पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

The Great Khali अभी के दौर में द ग्रेट खली के नाम को जानने वाला ऐसा कोई इंसान आपको कहीं नहीं मिलेगा। यह नाम ना केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में इतना मशहूर है की बच्चा-बच्चा द ग्रेट खली के नाम से वाकिफ है। जब भी शक्ति प्रदर्शन की बात आती है। तो द ग्रेट खली का नाम सबसे ऊपर लिया जाता है। द ग्रेट खली ने पूरी दुनिया में बड़े से बड़े पहलवान को कुश्ती अथवा मल्ल युद्ध में हराया है। अलग-अलग जगहों पर जाकर अलग-अलग देशों में जाकर उन देशो के बड़े से बड़े योद्धा को धराशाही किया है। इसी कारण से या न केवल अपना नाम बल्कि भारत का नाम भी गौरवान्वित किया है। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

जब भी कहीं भी किसी पहलवान की बात होती है। या किसी के शक्ति प्रदर्शन की बात होती है। तो कहा जाता है ग्रेट खली का नाम सबसे ऊपर आता है। अभी के समय में द ग्रेट खली से मिलने के लिए हजारों की भीड़ जमा होती है। इनके मल्ल युद्ध को देखने के लिए लोगों में होड़ सी लग जाती है। जब कहीं द ग्रेट खली के शक्ति प्रदर्शन की बात आती है लाखों का भीड़ इकट्ठा हो जाता है। आज के समय में द ग्रेट खली का नाम इतना प्रसिद्ध हो चुका है कि बस ग्रेट खली के नाम से ही समा गूंज उठती है। लेकिन मैं आप सभी को बताना चाहता हूं कि जिन्हें आज पूरी दुनिया द ग्रेट खली के नाम से जानती है।

वह हमेशा से द ग्रेट खली नहीं थे। जीवन में बड़े ही लंबे संघर्ष का सामना करते हुए द ग्रेट खली ने इस मुकाम को हासिल किया है। बहुत ही गरीबी का सामना करते हुए एक छोटे से गांव से निकलकर देश में नहीं पूरे दुनिया भर में अपना नाम रोशन कर दिया। यह सफर कोई आसान सफर नहीं था। इस सफर में द ग्रेट खली को बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। बहुत सारी दिक्कतों से सामना करते हुए ग्रेट खली ने पूरी दुनिया में अपना नाम अमर कर दिया। तो आइए आज हम द ग्रेट खली के जीवन के उन विषयों पर विस्तार से चर्चा करते हैं जिनकी जानकारी हमारे अधिकांश भारतवासियों को नहीं है। सबसे पहले मैं आपको बताना चाहूंगा कि जिन्हें पूरी दुनिया द ग्रेट खली के नाम से जानती है

उनका वास्तविक नाम दिलीप सिंह राणा है। दिलीप सिंह राणा का जन्म 27 अगस्त 1972 के हिमाचल प्रदेश के एक छोटे से गांव घरियाना में हुआ था। दिलीप सिंह राणा को  आज पूरी दुनिया द ग्रेट खली के नाम से जानती है। इनका जन्म एक हिंदू राजपूत परिवार में हुआ था। द ग्रेट खली के पिता का नाम ज्वाला रमा और माता का नाम तारी देवी था। ग्रेट खली का परिवार बहुत ही गरीब और लाचार था। दिलीप सिंह राणा अपने मां बाप की इकलौती संतान नहीं थे। दिलीप सिंह राणा के अलावा भी इनके घर में 6  भाई बहन और रहते थे। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

घर की हालत सही ना होने के कारण घर में भोजन तक की हुई दिक्कत हुआ करती थी। पढ़ाई-लिखाई के पैसे ना होने के कारण इनके परिवार में कोई भी ज्यादा पढ़ा लिखा हुआ नहीं है। अपने सभी भाई-बहनों में The Great Khali शुरुआती से ही लंबे और मजबूत थे। अपने लंबे चौड़े शरीर और भीमकाय शरीर को लेकर यह अपने आस-पास के गांव में हमेशा चर्चा के विषय बने रहते थे। जैसा कि मैंने आपको पहले भी बताया है घर की हालत सही ना होने के कारण दिलीप सिंह राणा का पढ़ाई नहीं हो पाया। 

घर की तंगी वाली हालत देखकर दिलीप सिंह राणा ने काम करने की सोच ली। और वह इधर उधर काम की तलाश में घूमने लगे। हालांकि लंबे-चौड़े शरीर होने के कारण इन्हें मजदूरी का काम आसानी से मिलने लगा। पढ़े-लिखे ना होने के कारण इन्हें किसी अन्य तरह के काम मिल पाना बड़ी मुश्किल हो रहा था। अतः इन्होंने मन बना लिया कि अब यह मजदूरी ही करेंगे। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

शुरुआती दौर में यह अपने गांव के आस-पास ही मजदूरी का काम करना शुरू कर दिए। शरीर के कद काठी के मजबूत होने कारण इन्हें पत्थर उठाने का काम दिया गया। इनका शरीर मजबूत होने के कारण ही आसानी से पत्थर उठाने का काम भी सफलता पूर्ण करने लगे। लोगों को पता चला कि एक मजदूर ऐसा भी है जो बड़े से बड़े पत्थर को आसानी से उठा लेता है तो इन्हें मजदूरी का काम आसानी से मिलने लगा। ज्यादातर लोग इन्हें अपने घर में मजदूरी के काम के लिए ले जाना पसंद करने लगे। लेकिन गांव के मजदूरी करने से इनके जीवन यापन में किसी भी तरह का कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा था। इनकी घर की हालत कल की तरह गरीब और बदतर होते जा रहे थे। इसी कारण से पैसों की ज्यादा सोच दिलीप सिंह राणा गांव छोड़कर शिमला आ गए। समय ऐसा आ गया था की The Great Khali से जानवरो की तरह काम करवाया जाने लगा।

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali
पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

दिलीप सिंह राणा यह सोचकर शिमला आ गए कि यहां पर मजदूरी करने से उन्हें कुछ ज्यादा पैसे प्राप्त होंगे। जिससे वह अपनी और अपने घर की हालत को सही कर पाएंगे। यही सब सोच दिलीप सिंह राणा शिमला आकर मजदूरी करना शुरु कर दिए। कद काठी के लंबे चौड़े होने के कारण इनके शरीर के कपड़े चप्पल जूते इत्यादि मिलना भी बहुत मुश्किल हो गया था। यह अपने नाप के चप्पल किसी खास मोची से बनवाया करते थे। हालांकि शुरुआती दौर में दिलीप सिंह राणा को आसपास के लोग लंबे कद काठी होने कारण चिढ़ाते रहते थे। यह बात सोचकर खली को अपने आप पर भी बहुत गुस्सा भी आता था। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह की जीवनी और इनके जीवन की प्रेरणदायक कहानी

लेकिन अपने शरीर के ऊपर वह कुछ नहीं कर सकते थे। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि द ग्रेट खली जितने लंबे चौड़े और विशालकाय थे। उसी हिसाब से इनके भोजन का सेवन भी अधिक मात्रा में हुआ करता था। जब वह शिमला में मजदूरी कर रहे थे तो यहां भी उन्हें अपने कमाए गए पैसे से गुजारा अच्छे से नहीं हो रहा था। अपने कमाए हुए पैसे का अधिकांश भाग इनके अपने भोजन में ही खर्च हो जाया करता था। अपने परिवार वालों के लिए बहुत परेशान और चिंतित रहने लगे। एक बात तो इनके समझ में आ गई थी की मजदूरी करने से इनका और उनके परिवार का भरण-पोषण आसानी से नहीं हो सकता है।

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

क्योंकि जो भी पैसे यह कहीं मजदूरी से कमाते थे उन का अधिकांश भाग ही अपने भोजन में ही खर्च करते थे। 1 दिन की बात है जब द ग्रेट खली मजदूरी करके वापस आ रहे थे तो इन पर एक पुलिस वाले की नजर पड़ी। पुलिस वाला द ग्रेट खली को देखकर बहुत हैरान हो गया। उसे इन की लंबाई चौड़ाई और ऊंचाई को देख कर बड़ा अचंभा हुआ। पुलिसवाले ने द ग्रेट खली को पास में बुलाया और पंजाब पुलिस में भर्ती होने का प्रस्ताव दिया। लंबे चौड़े और विशालकाय शरीर होने के कारण 1993 में द ग्रेट खली को पंजाब पुलिस में नौकरी भी मिल गई। पुलिस की नौकरी से खुश होकर द ग्रेट खली ने अपने भाई के साथ पंजाब में रहने का यह फैसला कर लिया। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

प्रेरणादायक कहानी दशरथ मांझी मनुष्य जब जोड़ लगता है पत्थर पानी बन जाता है

मजदूरी करने से बेहतर पुलिस की नौकरी करना अच्छा लग रहा था। पहले से अब इनकी हालत और परिवार की हालत में भी सुधार आने लगी थी। कुछ समय के बाद द ग्रेट खली के भाई को भी पंजाब पुलिस में ही नौकरी मिल गई। परिवार की हालत पहले से बहुत ज्यादा सुधरने लगी थी। लंबे चौड़े कर काठी और विशालकाय शरीर को देखकर पंजाब सरकार ने इन्हें रेसलिंग ट्रेनिंग देने का विचार विमर्श किया। जब द ग्रेट खली से पूछा गया कि वह रेसलिंग करना पसंद करेंगे तो इन्होंने भी हामी भर दी। इसके बाद पंजाब सरकार के द्वारा द ग्रेट खली को रेसलिंग की जानकारी देना शुरू कर दिया गया। उन दिनों अमेरिका में रेसलिंग बहुत ज्यादा विख्यात था।

Paytm के मालिक विजय शेखर शर्मा के जीवन के संघर्ष की कहानी

कहा जाता है कि अमेरिका के अच्छी ट्रेनिंग देने के कारण वहां के रेसलर के सामने कोई भी भारतीय रेसलर टिक नहीं पाता था। जो भारत के लिए बहुत ही शर्मिंदगी वाली बात थी। यही कारण था कि कुछ दिनों के बाद भारत सरकार की नजर भी द ग्रेट खली पर पड़ी। और उन्होंने भी पंजाब सरकार को सुझाव दिया कि आप द ग्रेट खली का ट्रेनिंग उच्च स्तर से करें। 2002 ईस्वी में जब द ग्रेट खली अपनी पूरी प्रोफेशनल रेसलिंग के ट्रेनिंग के बाद अमेरिका पहुंचे। उन्होंने अमेरिका में पहली बार भारत को जीत दिलाई। यह जीत भारत के लिए बहुत बड़ी जीत साबित हुई। और द ग्रेट खली को सफलता मिलनी शुरु हो गई। इस तरह से उन्होंने ना केवल अमेरिका में बल्कि और बहुत सारे देशों में भारत का परचम लहराया। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

Inspirational Story Shah Rukh Khan 1500 से 4000 करोड़ तक का सफर

जब वह चीन और जापान प्रो रेसलिंग में शामिल थे तो उन्हें WWE से भी बुलावा आया। यह भारत के लिए बड़े ही गौरव की बात थी कि जब भारत के इतिहास में पहली बार कोई भारतीय WWE में शामिल होने जा रहा था। 2 जनवरी 2006 में द ग्रेट खली वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंट होने वाले पहले भारतीय और प्रोफेशनल रेसलर बने। यह भारत के लिए बड़े ही गौरव की बात थी कि इतिहास में पहली बार किसी भारतीय को WWE में शामिल किया गया था। आपको ये बात जानकर बड़ी हैरानी होगी कि जब पहली बार WWE में द ग्रेट खली को शामिल किया गया तो सालों से राज करने वाले अंडरटेकर का मुकाबला द ग्रेट खली से हुआ।

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali
पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

Best Inspirational Thought Success or Die करो या मरो

अंडरटेकर अपने समय में सबसे होशियार और खतरनाक WWE का फाइटर माना जाता था। wWE का बादशाह अंडरटेकर को माना जाता था। लेकिन जब पहली बार एक भारतीय द ग्रेट खली का सामना हुआ तो अंडरटेकर के समझ में भी आ गया कि द ग्रेट खली को हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। हालांकि जब पहली बार अंडरटेकर और द ग्रेट खली का सामना हुआ तो इसमें जीत किसी की भी संभव नहीं हो पाई थी। दोनों एक दूसरे को बराबर का टक्कर दे रहे थे। एक छोटे से गांव से गया हुआ द ग्रेट खली और एक प्रोफेशनल रेसलर अंडरटेकर के बीच जब युद्ध हुआ तो यह इतिहास के पन्नों में अमर हो गया था। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

सलाह और सफलता Advice does not always lead to success

कहा जाता है कि जब दोनों आपस में लड़ रहे थे ऐसा लग रहा था मानो कि दो बड़े-बड़े चट्टान आपस में टकरा रहे हो। कुछ पत्रकारों का कहना है आपस में हो रही ध्वनि के कारण वहां के लोगों का मन भी विचलित होने लगा था। दोनों एक दूसरे को बराबर तरीकों से भटक रहे थे। को एक दूसरे पर कम या ज्यादा महसूस नहीं हो रहा था। युद्ध के बाद दिलीप सिंह राणा का नाम द ग्रेट खली रखा गया था। द ग्रेट खली ने पहली बार रिंग में funaki नाम के WWE फाइटर को हराया था। funaki कि अपने समय का सबसे अब्बल रेसलर माना जाता था। लेकिन जब funaki का सामना द ग्रेट खली से हुआ तो उसे अपने हार का सामना करना पड़ा। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

Inspirational think Success is the best Revenge अपमान का जबाब सफलता से

सन 2007 से 2008 में द ग्रेट खली न्यू वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियन का खिताब अपने नाम कर लिया। इस किताब के पाने के बाद भारत सरकार द्वारा बहुत सारे पुरस्कार भी द ग्रेट खली को मिला। यह भारत सरकार के लिए बड़े ही गौरव की बात थी। आज से पहले किसी भारतीय ने वर्ल्ड लेवल पर किसी भी रेसलर को नहीं हराया था। लेकिन द ग्रेट खली के पहुंचने के बाद  भारत का नाम इतिहास के पन्नों में अमर होने लगा था। कुछ समय के बाद द ग्रेट खली का विवाह हरमिंदर कौर से हो गया और इन्हे एक हुआ पुत्र की प्राप्ति हुई। इस तरह से उन्होंने अपने जीवन में कई सारे पुरस्कार और ट्रोपी हासिल किए। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

Inspirational thought One step towards success

हालांकि इन से प्रेरित होकर बहुत सारे इंडियन फिल्म डायरेक्टर ने इन्हें फिल्म का भी ऑफर दिया। इन्होंने बहुत सारी फिल्में की भी लेकिन अपने आवाज भारी होने के कारण इंडिया में चल नहीं पाई। The Great Khali को ठीक से इंग्लिश और हिंदी भी बोलनी नहीं आती यह भी एक मुख्य कारण था कि। इनकी फिल्में भारत में प्रसिद्ध नहीं हो पाई। इनकी आवाज भी बहुत ज्यादा भारी होने के कारण फिल्मों में इनकी आवाज को डबिंग की गई जिसके कारण लोगों ने इनकी आवाज को पसंद नहीं किया। लेकिन यह जरूरी नहीं था कि द ग्रेट खली को फिल्म में काम करना आवश्यक था द ग्रेट खली का नाम पूरी दुनिया में इतना ज्यादा चर्चित हो चुका था कि इन्हें WWE में हमेशा बुलावा आने लगा। और यह अच्छे खासे पैसे वहां से कमाने लगे। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

पहचान से मिला हुआ काम कुछ समय के लिए ही होता है।

काम से मिला हुआ पहचान उम्र भर के लिए होता है ।

Inspirational Story of Arunima Sinha Mountaineer without legs

अभी के समय में द ग्रेट खली के पास किसी चीज की कोई कमी नहीं है। आपको यह बात जानकर बड़ी खुशी होगी कि द ग्रेट खली ना केवल अपने बारे में सोचते हैं बल्कि इन्होंने अपने गांव में भी बहुत सारी ऐसी सुविधाएं प्रदान की है जिससे इनका गांव विकास कर रहा है। एक समय की बात है जब उत्तराखंड में 25 फरवरी 2016 को हल्द्वानी में एक विदेशी रेसलर ने धोखे से द ग्रेट खली को घायल कर दिया। कहां जाता है कि जब रेसलिंग का खेल समाप्त हो चुका था। और द ग्रेट खली रिंग से वापस आ रहे थे तो धोखे से उस विदेशी रेसलर ने इनके सर पर कुर्सी मार दी। अचानक से चोट लगने के कारण द ग्रेट खली को हॉस्पिटल में भर्ती होना पड़ा। इनके सर में 14 टांके भी आए। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali
पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

Inspirational Story KFC Founder दिल के गहराई में उतर जाने वाली घटना

हालत बहुत गंभीर हो गई थी। जिस विदेशी रेसलर ने धोखे से इनके सर पर वार किया था उसका नाम स्टील और नॉक्स था। जब द ग्रेट खली हॉस्पिटल से बाहर निकले तो उन्होंने प्रण कर लिया था कि विदेशी रेसलर को धूल चटा कर ही मानेंगे। और मीडिया वालों के सामने ओपन चैलेंज किया कि तो यह दोनों रेसलर की एक साथ उन से सामने से आकर लड़े। हालांकि जोश में आकर द ग्रेट खली ने बहुत बड़ा डिसीजन ले लिया था। दोनों को एक साथ खड़ा पाना बहुत मुश्किल था क्योंकि वह भी अपने समय के बड़े ही अब्बल रेसलर माने जाते थे। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

चौकीदार से ले के सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक और संघर्ष की कहानी

लेकिन 28 फरवरी को फिर से उत्तराखंड में उसी जगह पर द ग्रेट खली ने उन दोनों विदेशी को एक साथ हरा कर अपना ओपन चैलेंज पूरा किया। कुछ पत्रकारों का कहना है कि जब यह दोनों विदेशी रेसलर को एक साथ रिंग में लड़ रहे थे तो ऐसा लग रहा था जैसे कोई जंगली शेर किसी भेड़िया पर टूट पड़ा हो। इन्होंने जी जान लगा कर दोनों रेसलर को धूल चटा दी। कहा जाता है कि उसमें से एक रेसलर की ऐसी हालत हो गई थी कि वह 6 महीने तक हॉस्पिटल में ही भर्ती रहा। और उसे हमेशा के लिए रेसलिंग छोड़नी पड़ी। जब द ग्रेट खली ने नोस्ट रेसलर को अपने हाथों से पकड़ा तो उस की सर की नसें दब गई थी। आप अंदाजा लगा सकते हैं कि द ग्रेट खली के हाथों में कितना दम है कि वह किसी के सर को पकड़कर उसके सर को चकनाचूर कर सकते हैं। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

इन्तजार करने को वालो को उतना ही मिलता है।
जितना कोशिस करने वाले छोड़ देते है।

Munaf Kapadia google की नौकरी छोड़ के बेचने लगे समोसा

यही हालत उस विदेशी रेसलर नॉक्स के साथ हुआ। हालांकि उसने पहले द ग्रेट खली को धोखे से वार करके उसे घायल कर दिया था लेकिन जब द ग्रेट खली ने सामने से उसका चैलेंज कबूल किया तो उन दोनों को हरा का सामना करना पड़ा।यह बात जानकर बड़ी हैरानी हुई कि दुनिया के इतने ताकतवर इंसान मांस मछली इत्यादि यों का सेवन नहीं करते हैं। द ग्रेट खली उर्फ दिलीप सिंह राणा बिल्कुल वेजिटेरियन हैं। वह हरी साग सब्जी दूध दही फल फूल इत्यादि का सेवन ही करते हैं। वह बचपन से आज तक कभी भी नॉनवेज भोजन का सेवन नहीं करते आ रहे हैं। तो आइए हम जानते हैं कि द ग्रेट खली का रोज का भोजन का सेवन है और कितना करते है। हालांकि कहीं भी यह साफ-साफ नहीं बताया गया है कि द ग्रेट खली के भोजन का पैमाना क्या है।(पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

Inspirational Story about Alibaba founder 30 बार असफल होने के बाद की सफलता

एक इंटरव्यू में द ग्रेट खली ने खुद कबूला है कि वह रोज शाम को 15 लीटर दूध और 25 उबले हुए अंडे 10 गिलास मिक्स जूस और 10 गिलास अनार का जूस पीते हैं। साधारणतौर पर देखा जाए तो यह एक साधरण इंसान के लिए पूरे महीने का खर्च होता है। बहुत सारी कुछ ऐसी अनसुनी कहानी भी है जिन्हें सुनकर आपको बहुत हैरानी होगी। कहा जाता है कि बचपन में द ग्रेट खली अगर पके हुए आम खाने की इच्छा होती थी तो वह किसी आम के पेड़ पर चढ़ नहीं पाते थे। और वह नीचे से ही आम के पेड़ में धक्के मार के पके हुए आम को नीचे गिरा देते थे। या बड़े ही आश्चर्य की बात है और विश्वास करना भी असंभव हो जाता है। लेकिन जब हम उनके भोजन के बारे में सुनते हैं जब हम जानती हैं कि उनके भोजन का सेवन इतनी बड़ी मात्रा में है तो हम अंदाजा लगा सकते हैं कि इंसान उस इंसान के अंदर कितनी शक्ति समाहित होगी। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

Inspirational Story of Sundar Pichai जमीन से आसमान तक का सफर

एक बार की बात है द ग्रेट खली एक दोस्त के घर गए और कुछ ही समय में 60 चपाती 10 कटोरी दाल और घर में बनी सारी सब्जियां खा गए। उनके इस तरह खाने से उनके दोस्त की पत्नी ने कहा कि कभी भी ऐसे इंसान को घर लेकर मत आना। एक समय की बात है एक होटल से ग्रेट खली खाना खाकर निकले और अपने घर की तरफ आ रहे थे तो उनका पैर होटल में रखे नीचे इसे 40 प्लेटो पर एक साथ पड़ गई। पैर रखते ही सारी प्लेटें चकनाचूर हो गई। ऐसी कुछ रोचक जानकारियां द ग्रेट खली के बारे में है जिस पर विश्वास कर पाना असंभव लगता है लेकिन जब भी आप इनके भोजन के सेवन के बारे में सुनेंगे तो आपको यह विश्वास करने पर मजबूर कर देगा। (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali
पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

चलता रहूँगा पथ पे चलने में माहिर बन जाऊंगा।
या मंजिल मिल जाएगी।
या फिर अच्छा मुसाफिर बन जाऊंगा

Inspirational story of Rajnikant बस कंडक्टर से सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक कहानी

आप लोगों को अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अधिक से अधिक शेयर करें। ताकी हमारे सभी देशवासियों को The Great Khali के जीवन के बारे में पता चल सके। यदि आप किसी भी तरह की कोई जानकारी The Great Khali के बारे में बतानी है तो आप हमें कमेंट में भी बता सकते हैं। हमारे इस लेखन में किसी भी तरह की कोई त्रुटि आपको नजर आती है तो आप हमें कमेंट या ईमेल कर के भी बता सकते हैं। हम उसे जल्द से जल्द सुधार करने की कोशिश करेंगे। यदि आप The Great Khali के बारे में कोई खास और रोचक जानकारी रखते हैं तो आप हमें ईमेल अथवा कमेंट के जरिए बता सकते हैं। हमें जानकारी को इस जानकारी में संलग्न करने की पूरी कोशिश करेंगे (पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali)

Inspirational Story about Elon musk in Hindi failure is the option of success

23 Comments

  1. Pingback: चौकीदार से ले के सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक और संघर्ष की कहानी | Limant
  2. Pingback: दुनिया से सबसे अमीर इंसान Bill Gates के जीवन में हुए संघर्ष से परिचय | Limant
  3. Pingback: भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी | Limant
  4. Pingback: भारत देश के महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की जीवनी | Limant
  5. Pingback: भारत के महान जासूस रविंद्र कौशिक जिसने पाकिस्तान की सेना तक ज्वाइन कर लिया | Limant
  6. Pingback: दुनिया का सबसे खतरनाक फाइटर ब्रूस ली के जीवन परिचय | Limant
  7. Pingback: Munaf Kapadia google की नौकरी छोड़ के बेचने लगे समोसा हिंदी में
  8. Pingback: क्रिकेट जगत के महान खिलाड़ी सचिन तेन्दुलकर की जीवनी | Limant
  9. Pingback: भारत के महान जासूस रविंद्र कौशिक जिसने पाकिस्तान की सेना तक ज्वाइन कर लिया | Limant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *