शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे

शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे

शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे

वीर्य अल्प समय में गिर गिर जाने की प्रक्रिया को शीघ्रपतन के नाम से जाना जाता है। सहवास के दौरान पुरुषों के इच्छा के विपरीत यदि उनका वीर्य शीघ्र गिर जाए तो यह रोग शीघ्रपतन के नाम से जाना जाता है। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा) संभोग के समय लिंग योनि में प्रवेश करने से पहले अथवा प्रविष्ट करते समय इस रोग में तुरंत वीर्य निकल जाता है। प्राकृतिक स्तंभन शक्ति 2 से 5 मिनट तक की होती है। इससे अधिक देर तक संभोग कर पाना जोड़ों का संयम धारण, तथा विशेष प्रेम लाभ, एवं उत्तम स्वास्थ्य के कारण संभव हुआ करता है। किंतु 2 मिनट से भी कम स्तंभन शक्ति रखने वाला पुरुष शीघ्रपतन का रोगी कहलाता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

Period मासिक धर्म माहवारी के दर्द से कैसे छुटकारा पाएं

इस रोग का कारण मैथुन इच्छा की अधिकता, हस्तमैथुन, वीर्य प्रेमी, वीर्य की अधिकता, गुदा संभोग करना, अत्यधिक मैथुन करना, वीर्य की गर्मी, अधिक आनंद प्राप्ति की कामना के लिए बाजारू दवाइयों का अत्यधिक मात्रा में सेवन करना, बाजारू दवाइयों से लिंग पर मालिश करना, दिल दिमाग तथा यकृत की कमजोरी, वीर्य का पतलापन, मूत्राशय की परेशानी, पेट में कीड़े, स्त्री के गुप्त अंगो का छोटा या तंग होना, और शुष्क होना, लिंग की सुपारी पर मैल जमना, सुपारे की बवासीर, सुजाक, मूत्र मार्ग में खराश, हाइड्रोसील की बीमारी, इत्यादि हो सकते हैं। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

दांत और मसूड़ों के दर्द के कारण उपचार और परहेज

हालांकि शीघ्रपतन कई बार पुरुषों के लिए शर्मिंदगी का कारण भी बन सकता है। ऐसी पुरुष जिनके शीघ्रपतन का रोग काफी लंबे समय से चलता आ रहा है। ऐसे पुरुष के अपने निजी जीवन में भी कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि शीघ्रपतन होने का कोई निश्चित समय निर्धारित नहीं है। लेकिन ज्यादातर मामलों में देखा जाता है कि जब किसी महिला और पुरुष के संभोग करने की इच्छा होती है। तो ऐसे में पुरुष के संभोग करते ही उनका वीर्य रसखलन हो जाता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

सफेद बाल बालों का झड़ना गंजापन होने के कारण और उपचार

शीघ्रपतन की समस्या सिर्फ और सिर्फ पुरुषों में देखी जा सकती है। यह रोग महिलाओं में बहुत नाम मात्र का देखा जा सकता है। शीघ्रपतन होने के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं। ऐसे व्यक्ति जो ज्यादा समय हस्तमैथुन में व्यतीत करते हैं। ऐसे व्यक्तियों को शीघ्रपतन होने की संभावना सबसे अधिक होती है। अपने काम इच्छा की पूर्ति करने के लिए व्यक्ति ज्यादातर हस्तमैथुन का सहारा लेते हैं। और ऐसे व्यक्तियों को शीघ्रपतन का रोग आसानी से अपने प्रभाव में प्रभावित करने लगता है। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

आँख में लाली चिपकना सूजन कीचड़ के कारण और उपचार

आइए हम जानते हैं। कैसे हम आयुर्वेदिक नुस्खे और घरेलू नुस्खे की मदद से शीघ्रपतन होने की समस्या को आसानी से खत्म कर सकते हैं। हालांकि शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने के लिए बाजार में कई तरह के रासायनिक दवाइयों का सेवन भी किया जा रहा है। लेकिन रासयनिक दवाइयों के सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता है। अल्प समय के लिए बढ़ाई गई शारीरिक ताकत कई तरह के अन्य समस्याओं को उत्पन्न करना शुरु कर देती है। ऐसे में हमें इस रोग के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे का उपयोग करना लाभप्रद साबित होता है।(शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

Eczema एक्जिमा (चर्म रोग) के कारण लक्षण और उपचार

प्याज का सेवन करना शीघ्रपतन से पीड़ित रोगी के लिए रामबाण औषधि माना जाता है। प्याज की सेवन करने से शीघ्रपतन के रोगी को काफी लाभ प्राप्त होता है। आइए हम जानते हैं। कैसे आप प्याज का सेवन करके अपने शरीर में उत्पन्न हो रहे शीघ्रपतन के रोग को आसानी से दूर कर सकते हैं। प्याज के सेवन करने के लिए विभिन्न प्रकार के नुस्खे हैं। जिनके सेवन करने से आप शीघ्रपतन के रोग को हमेशा के लिए खत्म कर सकते हैं। सबसे पहले आप प्रतिदिन अपने भोजन के साथ हरी प्याज का सेवन करना आरंभ कर दे। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

पाला और ठण्ड लगने के कारण होने वाले रोग और बचाव

हरी प्याज के सेवन करने से आपके भोजन में ऐसे लौह तत्व और जरूरी तत्वों की पूर्ति होती है। जो शरीर के अंदर अल्प समय में वीर के निष्कासन को रोकता है। साथ ही साथ सुबह खाली पेट आपको प्याज की एक गिलास जूस का सेवन करना है। सुबह खाली पेट प्याज की एक गिलास जूस के सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या के साथ-साथ दिल की बीमारी, किडनी की बीमारी, और मूत्र संबंधित समस्याओं में काफी लाभ प्राप्त होता है। शीघ्रपतन के रोगी को प्याज के सेवन अधिक से अधिक मात्रा में करना चाहिए। प्याज एक अच्छा विकल्प है। जो शीघ्रपतन के रोग से आसानी से और अल्प समय में छुटकारा दिलाने में मदद करता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

छोटे स्तन ढीले स्तन की समस्या को घरेलू नुस्खे से दूर करे

आइए हम दूसरे नुस्खे के बारे में जानते हैं। आप सभी ने अदरक का नाम अवस्य सुना होगा। अदरक हमारे भोजन में प्रतिदिन उपयोग किया जाने वाला ऐसा पदार्थ है। जिसके सेवन करने से शरीर के अंदर कई प्रकार के अन्य रोगों में भी काफी राहत महसूस होता है। अदरक का उपयोग करके शीघ्रपतन के रोगी आसानी से शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे शीघ्रपतन के रोग से छुटकारा पा सकते हैं। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

एनीमिया रोग क्या है एनीमिया के कारण लक्षण और उपचार

अदरक के उपयोग करने के लिए हमें अपने दैनिक जीवन में खाने वाले सब्जियों में अदरक का उपयोग करना चाहिए। साथ ही साथ आइए हम जानते हैं। एक ऐसे नुस्खे के बारे में जिस के उपयोग से शीघ्रपतन के रोग को आसानी से और कम समय में खत्म किया जा सकता है। खाना खाने के बाद रात्रि में एक चम्मच अदरक के रस में एक चम्मच शहद को मिलाकर प्रतिदिन सेवन करें। लगातार 10 से 12 दिन इस औषधि का सेवन करने से शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे शीघ्रपतन की समस्या को आसानी से दूर किया जा सकता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

Tetanus टिटनेस कैसे फैलता है Tetanus के कारण लक्षण उपचार

आइए हम ऐसे नुस्खे के बारे में जानते हैं। जिसका उपयोग पुराने जमाने से शीघ्रपतन की समस्या और शारीरिक शक्ति को बढ़ाने के लिए होता आ रहा है। आप सभी ने केसर का नाम अवश्य सुना होगा। केसर एक ऐसा औषधि है। जो शारीरिक शक्ति बढ़ाने में मनुष्यों की काफी मदद करता है। केसर का सेवन शीघ्रपतन के निवारण के लिए किया जाता है।

कमजोर शरीर को मोटा बनाये आयुर्वेदिक औषधि के साथ

रात्रि को सोने से पहले प्रतिदिन एक गिलास दूध में एक से दो धागे केसर के डाल के सेवन करने से अंदरूनी शक्ति का विकास होता है। साथ ही साथ केसर के प्रतिदिन सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या के साथ साथ इंसान के अंदर शारीरिक शक्ति में भी बढ़ोतरी होती है। केसर के प्रतिदिन सेवन करने से शिग्रपतन की समस्या के साथ-साथ कई अन्य प्रकार की समस्याओं में काफी लाभ प्राप्त होता है। केसर एक आयुर्वेदिक औषधि है। इसके सेवफां करने से  इंसान के अंदर किसी प्रकार के साइड इफेक्ट होने की संभावना नहीं होती है। ऐसे में निश्चिंत होकर अपने शारीरिक शक्ति को बढ़ाने के लिए केसर का सेवन कर सकते हैं। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

Hernia हर्निया क्या है कारण लक्षण और आयुर्वेदिक उपचार

केसर के सेवन करने में हमेशा एक बात ध्यान रखना अति आवश्यक है। केसर बहुत ही गर्म औषधि माना जाता है। अतः हमें हमेशा दूध में केसर के एक से दो धागे का ही सेवन प्रतिदिन करना है। केसर के अत्यधिक सेवन करने से  अन्य प्रकार के समस्या उत्पन्न होना सुरु हो सकता है। अतः केसर के सेवन करने से हमेशा ध्यान रखें कि हमें दूध में केसर के एक से दो धागे का ही इस्तेमाल करना है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

बच्चों में (Pneumonia) निमोनिया के कारण लक्षण बचाव और उपचार

शीघ्रपतन की समस्या को समाप्त करने के लिए साथ ही साथ शारीरिक शक्ति बढ़ाने के लिए बादाम पिस्ता काजू इत्यादियो का सेवन करना भी काफी लाभप्रद साबित होता है। बदाम पिस्ता काजू शारीरिक शक्ति बढ़ाने के साथ-साथ मानसिक शक्ति का विकास करने में हमारी मदद करता है। आइए हम जानते हैं। कैसे काजू पिस्ता बादाम के सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या के साथ-साथ शारीरिक शक्ति को बढ़ाया जा सकता है। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

Dama Treatment दमा रोग के कारण और उपचार को जाने

काजू पिस्ता बदाम को एक जगह रखकर इसे अच्छे से मिलाकर इस का चूर्ण बना लेना है। प्रतिदिन रात्रि में खाना खाने के बाद और सोने से पहले हल्के गर्म दूध में एक से दो चम्मच पाउडर को मिलाकर दूध में अच्छी तरह से मिलाकर 30 से 35 मिनट तक छोड़ देना है। 10 से 12 दिन लगातार इस नुस्खे का उपयोग करने से शरीर में अद्भुत शक्ति का महसूस होना शुरु हो जाता है। साथ ही साथ शीघ्रपतन की समस्या से  भी हमेशा के लिए छुटकारा प्राप्त हो जाता है।(शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

Insomnia अनिद्रा के होने के कारण और इसके उपचार

शारीरिक शक्ति के बढ़ाने के साथ साथ संभोग की शक्ति बढ़ाने के लिए तरबूज का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। तरबूज एक ऐसा फल है। जो शरीर के अंदर उत्पन्न हो रही कई अन्य प्रकार की समस्या को जड़ से समाप्त करने में इंसानों की मदद करता है। तरबूज के निरंतर उपयोग से शरीर के अंदर दिल की बीमारी पेट से जुड़ी समस्या मानसिक तनाव और किडनी से जुड़ी समस्या में काफी राहत महसूस होता है।

मिर्गी Epilepsy अपस्मार रोग के उपचार कैसे करे

साथ ही साथ यदि कोई व्यक्ति तरबूज का सेवन प्रतिदिन करता है। तो ऐसे व्यक्ति के अंदर शारीरिक कमजोरी और शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न नहीं होती है। जिन व्यक्तियों के शरीर के अंदर शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न हो रही है। ऐसे व्यक्ति को प्रतिदिन सुबह नाश्ते के समय एक गिलास तरबूज का सेवन हल्के नमक और अदरक के रस के साथ अवश्य करना चाहिए। तरबूज एक ऐसा फल है।  जो बहुत कम ही समय में पुरुषों के अंदर होने वाली समस्या को जड़ से खत्म करने में मदद करता है। लगातार 10 दिन  सेवन करने से शरीर के अंदर गजब की शक्ति और शिग्रपतन की समस्या में गजब का राहत महसूस होता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

बांझपन (Sterility) प्रजनन क्षमता में कमी को दूर करने के घरेलु नुस्खे

पुरुषों में यौन संबंधित समस्याओं को सुधार करने के लिए लहसुन का भी सेवन करना अति आवश्यक माना जाता है। लहसुन ऐसे तो कई अन्य प्रकार की औषधि और रोगों को समाप्त करने के लिए किया जाता है। लेकिन शीघ्रपतन की समस्या में भी लहसुन का बहुत महत्वपूर्ण स्थान माना जाता है। प्रतिदिन सुबह शौच जाने से पहले चार से पांच लहसुन की कच्ची कलियों को एक गिलास पानी के साथ सेवन करने से यौन संबंधी समस्याओं में बहुत राहत महसूस होता है।(शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

Chicken pox चेचक का घरेलू नुस्खे की मदद से उपचार

लहसुन के सेवन करने में हमेशा एक बात ध्यान रखें कि ज्यादा लहसुन का सेवन करना भी खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे पुरुष जिन्हें पहले से किसी अन्य प्रकार के रोग ग्रसित हैं। ऐसे व्यक्तियों को लहसुन कम से कम मात्रा में सेवन करना चाहिए। हालांकि लहसुन बहुत ही गर्म होता है। इसी कारणों से पुरुष के अंदर समस्याएं उत्पन्न होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

दस्त (Diarrhea) अतिसार के कारण लक्षण और इसका उपचार

कई बार शीघ्रपतन होने की संभावना ऐसे पुरुषों को ज्यादा होती है। जो संभोग करने के दौरान ज्यादा घबराते हैं। ऐसे व्यक्तियों को मन पर काबू करना अत्यधिक जरूरी है। जो व्यक्ति संभोग करने के दौरान किसी चिंता या किसी तनाव से ग्रसित हो। उन्हें अपने संभोग करने के दौरान सभी प्रकार के चिंताओं को छोड़कर संभोग पर ध्यान देना अति आवश्यक है। कभी-कभी संभोग करने के दौरान चिंता और घबराहट के कारण भी शीघ्रपतन होने की संभावना ज्यादा हो जाती है। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

बदहजमी (indigestion) अपच की समस्या का उपचार कैसे करे

अतः जरूरी नहीं कि हमेशा हमें आयुर्वेदिक या रासायनिक दवाइयों के सेवन करने से ही हमें शीघ्रपतन की समस्या से निजात मिल सकता है। कभी-कभी हम अपने मानसिक कंट्रोल करने के साथ साथ व्यायाम करने की प्रक्रिया को जारी रखे तो हमें शीघ्रपतन की समस्याओं से भी छुटकारा प्राप्त हो जाता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

गठिया (Arthritis) संधि शोथ के उपचार करने के उपाय

शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए बाबा रामदेव के द्वारा बनाए गए आयुर्वेदिक दवा पतंजलि मेडिसिन से आप आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। पतंजलि मेडिसिन के द्वारा बनाया गया आयुर्वेदिक दवा बिलकुल कारगर साबित होता है। पतंजलि के द्वारा कई प्रकार के औषधियों का भी निर्माण किया गया है। जो शीघ्रपतन या यौन संबंधित समस्याओं के लिए काफी लाभप्रद है। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

(Cold) सर्दी (Cough) खांसी (Common Cold) जुकाम के उपचार

पतंजलि से आप मुरली पाक औषधि ले सकते हैं। जो शीघ्रपतन और पुरुष के यौन संबंधी समस्याओं के लिए रामबाण औषधि माना जाता है। मुरली पाक के सेवन करने से पतले वीर्य को गाढ़ा किया जा सकता है। साथ ही साथ ऐसे व्यक्ति जो शीघ्रपतन की समस्या से जूझ रहे हैं। ऐसे व्यक्ति को भी मुरली पाक बहुत राहत और शीघ्रपतन की समस्या को दूर करने में मदद करता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

आंख की रोशनी कम होने के कारण लक्षण और उपाय

पुरुषों के यौन संबंधी समस्याओं को दूर करने में अश्वगंधा का भी महत्वपूर्ण स्थान माना जाता है। अश्वगंधा एक ऐसा आयुर्वेदिक औषधि है। जो पुरुषों के अंदर से तनाव, कब्ज ब्रेन टयूमर, दिल की बीमारी, बांझपन नपुंसकता इत्यादिओं को दूर करने में मदद करता है। अश्वगंधा के एक चम्मच पाउडर को एक गिलास दूध और एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से पुरुषों के यौन संबंधित समस्याओं में काफी लाभ प्राप्त होता है। साथ ही साथ यह सभी हमारे द्वारा बताए गए नुस्खे आयुर्वेदिक है। अतः आप को इस नुस्खे के सेवन करने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

डेंगू (Dengue) क्या है कैसे फैलता है इसका उपचार क्या है

कभी कभी यौन संबंधित समस्याओं से परेशान होकर यौन संबंधित समस्याओं के उपचार के लिए रोगी रासायनिक दवाइयों का सेवन करना शुरू कर देते हैं। हालांकि रासायनिक दवाइयों के सेवन करने से शरीर के अंदर कई प्रकार की अन्य समस्याएं उत्पन्न होने की संभावना अत्यधिक बढ़ जाती है। ऐसे में यौन संबंधित समस्याओं के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे का उपयोग करना काफी लाभप्रद साबित होता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय

यदि आप सभी को शीघ्रपतन के बारे में दिया गया यह जानकारी पसंद आया हो तो आप अपने दोस्त और परिवारों के बीच आपस शेयर कर दे। कभी-कभी शीघ्रपतन की समस्या से जूझ रहे रोगी किसी से यह बात शेयर नहीं कर पाते हैं। और खुद को अंदर ही अंदर कोसते रहते हैं। ऐसे में आपके द्वारा शेयर करने से यह जानकारी कई अन्य लोगों के लिए लाभप्रद साबित हो सकता है। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा) साथ ही साथ यदि आप शीघ्रपतन की इस जानकारी के बारे में कुछ पूछना चाहते हैं। या आप शीघ्रपतन की जानकारी के बारे में कुछ बताना चाहते हैं। तो आप हमें कमेंट करके अवश्य बताएं। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि दवा)

Hydrocele हाइड्रोसील रोग क्या है इसके कारण लक्षण और उपचार

यदि आप किसी खास मुद्दे पर हम से बातचीत करना चाहते हैं। (शीघ्र स्खलन का इलाज पतंजलि) तो आप हमें कमेंट करके ईमेल करके और मैसेज करके आसानी से बता सकते हैं। यदि आप शीघ्रपतन की समस्या के बारे में किसी खास नुस्खे और किसी खास उपचार के बारे में जानते हैं। तो आप हमें ईमेल करके बताएं। यदि आपके द्वारा दिया गया जानकारी सत्य साबित होता है। तो हम आपके द्वारा दिए गए जानकारी को अपने वेबसाइट पर आपके नाम के साथ अवश्य करेंगे। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

Leucoderma कुष्ठ रोग तथा सफेद दाग होने के कारण लक्षण और उपाय

यदि आपको इस जानकारी पढ़ने के दौरान किसी प्रकार की कोई खामी और गलती नजर आती है। या आपको पढ़ने के दौरान कहीं असुविधा नजर आती है। तो आप हमें ईमेल करके कॉमेंट करके अवश्य बताएं। समय-समय पर हम अपने द्वारा दिए गए जानकारी को अपडेट करते रहते हैं। ऐसे में आपके द्वारा दिया गया जानकारी कई अन्य लोगों के लिए साबित हो सकता है। (शीघ्रपतन की उपचार के 10 कारगर आयुर्वेदिक नुस्खे)

Acne Pimples कील मुहासे होने के कारण लक्षण और उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *