Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी

Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी

Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी

आज मैं बात करने जा रहा हूं। अमेरिका के सबसे लोकप्रिय राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के बारे में मुझे ज्ञात है। कि आज दुनिया के ऐसे कोई भी देश नहीं है। जो अमेरिका के इस इंसान के बारे में नहीं जनता हो। आज के समय में सभी अब्राहम लिंकन को अपना आदर्श मानते हैं। अब्राहम लिंकन ऐसे ही आदर्श नहीं बन चुके हैं। उन्होंने अपने जीवन में कुछ ऐसे काम किए कुछ ऐसे लक्ष्य प्राप्ति की जिसके कारण आज पूरी दुनिया उसे अपना आदर्श समझती है। अब्राहम लिंकन ने दास प्रथा को समाप्त करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था। अमेरिका ही नहीं पूरी दुनिया से अब्राहम लिंकन ने दास प्रथा को सामाप्त किया। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

Inspirational think Success is the best Revenge अपमान का जबाब सफलता से

लेकिन इनके लिए यह कर पाना किसी मुश्किल काम से कम नहीं था। शायद आप लोगों ने अब्राहम लिंकन के बारे में अवश्य सुना होगा। लेकिन इनके जीवन की सच्चाई के उस पहलुओं पर आज हम विस्तार से चर्चा करेंगे। जिनके बारे में आज पूरी दुनिया अनजान हैं। अब्राहम लिंकन का बचपन इतनी गरीबी में बीता था। कि उन्हें रहने के लिए दर-दर भटकना पड़ता था। अब्राहम लिंकन के सर छुपाने के लिए एक घर तक नसीब नहीं होता था। अब्राहम लिंकन के पिता इतने गरीब थे। कि वह अब्राहम लिंकन को स्कूल भेजने और उन्हें अच्छी शिक्षा देने में असमर्थ थे। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

Inspirational thought One step towards success

लेकिन कहां जाता है। जब हम किसी लक्ष्य की प्राप्ति की ओर अपना पूरा दृढ़ संकल्प बना लेते हैं। तो हमें उस लक्ष्य की प्राप्ति करने से हमें कोई नहीं रोक पाता है। ऐसा ही कुछ काम अब्राहम लिंकन ने अपने बचपन के समय में ही किया। पढ़ाई में अच्छी रुचि होने के कारण उन्होंने पढ़ाई प्रारंभ कर दिया। और दूसरों से मांगी हुई किताबों से अपना पढ़ाई जारी रखा। अपने पेट पालने के लिए और अपने परिवार की खराब स्थिति को देखते हुए अब्राहम लिंकन ने बचपन से ही मजदूरी का काम करना सुरु कर दिया था। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

Inspirational Story of Arunima Sinha Mountaineer without legs

लेकिन सबसे दुख भरा समय अब्राहम लिंकन के पास तब आया जब 9 साल की उम्र में ही इन्होंने अपनी मां को खो दिया। जब अब्राहम लिंकन की आयु मात्र 9 साल की थी। तब इनके माता की मृत्यु हो गई थी। अब्राहम लिंकन 9 साल की उम्र में उन्होंने अपने मां को खो दिया। जिस लड़की से प्यार करते थे। और जिस से शादी करना चाहते थे। उसकी मृत्यु हो गई। इसी कारण से अब्राहम लिंकन ने खुद को चाकू या कोई और धारधार हथियार से खुद को दूर रखना सुरु कर दिया था। अब्राहम लिंकन ऐसा सोचते थे की कही वो खुद की जान न ले ले। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

Inspirational Story KFC Founder दिल के गहराई में उतर जाने वाली घटना

किसी ने सही कहा है कि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।इस बात को अब्राहम लिंकन ने अपने जीवन में साबित कर दिया। अपने जीवन में कठिन संघर्ष और परिश्रम करते हुए वह अमेरिका की 16 वे राष्ट्रपति बने। यह सफर अब्राहम लिंकन के लिए साधारण नहीं था। बचपन में दर बदर भटकने वाला इंसान अमेरिका का राष्ट्रपति बने। यह वाकई में काबिले तारीफ था। और इस सफर को अब्राहम लिंकन अपने जीवन में बहुत सारे संघर्ष और कठिन परिश्रम किया। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

चौकीदार से ले के सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक और संघर्ष की कहानी

अब्राहम लिंकन का जन्म 12 फरवरी 1809 को अमेरिका में हुआ था। अब्राहम लिंकन के पिता का नाम थॉमस लिंकन था। और अब्राहम लिंकन के माता का नाम नैंसी लिंकन था। शुरुआती दौर से अब्राहम लिंकन का परिवार बहुत ही गरीब परिस्थितियों से गुजर रहा था। अब्राहम लिंकन के पुरे परिवार को अपना सर छुपाने के लिए दर-दर भटकना पड़ता था। अब्राहम लिंकन की एक बड़ी बहन भी थी। जिसका नाम सारा था। अब्राहम लिंकन के माता-पिता को एक और पुत्र की प्राप्ति हुए थी। लेकिन बचपन में किसी गंभीर बीमारी की समस्या के कारन उसकी मृत्यु हो गई थी।

Munaf Kapadia google की नौकरी छोड़ के बेचने लगे समोसा

अब्राहम लिंकन का परिवार अपने ही द्वारा बनाए गए एक लकड़ी के मकान में रहते थे। अब्राहम लिंकन के पिता के पास कोई भी नौकरी नहीं थी। जिससे वह अपने परिवार का भरण पोषण कर सकें। थॉमस लिंकन पूरी तरह खेती पर निर्भर थे। अब्राहम लिंकन के पास कोई अपना खेत भी नहीं था। जिस पर वह खेती कर सके। जब अब्राहम लिंकन का जन्म हुआ तो इनका परिवार जिस जगह पर रह रहा था। उसी जगह पर जमीन के विवाद की वजह से अब्राहम लिंकन के पूरे परिवार को वह जगह छोड़ना पड़ा। इसके बाद 1811 ईसवी को 15 किलोमीटर की दूरी पर फिर से अपना ठिकाना बना लिया। और यहां पर उन्होंने फिर से अपने द्वारा बनाए गए एक लकड़ी के मकान में रहना शुरू कर दिया। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

Inspirational Story about Alibaba founder 30 बार असफल होने के बाद की सफलता

और आसपास के सभी जगह पर खेती करना शुरू कर दिया। लेकिन किस्मत इस तरह से खराब थी। कि यहां पर भी उन्हें जमीनी विवाद झेलना पड़ा। और अन्तोगत्वा  इन्हें फिर से यह जगह छोड़कर आगे जाना पड़ा। जैसा की मैंने आप सभी को पहले भी बताया है। अब्राहम लिंकन के पास अपना जमीन नहीं था। जहां पर यह अपना ठिकाना बना सके इसी कारण से इन्हें दर-ब-दर भटकना पड़ रहा था। 1816  ईस्वी में लिंकन के पूरे परिवार इंडियाना नदी के किनारे आकर बस गए। यहां घने जंगल होने के कारण इन्हें किसी भी तरह के जमीनी विवाद का सामना नहीं करना पड़ा। और आसपास के जंगलों को फिर से खेती की तरह उपजाऊ बनाकर उस पर खेती करना शुरू कर दिए।

Inspirational Story of Sundar Pichai जमीन से आसमान तक का सफर

कहा जाता है कि आज भी इस जगह पर लिंकन के परिवार का स्मारक सुरक्षा सुरक्षित रखा गया है। 6 साल की आयु में अब्राहम लिंकन को स्कूल में दाखिला दिलाया गया। लेकिन परिवार की स्थिति सही ना होने के कारण इन्हें अपने पिता को खेती में हाथ बटाना पड़ता था। परिवार की आर्थिक स्थिति सही नहीं होने के कारण अब्राहम लिंकन के पिता भी नहीं चाहते थे। कि अब्राहम लिंकन पढ़ाई लिखाई करें। वह हमेशा से चाहते थे। कि अब्राहम लिंकन खेती में हाथ बटाएं और आर्थिक स्थिति को सुधारने में मदद करें। अब्राहम लिंकन को बचपन से ही पढ़ने का बहुत ज्यादा शौक था। यह हमेशा दूसरों की किताब लेकर पढ़ाई करते रहते थे। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

Inspirational story of Rajnikant बस कंडक्टर से सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक कहानी

अब्राहम लिंकन के जीवन में सबसे दुखद समय तब आया जब 9 साल की उम्र में ही मां की मृत्यु हो गई। अपने घर का पूरा भर इनके ऊपर आ पड़ा। जब अब्राहम लिंकन की आयु 11 वर्ष की थी। तो इनके पिता थॉमस लिंकन ने अपने परिवार की हालत सही ना देखते हुए एक महिला से शादी कर ली। जिसका नाम सारा जॉनसन था। सारा जॉनसन के पास पहले ही से 3 बच्चे थे। लेकिन अब्राहम लिंकन के सौतेली मां होने के बाद भी सारा जॉनसन ने कभी अब्राहम लिंकन को सौतेली मां वाला प्यार नहीं दिया। वह हमेशा से अब्राहम लिंकन को अपनी मां से ज्यादा प्यार किया।

Inspirational Story about Elon musk

अब्राहम लिंकन को कभी भी अपनी मां की कमी महसूस नहीं होने दिया। यही एक कारण था कि अपनी सौतेली मां से बहुत ज्यादा लगाव रखते थे। जब अब्राहम लिंकन अमेरिका के 16 राष्ट्रपति बने तो उन्होंने कहा कि उनके कामयाबी का सारा श्रेय उनकी माँ को जाता है। जिन्होंने अपने कठिन परिश्रम और लगन से उन्हें इस काबिल बनाया। अब्राहम लिंकन के पिता अब्राहम लिंकन के साथ बहुत बुरा व्यवहार रखते थे। वह कभी नहीं चाहते थे। कि अब्राहम लिंकन पढ़ाई-लिखाई करें। इसी कारण से बचपन में ही अब्राहम लिंकन ने खुद नाव बनाया और अपने नाव की मदद से माल ढोने का काम शुरू कर दिया। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार

साथ ही साथ खेतों में मजदूरी करते थे। और अपने परिवार की आर्थिक स्थिति सुधारने में अपने पिता और माता की मदद किया करते थे। अपने कठिन मेहनत और परिश्रम के कारण बिना किसी कॉलेज की सहायता से ही अब्राहम लिंकन ने लॉ की पढ़ाई शुरू कर दी। एक बार अब्राहम लिंकन नदी पे माल धोने का काम कर रहे थे। तभी अब्राहम लिंकन को पता चला की नदी के दूसरी तरफ एक जज रहते है। जिनके पास बहुत साडी पुस्तके है। जब अब्राहम लिंकन को यह पता चला तो उन्होंने वह जाने का सोचा और उनसे पुस्तक पढ़ने की आज्ञा प्राप्त करने का सोचा। लेकिन जब अब्राहम लिंकन नदी के दूसरी तरफ जा रहे थे। तो नदी के बिच में ही  उनकी नाव टूट गई और नाव में पानी भरने के कारण नाव पानी में डूब गया। लेकिन अब्राहम लिंकन ने हार नहीं मानी। इतने ठंडे पानी में उन्होंने डुबकी लगाकर नदी को पार किया

भारत देश के महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की जीवनी

और उस जज के पास पहुंच गए। जब वह जज के पास पहुंचे तो जज ने भी इनके सहस और संकल्प को देख कर बड़ी खुशी जाहिर की। और इन्हें अपने पास रखी सभी पुस्तकों को पढ़ने का इजाजत दे दिया। लेकिन जज अपने पूरे परिवार में अकेले रहते थे। इसी कारण से उन्होंने अब्राहम लिंकन को अपने घर में काम करने के लिए भी कहा। अब्राहम लिंकन ने इस काम को खुशी-खुशी स्वीकार किया। और वह जज के यहां काम करने लगे। जब भी उन्हें मौका मिलता था। वह जज के यहां रखे पुस्तकों को पढ़ा करते थे। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

इस तरह से धीरे-धीरे पढ़ाई करने के कुछ समय बाद अब्राहम लिंकन अपने ही गांव में पोस्ट मास्टर की नौकरी कर लिया। पोस्ट मास्टर की नौकरी करने के बाद अब्राहम लिंकन को अपने गांव में अच्छा सम्मान मिलने लगा। लोग इन्हें जानने लगे। जब अब्राहम लिंकन अपने गांव के स्थानीय लोगों की परेशानी देखते थे। तो उन्हें बहुत दुखी होता था। अब्राहम लिंकन शुरुआती दौर से ही दूसरों के दुख में दुखी हो जाते थे। इसी कारण से अब्राहम लिंकन अब राजनीति में घुसने का मन बना लिया था। राजनीति में कदम रखने का सोचा तो उस समय अमेरिका में नहीं पूरे विश्व में दास प्रथा बड़े जोर शोर से चरम सीमा पर चल रही थी।

छत्रपती शिवाजी महाराज के जीवन की संघर्ष से विजेता का सम्पूर्ण कथा

अब्राहम लिंकन ने राजनीति में प्रवेश किया। और विधायक का चुनाव लड़ा। लेकिन उन्हें इस चुनाव में बहुत बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा। दूसरी तरफ विधायक में चुनाव लड़ने के कारण इन्हें पोस्ट मास्टर की नौकरी ही छोड़नी पड़ी थी। इसी कारण से इनके आर्थिक स्थिति में फिर से दिक्कत आने लगी। कहा जाता है ऐसे तो अब्राहम लिंकन महिलाओं से काफी दूरी बनाकर रखा करते थे। लेकिन 24 साल की उम्र में उन्होंने एक लड़की से शादी कर लिया। किसी कारण बस कुछ ही समय बाद उस लड़की की मृत्यु हो गई। जिससे इनके जीवन में एक गहरा आघात पहुंचा। अपने जीवन से निराश हो चुके थे। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

दुनिया से सबसे अमीर इंसान Bill Gates के जीवन में हुए संघर्ष से परिचय

कभी-कभी वह खुदकुशी करने की भी सोचा करते थे। लेकिन कहा जाता है कि हमारे जीवन में अच्छा दोस्त हो तो कठिनाई को सामना करना आसान लगने लगता है। ऐसा ही कुछ अब्राहम लिंकन के जीवन में भी हुआ। अब्राहम लिंकन के एक दोस्त ने अब्राहम लिंकन का मनोबल बढ़ाया। और उन्हें परेशानी से बाहर निकालने में मदद दिलाया। मनोबल फिर से मजबूत होने के कारन अब्राहम लिंकन ने दोबारा विधायक का चुनाव लड़ा। और इस बार विधायक के चुनाव को जीत गए। विधायक के चुनाव जीतने के बाद उन्होंने वहा के युवाओं को अपनी तरफ आकर्षित किया। अब्राहम लिंकन विधानसभा में खुलकर बोला करते थे। जिसकी वजह से उनकी बातों को विधानसभा में ज्यादा महत्व दिया जाने लगा।

Comedian कपिल शर्मा के जीवन के संघर्ष से सफलता तक का सफ़र

अब्राहम लिंकन के विधायक के चुनाव जीतने के बाद जब विधानसभा आने जाने लगे। तब इन्हें वकील बनने का लाइसेंस भी प्राप्त हो गया। कहां जाता है कि जब अब्राहम लिंकन वकील बन गए। तो उन्होंने अपने पूरे जीवन में कभी भी झूठा केस नहीं लड़ा। और यह कभी भी किसी गरीब से एक पैसे की भी मांग नहीं करते थे। अपने जीवन के 20 सालों तक उन्होंने वकालत की। कहा जाता है कि अब्राहम लिंकन का कहना था कि जब भी वह किसी गरीब को न्याय दिलाते हैं। तो उन्हें जीवन में एक शांति से प्राप्त होती है। ऐसे तो कई सारे किस्से अब्राहम लिंकन के बारे में प्रचलित है। जब अपनी वकालत के समय में उन्होंने वकालत की थी। धीरे-धीरे अब्राहम लिंकन इतने प्रचलित हो चुके थे कि साथ में उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़े (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

सच बोलने के माध्यम से अपने जीवन में खुशी और शांति प्राप्त करे

और आखिरकार अमेरिका के राष्ट्रपति बन कर उन्होंने अपने जीवन की सबसे बड़ी सफलता हासिल की। अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद उन्होंने ना केवल अमेरिका बल्कि पूरी दुनिया से दास प्रथा को खत्म किया। 15 अप्रैल 1835 को अब्राहम लिंकन और उनकी पत्नी एक थिएटर में नाटक देखने गए हुए थे। जहां उस समय के अमेरिका के एक मशहूर अभिनेता ने उन्हें गोली मारकर हत्या कर दी। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी)

यदि आपको हमारे द्वारा दी गई Abraham Lincoln के जीवन के बारे में यह जानकारी पसंद आई हो। तो आप इसे ट्विटर लिंक्डइन पर शेयर अवश्य कर दें। ताकि हमारे पूरे भारत वासियों को यह पता चल सके कि Abraham Lincoln के जीवन में कितने परेशानियों का सामना करना पड़ा था। यदि आप Abraham Lincoln के बारे में कुछ पूछना चाहते हैं। तो हमें कमेंट करके बता सकते हैं। यदि आप Abraham Lincoln के बारे में कुछ खास जानकारी लेना चाहते हैं। तो आप हमें मैसेज के जरिए भी बता सकते हैं। (Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी )

मैसेज करने के लिए आपको हम के होम पेज पर Facebook के जरिए मैसेज करने का भी विकल्प आसानी से मिल जाएगा। यदि आप हमें कमेंट करना चाहते हैं। तो इस पोस्ट के नीचे कमेंट करने का विकल्प भी आसानी से प्राप्त हो जाएगा। यदि आप Abraham Lincoln के बारे में किसी विशेष जानकारी को रखना चाहते हो। और हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं। तो आप हमें मैसेज या कमेंट के जरिए बता सकते हैं। यदि आपके द्वारा दी गई जानकारी सत्य होतो है। तो हम आपके जानकारी को अपने वेबसाइट पर आपके नाम के साथ संलग्न करेंगे।(Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी )

प्रेरणादायक कहानी तांगा चलने वाला धर्मपाल गुलाटी कैसे बने MDH मसाले कम्पनी के मालिक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *