भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

मगर अपनी देशभक्ति अपने जज्बे और अपनी मेहनत के बदौलत उन्होंने ऐसी सफलता हासिल की जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था। और आज इस कार्य का मिसाल पुरे दुनिया में दिया जा रहा है। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का कहना है की डरते तो वो है। जो अपनी छवि के लिए मरते हैं। मैं तो हिंदुस्तान की छवि के लिए मरता हूं। और इसीलिए किसी से भी नहीं डरता हूं। दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों में शामिल भारत के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जिन्हें आप भारत देश की राजनीति की वजह से आप प्यार करें। या फिर नफरत। लेकिन श्री नरेंद्र मोदी के कार्यों को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। वैसे तो श्री नरेंद्र मोदी का जीवन बहुत ही साधारण तरीके से शुरू हुआ। मगर अपनी देशभक्ति अपने जज्बे और अपनी मेहनत के बदौलत उन्होंने ऐसी सफलता हासिल की जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था। और आज इस कार्य का मिसाल पुरे दुनिया में दिया जा रहा है। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

छत्रपती शिवाजी महाराज के जीवन की संघर्ष से विजेता का सम्पूर्ण कथा

श्री नरेंद्र मोदी एक बेहद ही गरीब परिवार में पैदा हुए। श्री नरेंद्र मोदी अपने बचपन के दिनों से जीवन के प्रति संघर्ष करते आ रहे है। कहा जाता है की जब बच्चे खेलने कूदने में अपना समय व्यतीत करते हैं। तब श्री नरेंद्र मोदी ने अपने घर की आर्थिक सहायता के लिए अपने पिता की दुकान में हाथ बटाने लगे। और ट्रेन के डिब्बों में जा जाकर चाय बेचना सुरु कर दिया। लेकिन सही कहा गया है। की यदि हमारे अंदर कुछ करने का जज्बा हो। तो हम कठिन से कठिन काम आसानी से करने में सफल हो जाते है। अगर आपके अंदर अपने देश के लिए कुछ कर जाने की इच्छा हो। तो कोई भी लक्ष्य कठिन नहीं रह जाता। कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो। अब हम शुरू से श्री नरेंद्र मोदी की चाय बेचने से लेकर प्रधानमंत्री बनने तक की अद्भुत सफर को विस्तार में जानते हैं। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

दुनिया से सबसे अमीर इंसान Bill Gates के जीवन में हुए संघर्ष से परिचय

श्री नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को में वडनगर नाम के गांव में हुआ था। आपको ये बात जान के बहुत हैरानी होगी। कि यह राज्य पहले भारत का एक राज्य था। जिसे 1 मई 1960 को गुजरात और महाराष्ट्र बना दिया गया। इस तरह अब श्री नरेंद्र मोदी जी का जन्म स्थान गुजरात राज्य के अंतर्गत आता है। श्री नरेंद्र मोदी के पिता का नाम दामोदरदास मूलचंद मोदी था। और श्री नरेंद्र मोदी के मां का नाम हीराबेन मोदी है। जन्म के समय उनका परिवार बहुत ही गरीब था। और एक छोटे से कच्चे मकान में रहते थे। श्री नरेंद्र मोदी अपने माता-पिता की कुल 6 संतानों में तीसरे पुत्र हैं। श्री नरेंद्र मोदी के पिता रेलवे स्टेशन पर चाय की एक छोटी सी दुकान चलाते थे। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

Comedian कपिल शर्मा के जीवन के संघर्ष से सफलता तक का सफ़र

जिसमें श्री नरेंद्र मोदी भी उनका हाथ बटाते थे। और जरुरत पड़ने पे रेल के डिब्बों में जाकर चाय बेचते थे। लेकिन श्री नरेंद्र मोदी चाय की दुकान संभालने के साथ-साथ पढ़ाई-लिखाई का भी पूरा ध्यान रखते थे। श्री नरेंद्र मोदी के सम्बन्धी बताते हैं कि नरेंद्र पढ़ाई लिखाई में तो एक ठीक-ठाक छात्र थे। लेकिन नाटकों और भाषणो में जम के हिस्सा लेते थे। और श्री नरेंद्र मोदी खेलकूद में भी बहुत दिलचस्पी रखते थे। उन्होंने अपनी स्कूल की पढ़ाई वडनगर से पूरी की सिर्फ 13 साल की उम्र में श्री नरेंद्र मोदी की सगाई यशोदा बेन चमनलाल के साथ कर दी गई थी। और फिर 17 साल की उम्र में उनकी शादी हो गई। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

सच बोलने के माध्यम से अपने जीवन में खुशी और शांति प्राप्त करे

फाइनेंसियल एक्सप्रेस की एक न्यूज़ के अनुसार श्री नरेंद्र मोदी और जसोदा ने कुछ समय सात बिताये।लेकिन कुछ समय बाद श्री नरेंद्र मोदी के इच्छा से वे दोनों एक दूसरे के लिए अजनबी हो गए। लेकिन श्री नरेंद्र मोदी के जीवन लेखक ऐसा नहीं मानते हैं। उनका मानना है कि उन दोनों की शादी जरूर हुई। लेकिन वे दोनों एक साथ कभी नहीं रहे। शादी के कुछ वर्षों बाद श्री नरेंद्र मोदी ने घर छोड़ दिया। और एक तरह से उनका वैवाहिक जीवन लगभग समाप्त हो गया था। श्री नरेंद्र मोदी का मानना है। कि एक शादीशुदा इंसान के मुकाबले अविवाहित व्यक्ति भ्रष्टाचार के खिलाफ ज्यादा जोरदार तरीके से लड़ सकता है। क्योंकि उसे अपनी पत्नी और बच्चों की कोई चिंता नहीं रहती। बचपन से ही मोदी में देशभक्ति कूट-कूट कर भरी थी।

प्रेरणादायक कहानी तांगा चलने वाला धर्मपाल गुलाटी कैसे बने MDH मसाले कम्पनी के मालिक

1962 में भारत-चीन युद्ध हुआ था। उस समय श्री नरेंद्र मोदी रेलवे स्टेशन पर जवानों से भरी ट्रेनों में उनके लिए खाना और चाय लेकर जाते थे। 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के समय भी श्री नरेंद्र मोदी ने जवानों की खूब सेवा की थी। इस तरह 1971 में RSS के प्रचारक बन गए और अपना पूरा समय को देने लगे। वहां सुबह 5:00 बजे उठ जाते और देर रात तक काम करते प्रचारक होने की वजह से श्री नरेंद्र मोदी  ने गुजरात के अलग-अलग जगहों पर जाकर लोगों की समस्याओं को बहुत करीब से समझा। और फिर भारतीय जनता पार्टी का आधार मजबूत करने में बहुत महत्वपूर्ण रोल निभाया। 1975 के आसपास में राजनीतिक क्षेत्र में विवाद की वजह से उस समय की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने कई राज्यों में आपातकालीन घोषित कर दिया था। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम के जीवन के प्रेरणादायक सफर हिंदी में जानकारी

और तब RSS जैसी संस्थाओं पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था। फिर भी श्री नरेंद्र मोदी चोरी-छिपे देश की सेवा करते रहें। और सरकार की गलत नीतियों का जमकर विरोध किया। उसी समय श्री नरेंद्र मोदी ने एक किताब भी लिखी थी। जिसका नाम संघर्ष मां गुजरात था। इस किताब में उन्होंने गुजरात की राजनीति के बारे में चर्चा किया था। उन्होंने RSS के प्रचारक रहते हुए 1980 में गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में पीजी की डिग्री प्राप्त की। RSS में बेहतरीन काम को देखते हुए उन्हें भाजपा में नियुक्त किया गया। जहां उन्होंने 1990 में आडवाणी की अयोध्या यात्रा का भव्य आयोजन किया।

प्रेरणादायक विचार जब दर्द नहीं था सीने में तो खाक मजा था जीने में Limant Post

जिससे भाजपा के सीनियर नेता काफी प्रभावित हुए। आगे भी उनके अद्भुत कार्य की बदौलत भाजपा में उनका महत्व बढ़ता रहा। आखिरकार श्री नरेंद्र मोदी की मेहनत रंग लाई। और उनकी पार्टी ने गुजरात में 1995 के विधानसभा चुनाव में बहुमत में अपनी सरकार बना ली। लेकिन श्री नरेंद्र मोदी से कहासुनी होने के बाद शंकर सिंह वाघेला ने पार्टी से रिजाइन दिया। उसके बाद केशुभाई पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया। और श्री नरेंद्र मोदी को दिल्ली बुलाकर भाजपा में संगठन के लिए केंद्रीय मंत्री का बागडोर दिया गया। श्री नरेंद्र मोदी जी ने इस पोस्ट को भी बखूबी निभाया।

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

2001 में भाई पटेल की सेहत बिगड़ने लगी थी। और भाजपा चुनाव में कई सीटें भी हार गई थी। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने अक्टूबर 2001 में केशु भाई पटेल की जगह श्री नरेंद्र श्री नरेंद्र मोदी को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की कमान सौंपी श्री नरेंद्र श्री नरेंद्र मोदी जी ने मुख्यमंत्री का अपना पहला कार्यकाल 7 अक्टूबर 2001 से शुरू किया इसके बाद श्री नरेंद्र मोदी  ने राजकोट विधानसभा चुनाव लड़ा जिसमें उन्होंने कांग्रेस पार्टी के नेता को बड़े अंतर से मात दी मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए श्री नरेंद्र मोदी ने बहुत ही अच्छी तरीके से अपने कार्यों को संभाला और गुजरात को फिर से मजबूत कर दिया। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह की जीवनी और इनके जीवन की प्रेरणदायक कहानी

उन्होंने गांव गांव तक बिजली पहुंचाई टूरिज्म को बढ़ावा दिया। देश में पहली बार किसी राज्य की सभी नदियों को एक साथ जोड़ा गया। जिससे पूरे राज्य में परेशानी दूर हो गई।  एशिया महादेश के सबसे बड़े सोलर पार्क का निर्माण गुजरात में हुआ। और इन सबके अलावा भी उन्होंने बहुत सारे अद्भुत कार्य किए। और देखते ही देखते गुजरात को भारत का सबसे बेहतरीन राज्य बना दिया। आज के समय गुजरात को दुनिया का सबसे अच्छा राज्य मन जाता है और इस तरह से श्री नरेंद्र मोदी खुद गुजरात के सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बने। लेकिन उसी बीच मार्च 2002 में गुजरात के गोधरा कांड से श्री नरेंद्र श्री नरेंद्र मोदी का नाम जोड़ा गया।

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

इसके लिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने श्री नरेंद्र मोदी प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया। और फिर कांग्रेस सहित अनेक विपक्षी दलों ने उनके इस्तीफे की मांग की। गोधरा कांड में 27 फरवरी 2002 को गुजरात के गोधरा नाम के शहर में रेलवे स्टेशन पर साबरमती ट्रेन के एसी कोच में आग लगाए जाने के बाद 59 लोगों की मौत हो गई थी। जिसके बाद पूरे गुजरात में सांप्रदायिक दंगे होना शुरू हो गए। और फिर 28 फरवरी 2002 को गुजरात के कई इलाकों में दंगा बहुत ज्यादा भड़क गया। जिसमें 12 से अधिक लोग मारे गए इसके बाद इस घटना की जांच के लिए उच्चतम न्यायालय ने विशेष जांच दल बनाई। और फिर दिसंबर 2010 में जांच रिपोर्ट के आधार पर फैसला सुनाया कि इन दंगों में श्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं मिला।

प्रेरणादायक कहानी दशरथ मांझी मनुष्य जब जोड़ लगता है पत्थर पानी बन जाता है

श्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में कई ऐसे हिंदू मंदिरों को भी ध्वस्त कराने में थोड़ा सा भी नहीं सोचा। जो सरकारी कानून कायदे के मुताबिक नहीं बने थे। उन सभी मदिरो को श्री नरेंद्र मोदी ने ध्वस्त करवा दिया। हालांकि इसके लिए उन्हें विश्व हिंदू परिषद जैसे संगठनों का भी विरोध झेलना पड़ा। लेकिन उन्होंने इसकी थोड़ी सी भी परवाह नहीं की। और देश के लिए जो सही था उसी काम को करते रहें। उनके अच्छे निर्णय और कार्यों की वजह से गुजरात के लोगों ने श्री नरेंद्र मोदी को चार बार लगातार अपना मुख्यमंत्री बनाया। गुजरात में श्री नरेंद्र मोदी की सफलता देखकर बीजेपी के सीनियर नेताओं ने श्री नरेंद्र मोदी को 2014 के लोकसभा चुनाव का प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित किया। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

Paytm के मालिक विजय शेखर शर्मा के जीवन के संघर्ष की कहानी

जिसके बाद श्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत में बहुत सारी रैलियां की। और साथ ही साथ उन्होंने सोशल मीडिया का भी भरपूर लाभ उठाया। और लाखों लोगों तक अपनी बात रखी श्री नरेंद्र मोदी के अद्भुत विकासशील कार्य उनकी प्रेरणादायक भाषण देश के लिए उनका और उनकी सकारात्मक सोच की वजह से उन्हें भारी मात्रा में वोट मिले। और वह भारत के पंद्रहवें प्रधानमंत्री बने दोस्तों श्री नरेंद्र मोदी एक बहुत ही मेहनती व्यक्ति हैं। वह 18 घंटे काम करते हैं। और कुछ ही घंटे सोते हैं। श्री नरेंद्र मोदी जी का कहना है। कि कड़ी मेहनत कभी थकान नहीं लाती है। वह तो बस संतोष लाती है। श्री नरेंद्र मोदी शुद्ध शाकाहारी हैं। और नवरात्रि के 9 दिन उपवास रखते हैं। वह अपनी सेहत का भरपूर ध्यान रखते हैं। और प्रतिदिन योग करते हैं। भले ही वह कहीं पर भी हो।

Inspirational Story Shah Rukh Khan 1500 से 4000 करोड़ तक का सफर

श्री नरेंद्र मोदी अपनी मां से बहुत प्यार करते हैं। उनका कहना है कि मेरे पास अपने बाबा दादा की नाही एक पाई है और ना ही मुझे चाहिए मेरे पास अगर कुछ है। तो अपनी मां का दिया आशीर्वाद। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

यदि आप सभी को श्री नरेंद्र मोदी के जीवन के इस संघर्ष की कहानी अच्छी लगी हो। तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करें। ताकि हमारे सभी भारतवासियों को यह पता चल सके कि एक कैसे अपने जीवन को आगे बढ़ा सकता है। यदि आपको श्री नरेंद्र मोदी के जीवन के बारे में किसी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानते हो। तो आप हमें कमेंट के जरिए पूछ सकते हैं। कमेंट करने के लिए आपको इस पोस्ट के नीचे कमेंट का विकल्प आसानी से प्राप्त हो जाएगा। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

यदि आप श्री नरेंद्र मोदी के जीवन के बारे में किसी और महत्वपूर्ण जानकारी का आदान-प्रदान हमारे साथ करना चाहते हैं। तो आप हमें मैसेज के जरिए भी बता सकते हैं। हम आपके जानकारी को आपके नाम के साथ अपने इस वेबसाइट से संलग्न करेंगे। मैसेज करने के लिए आपको हमारे वेबसाइट के होम पेज पर Facebook के जरिए मैसेज करने का विकल्प मिल जाएगा। आपके द्वारा किए गए कमेंट और मैसेज हमारे लिए महत्वपूर्ण है। हम आपके द्वारा किए गए कमेंट और मैसेज का अति शीघ्र जवाब देने की पूर्ण कोशिश करेंगे। (भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी)

Best Inspirational Thought Success or Die करो या मरो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *