथी के सेवन करने से शरीर के अंदर उत्पन्न मधुमेह के रोग को भी काबू किया जा सकता है। आइए हम जानते हैं कि कैसे आप घरेलू नुस्खे के दूसरे उपयोग से अपने शरीर के अंदर बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं। आप सभी लोगों ने कद्दू का नाम अवश्य सुना होगा। कद्दू एक ऐसा फल है। जो हमारे शरीर के अंदर बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को बहुत हद तक कम करने में सफल साबित होता है। कद्दू हमारे रोजमर्रा के जीवन में उपयोग किए जाने वाला फल और सब्जी दोनों तरह से उपयोग किया जाता है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

कद्दू के अंदर ऐसे गुण मौजूद हैं। जो हमारे शरीर के अंदर उच्च रक्तचाप हाई ब्लड प्रेशर लो ब्लड प्रेशर मधुमेह गैस्टिक पथरी की समस्याओं का भी समाधान बड़े आसानी से कर देता है। कद्दू के उपयोग करने के लिए आपको ताजे कद्दू का जूस का निर्माण करना पड़ेगा। ताजे कद्दू के जूस के उपयोग से आप हमेशा के लिए अपने शरीर के अंदर से बढ़ रहे कैलेस्ट्रोल से छुटकारा पा सकते हैं। इसको ज्यादा स्वादिष्ट बनाने के लिए आप इसमें तुलसी के पत्ता काला नमक और सेंधा नमक का भी उपयोग कर सकते हैं। कद्दू के जूस के सेवन करने से शरीर के अंदर हुए गाढ़ा रक्त को पतला करने में बहुत ज्यादा मदद मिलता है। शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में कोलेस्ट्रॉल के बढ़ जाने के कारण हमारे रक्त बहुत ज्यादा गाढ़ा हो जाते हैं। जिस कारण से हाई ब्लड प्रेशर ब्लड प्रेशर जैसी कई सारी समस्याएं हमारे शरीर के अंदर उत्पन्न हो जाती है। यदि हम कद्दू के जूस का सेवन प्रतिदिन करते हैं। तो यह हमारे शरीर के अंदर हुए गाढ़ा रक्त को पतला करने में काफी मदद करता है। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

आइए हम अगले नुस्खे के बारे में जानते हैं लहसुन का नाम आप लोगों ने अवश्य सुना होगा। लहसुन के अंदर बहुत सारे ऐसे रोगनिरोधी गुण मौजूद हैं। जो हमारे शरीर के अंदर ना केवल कोलेस्ट्रॉल की समस्या को दूर कर सकता है। बल्कि यह कई अन्य समस्याओं को भी हमारे शरीर के अंदर से हमेशा के लिए दूर कर सकता है। लहसुन के अंदर ऐसे गुण मौजूद हैं जो कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों में भी हमारा उपचार करने के लिए कारगर साबित होता है। लहसुन के सेवन से हम अपने शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल दिल के दौरे जैसी गंभीर समस्या को हमेशा के लिए खत्म कर सकते हैं।

यदि आपको हमारे द्वारा दिए गए कैलेस्ट्रोल के समस्या के समाधान के बारे में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने परिवार और दोस्तों के बीच अवश्य शेयर कर दें। ताकि हमारे द्वारा दी गई जानकारी से उन सभी जरूरतमंदों का उपचार हो सके जो कैलेस्ट्रोल जैसी समस्या से परेशान हो रहे हैं। यदि आपको कैलेस्ट्रोल के इस जानकारी के संबंध में कुछ पूछना हो या कुछ बताना चाहते हो तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं। कमेंट करने का विकल्प आपको इस पोस्ट के नीचे आसानी से प्राप्त हो जाएगा यदि आप हम से किसी खास मुद्दे पर बातचीत करना चाहते हैं। (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

तो आप हमें कमेंट करके ईमेल करके और मैसेज करके बता सकते हैं। यदि आप कैलेस्ट्रोल को कम करने के किसी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी को रखते हैं। तो आप हमारे साथ शेयर कर सकते हैं। यदि आपके द्वारा दी गई जानकारी सत्य साबित होती है तो हम आपके द्वारा दी गई जानकारी को अपने वेबसाइट पर आपके नाम के साथ संलग्न करेंगे। यदि आप हमारे साथ मैसेज के जरिए बात करना चाहते हैं। तो आप हमारे वेबसाइट के होम पेज पर जाकर WhatsApp के जरिए बात भी कर सकते हैं (Cholesterol कोलेस्ट्रॉल के शुरुआती लक्षण कारण और उपचार)

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

  1. Pingback: गठिया रोग के शुरुआती लक्षण और इसके उपचार के उपाय | Limant
  2. Pingback: Paralysis लकवा पक्षाघात के लक्षण कारण और उपचार | Limant
  3. Pingback: बहरापन कान से जुड़ी समस्याओं के कारण लक्षण और उपचार | Limant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us