डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय

डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय

डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय

मधुमेह रोग की समस्या ना केवल भारत में ही नहीं बल्कि भारत के साथ साथ विश्व के बहुत सारे देशों में फैलती जा रही है मधुमेह के रोग के समस्या के कारण पूरे भारत में लगभग 55 से 70% लोग मधुमेह के रोग से प्रभावित हो चुके हैं मधुमेह के रोग अन्य देशों की अपेक्षा भारत में सबसे ज्यादा और सबसे तीव्र गति से फैलने वाला रोग माना जाता है। बूढ़े जवान यहाँ तक की बच्चे भी मधुमेह जैसे गंभीर समस्या से परेशान है। अंग्रेजी में मधुमेह के रोग को डायबिटीज के नाम से भी जाना जाता है मधुमेह डायबिटीज और शुगर के रोग एक ही रोग हैं अन्य-अन्य जगहों पर इन्हें अन्य अन्य नामों से जाना जाता है अधिकांश लोगों को यह अनुमान है कि शुगर की बीमारी इंसानों से ज्यादा मीठा खाना खाने से होता है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

लेकिन यह अनुमान बिल्कुल गलत है शुगर की बीमारी अर्थात मधुमेह की समस्या ज्यादा मीठा खाने से तो होती है। लेकिन अधिकांशतः यह परिणाम देखा जाता है कि हमारे द्वारा किए गए भोजन के सेवन से हमारे शरीर के अंदर मधुमेह अर्थात डायबिटीज की समस्या उत्पन्न होने लगती है हमारे शरीर में सूगर यानी ग्लूकोस एक ऐसा पदार्थ होता है जो हमारे शरीर की कोशिकाओं में सबसे तीव्र गति से चल के शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है लेकिन शरीर के अंदर शुगर को उर्जा में बदलने के लिए शरीर के अंदर उपस्थित इंसुलिन की आवस्यकता होती है इसी कारण से इंसान के शरीर में इंसुलिन का होना भी जरुरी है

क्योंकि शरीर में ऊर्जा के निरंतर निर्माण के लिए शुगर को इंसुलिन की आवश्यकता होती है यदि शरीर में इंसुलिन की मात्रा ना हो तो शरीर में ऊर्जा की प्राप्ति करने में काफी सारी कठिनाई उत्पन्न होने लगती है हमारे द्वारा किए गए भोजन से शरीर के अंदर पाचन तंत्र किये गए भोजन से ग्लूकोस को अलग कर देती है और यही ग्लूकोस हमारे रक्त से मिलकर इंसुलिन की मदद से ऊर्जा का निर्माण करती है और यह ऊर्जा हमारी कोशिकाओं के माध्यम से हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करती है प्रत्येक मनुष्य के पेट के अंदर अग्नाशय अंग पाए जाते हैं हमारे शरीर के अंदर अग्नाशय का मुख्य कार्य  शरीर  के अंदर इंसुलिन का निर्माण करना होता है यदि किसी कारणवश हमारे शरीर के अंदर अग्नाशय में किसी तरह की परेशानी उत्पन्न हो जाती है

या फिर हमारे शरीर के अंदर उपस्थित अग्नाशय अंग ठीक से काम नहीं करता है तो शरीर में इंसुलिन का बनना कम हो जाता है और कभी-कभी शरीर में अग्नाशय अंग के ठीक तरह से काम न करने के इंसुलिन का बनना बंद भी हो जाता है ऐसे व्यक्ति जो बाजारों खाने पर ज्यादा निर्भर रहते हैं साथ ही साथ उनके दैनिक जीवन में कई प्रकार की और भी असुविधाएं उत्पन्न होती है जैसे वह प्रतिदिन व्यायाम नहीं करते हैं साथ ही साथ पूरी नींद का ना लेना भी शरीर के अंदर इंसुलिन बनाने वाले अंग को खराब करने के लिए उपयुक्त माना जाता है साथ ही साथ जो व्यक्ति प्रतिदिन व्यायाम करते हैं और फल का सेवन करते हैं ऐसे व्यक्तियों को इंसुलिन बनाने वाले अंग में कोई प्रभाव नहीं पड़ता है और यह हमेशा स्वस्थ बना रहता है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

ज़्यादातर लोग यही सोचते है की ज्यादा चीनी और ज्यादा मीठी वस्तुओं के सेवन करने से शरीर के अंदर शुगर अर्थात मधुमेह की समस्या उत्पन्न होने लगती है लेकिन यदि किसी इंसान के शरीर के अंदर इंसुलिन बनाने वाला अंग अर्थात अग्नाशय अंग बिल्कुल स्वस्थ हो और शरीर के अंदर सही ढंग से इन्सुलिन बन रहा है तो ऐसे में कोई भी इंसान जितने भी मीठा भोजन के सेवन करने से डायबिटीज की शिकायत उत्पन्न नहीं होती है खाना खाने के द्वारा प्राप्त हुए शुगर को यदि ऊर्जा में हमारा शरीर बदलने में असमर्थ होता है तो ऐसे में शरीर के अंदर डायबिटीज के साथ कई अन्य तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगती है इस प्रकार से यदि हमारे द्वारा किए गए भोजन के सेवन से प्राप्त ग्लूकोस ऊर्जा में नहीं बदल पाता है। तो धीरे-धीरे शरीर कमजोर होने लगता है

अचानक से वजन का घटना शुरू हो जाता है। वजन का अचानक घटना भी डायबिटीज के रोग के प्रमुख लक्षण माना जाता है यदि किसी इंसान का शरीर का वजन अचानक से घटने लगे या फिर अचानक से बढ़ने लगे तो उन्हें समझ लेना चाहिए कि उन्हें शुगर या मधुमेह की रोग की समस्या उत्पन्न हो रही है मधुमेह अर्थात डायबिटीज के रोग के लक्षण में हमेशा प्यास भी लगा रहता है ऐसे व्यक्ति जिसे बार-बार प्यास लगती है गला हमेशा सूखा रहता है ऐसे व्यक्तियों को मधुमेह की समस्या उत्पन्न हो सकती है मधुमेह अर्थात डायबिटीज के रोग के लक्षण में बार बार पेशाब का आना सुरु हो जाता है। साथ ही साथ और रक्त के अंदर ज्यादा मात्रा में शुगर उपलब्ध होने के कारण कई बार मल मूत्र त्याग करने में जलन की संभावना भी बढ़ जाती है

ऐसे लक्षणों में हमें डायबिटीज अर्थात मधुमेह के रोग का उपचार करना अति आवश्यक है शुरुआती दौर में किया गया उपचार हमें मधुमेह जैसे खतरनाक रोग से बचा सकती है डायबिटीज या मधुमेह रोग के समस्या होने के कारण शरीर के अंदर इम्यून सिस्टम अर्थात रोग प्रतिरोधक क्षमता भी धीरे-धीरे कम होने लगती है जिस कारण से कमजोर से कमजोर बीमारी भी हमारे शरीर को बड़ा आघात पहुंचा सकती है मधुमेह के रोग की समस्या अर्थात डायबिटीज की समस्या अधिक होने के कारण किसी इंसान के शरीर में रक्त में चीनी की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है। रक्त में चीनी के मात्रा अधिक बढ़ने के कारण यह कई अन्य रोग को भी शरीर के अंदर उत्पन्न कर देती है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

जैसे की ब्लड प्रेशर ,किडनी का खराब होना, आंखों में अंधापन, दिल की धड़कन की परेशानियां रक्त विकार इत्यादि शरीर के अंदर मधुमेह के रोग के समस्या के कारण होती है मधुमेह एक ऐसी खतरनाक रोग है जो खुद के साथ शरीर के अंदर कई अन्य तरह की बीमारियों को उत्पन्न करने में सफल साबित होती है मधुमेह के रोग अर्थात डायबिटीज के रोग में हमें शुरुआती समय में इसके उपचार कर लेना अति आवश्यक है क्योंकि आगे चलके मधुमेह के रोग में कई अन्य तरह की परेशानियां उत्पन्न होने लगती है यदि शुरुआती दौर में मधुमेह अर्थात डायबिटीज के रोग को उपचार किया जाए तो यह पूर्ण रूप से सही किया जा सकता है

कई बार देखा जाता है कि मधुमेह अर्थात डायबिटीज के रोग की समस्या में रोगी रसायनिक दवाइयों के सेवन करने लगते है लेकिन रासायनिक दवाइयों के सेवन करने से शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे मधुमेह की बीमारी अर्थात डायबिटीज की समस्या को कुछ समय के लिए खत्म किया जा सकता है जैसा की आप सभी जानते हैं कि मधुमेह की समस्या को पूर्ण रूप से खत्म करने वाली ऐसी कोई भी रसायनिक दवाई नहीं बन पाई है रासायनिक दवाइयों की कंपनी बस दावा करती है कि उनके द्वारा बनायीं गई दवाइयों के सेवन करने से मधुमेह अर्थात डायबिटीज की समस्या को खत्म किया जा सकता है लेकिन यह बिल्कुल गलत है (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

रासायनिक दवाइयों के सेवन करने से शरीर के अंदर बढ़ रहे शुगर लेवल को थोड़ी मात्रा में कम किया जा सकता है लेकिन पूर्ण रूप से खत्म नहीं किया जा सकता है। साथ ही साथ यदि कोई डायबिटीज से पीड़ित रोगी रासायनिक दवाइयों का सेवन करना शुरू कर देते है ऐसे में रासायनिक दवाइयों के सेवन करने से शरीर के अंदर कई अन्य प्रकार के साइड इफेक्ट उत्पन्न होने लगते हैं यदि ऐसे में रोगी पहले से किसी अन्य रोग से पीड़ित है जैसे दिल की बीमारी, किडनी की समस्या से जुड़ी किसी तरह की परेशानी ऐसे में ऐसे रोगी को साइड इफेक्ट के कारण रोगो को बढ़ावा मिलता है हमें ऐसे में डायबिटीज की समस्याओं में प्राकृतिक औषधि से उपचार का करना अति आवश्यक है

हालांकि प्राकृतिक और औषधीय उपचार करने में हमारे बीमारियों को जड़ से खत्म करने में कुछ समय लग जाता है लेकिन आयुर्वेदिक और प्राकृतिक उपचार से हमारे शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे रोग को जड़ से खत्म किया जा सकता है। आइये हम कुछ ऐसे घरेलू नुस्खों के बारे में जानते हैं जिनके सेवन करने से शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे मधुमेह अर्थात डायबिटीज की समस्या को हमेशा के लिए जड़ से खत्म किया जा सकता है पहले औषधि के निर्माण के लिए हमें गुड़हल के पत्ते की आवश्यकता होगी गुड़हल का पता आसानी से मिल जाने वाला प्राकृतिक औषधीय पेड़ माना जाता है इसके सेवन करने से शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे शुगर अर्थात डायबिटीज की समस्या को हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

इस औषधि के निर्माण के लिए हमें गुड़हल की सात से आठ पत्ते को लेना है इस पत्ते को अच्छी तरह से धो लेना है। फिर इसे पीस लेना है अच्छी तरह से पीस लेने के बाद इसे एक गिलास पानी में दो से तीन चम्मच गुड़हल के इस पेस्ट को डालकर रात भर पानी में फूलने के लिए छोड़ देना है सुबह उठकर खाली पेट इस पानी के सेवन करने से शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे डायबिटीज की समस्या में काफी राहत महसूस होती है डायबिटीज की समस्या में गुड़हल के पत्ते का सेवन रामबाण औषधि माना जाता है जैसा की आप सभी जानते हैं कि गुड़हल का पत्ता एक प्राकृतिक देन है जिस कारण से इसके सेवन करने से शरीर के अंदर किसी भी तरह के साइड इफ़ेक्ट होने की संभावना नहीं होती है

डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय
डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय

साथ ही साथ गुड़हल के पत्ते के सेवन करने के और भी तरीके हैं लेकिन डायबिटीज से पीड़ित रोगी के पानी के साथ ही सेवन करना होता है गुड़हल के पत्ते में भरपूर मात्रा में ओलिक एसिड पाया जाता है।  ओलिक एसिड मधुमेह के रोग को जड़ से खत्म करने में सफल साबित होता है लगातार 15 से 20 दिन तक इस औषधि के सेवन करने से शरीर के अंदर फ़ैल रहे शुगर के रोग में अर्थात डायबिटीज की समस्या में काफी सुधार प्राप्त होता है दूसरे औषधि के निर्माण के लिए हमें सहजन के पत्ते की आवश्यकता होगी सहजन प्रत्येक गांव में आसानी से प्राप्त हो जाने वाला पदार्थ है सहजन साधारण सा दिखने वाला पेड़  शुगर डायबिटीज के रोग में पीड़ित रोगी को काफी राहत देता है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

सहजन के पत्ते की औषधि बनाने के लिए हमें सहजन की 30 से 40 पत्तियों की आवश्यकता होगी 30 से 40 सहजन की पत्ती को लेकर इसे अच्छे से धो लेना है पत्तियों को धोने के बाद इसे अच्छे से पीस के इसका चटनी अर्थात पेस्ट तैयार कर लेना है इस पेस्ट को एक गिलास पानी में मिलाकर रोजाना 15 से 20 दिन तक सेवन करने से शरीर के अंदर फैल रहे डायबिटीज अर्थात मधुमेह के रोग में काफी सुधार प्राप्त होता है इस औषधि के सेवन करने में हमें यह बात ध्यान रखना है कि जब भी हम इस औषधि का सेवन कर रहे हो तो हमें एक घंटा पहले और 1 घंटा बाद किसी भी तरह के अन्य दवाई अर्थात रासायनिक दवाइयों का सेवन नहीं करना है

डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय
डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय

सहजन के पत्ते के अंदर भरपूर मात्रा में एस्कॉर्बिक एसिड पाया जाता है जो शरीर के अंदर कम हो रहे इंसुलिन के क्षमता को प्राकृतिक रूप से बढ़ाने में मदद करता है यदि शरीर के अंदर कम हो रहे इंसुलिन को किसी माध्यम से बढ़ाया जाए तो यह हमारे शरीर के अंदर शुगर की अर्थात मधुमेह की समस्या को जड़ से खत्म करने में सफल साबित होता है। आइये अब हम अगले नुस्खे के बारे में जानते हैं अगली औषधि के निर्माण के लिए हमें तेजपत्ता, बेल के पत्ते, और जामुन के फल या फिर जामुन के बीज दोनों की आवश्यकता पड़ सकती है यदि किसी व्यक्ति को जामुन के फल प्राप्त करने में किसी प्रकार की कठिनाई उत्पन्न होती है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

तो जामुन के बीज के उपयोग से भी इस औषधि का निर्माण कर सकते हैं इसके साथ साथ हमें इस औषधि के निर्माण में मेथी के दाने का भी उपयोग करना है मेथी के दाने के अंदर बहुत सारे ऐसे आयुर्वेदिक और योोगीक गुण मौजूद है जो शरीर के अंदर ना केवल डायबिटीज की समस्या बल्कि यह शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे कई अन्य तरह की समस्याओं को भी जड़ से खत्म करने में सफल साबित होता है इस औषधि के निर्माण के लिए आपको बेल के पत्ते और जामुन के फल या जामुन के बीज को धूप में सुखाकर इसे अच्छे से कूटकर इसका पाउडर बना लेना है इसके बाद 100  ग्राम जामुन के बीज के पाउडर में 200 ग्राम बेलपत्र के पाउडर को अच्छी तरह से मिक्स कर लेना है

इसके बाद इसमें 50 ग्राम तेजपत्ते के पाउडर को मिलाएं और फिर 50 ग्राम मेथी दाना के पाउडर को मिलाए इसके बाद इन सभी सूखे हुए पाउडर को अच्छी तरह आपस में मिक्स कर लेना है हमारा औषधि तैयार हो चुका है अब इस औषधि का सेवन हमें प्रतिदिन खाना खाने से आधा घंटा पहले या आधा घंटा बाद गर्म पानी अर्थात गुनगुने पानी के साथ दो चम्मच पाउडर का सेवन करना है लगभग 14 से 15 दिन लगातार इस पाउडर की सेवन करने से शरीर के अंदर शुगर की बीमारी को पूर्ण रूप से जड़ से खत्म किया जा सकता है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

यदि आपको इस औषधि के निर्माण करने की विधि समझ में नहीं आ रही हो तो आप इसके निर्माण करने की विधि को किसी कागज पर लिख ले ताकि आपको इसऔषधि के निर्माण करने में किसी प्रकार का कोई कठिनाई उत्पन्न ना हो। आइये अब हम अगले औषधि के बारे में जानते है।आप सभी ने बेल का नाम अवस्य सुना होगा। बेल एक ऐसा औषधीय फल और पेड़ माना जाता है जिसके अंदर कई तरह के रोगों को जड़ से खत्म करने की क्षमता पाई जाती है बेलपत्र के अंदर एंटीबायोटिक प्रॉपर्टीज पाई जाती है जो शरीर के अंदर उत्पन्न हो रहे डायबिटीज अर्थात मधुमेह के रोग को जड़ से खत्म करने में मदद करती है (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

साथ ही साथ जामुन के अंदर भी एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज पाई जाती है जो शरीर के अंदर मधुमेह की बीमारी को जड़ से खत्म करने में मदद करती है साथ ही साथ लगातार जामुन के सेवन करने से शरीर के अंदर पेट की जुड़ी समस्याओ को समाप्त किया जा सकता है जामुन एक ऐसा प्राकृतिक फल है जिसके अंदर कई सारे रोगों को जड़ से समाप्त करने की क्षमता पाई जाती है डायबिटीज के समस्या को कम समय में समाप्त करने के लिए करेले का जूस का सेवन करना भी आवश्यक है करेले के जूस के सेवन करने से शरीर के अंदर शुगर के बढ़े हुए लेवल को काफी हद तक समाप्त किया या कम किया जा सकता है (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

 शुगर अर्थात मधुमेह के रोग के लक्षण शरीर के अंदर शुगर के लेवल के बढ़ने के कारण हो जाता है ऐसे में कड़वी चीजों का सेवन करना शरीर के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है जैसे नीम की पत्ती, एलोवेरा का जूस, करेले का जूस इत्यादि का सेवन करना बढ़े हुए शुगर लेवल को कम करने में अर्थात पूरी तरह से समाप्त करने में मदद करता है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

यदि आप सभी को मेरे द्वारा दी गई मधुमेह अर्थात डायबिटीज की यह जानकारी पसंद आई हो तो आप उसे अपने दोस्त और परिवार के बीच अवश्य कर दे ताकि मधुमेह अर्थात डायबिटीज से पीड़ित सभी रोगी को इस जानकारी का लाभ प्राप्त हो सके हमारे भारत में प्रत्येक 2 मिनट पर एक मधुमेह से पीड़ित रोगी की मृत्यु हो जाती है ऐसे में मेरे द्वारा दी गई है जानकारी और घरेलू नुस्खे मधुमेह से पीड़ित रोगी की जान बचा सकती है आपके द्वारा शेयर किए जाने के बाद यह जानकारी कई पीड़ित रोगी को रोग से मुक्ति दिलाने में मदद कर सकती है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

यदि आप सभी को मधुमेह के बारे में दी गई जानकारी के ऊपर कुछ पूछना हो या आप इस जानकारी के संदर्भ में कुछ बताना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं आपको मधुमेह से जुड़ी समस्याओं के बारे में कमेंट करने का विकल्प इस पोस्ट के नीचे आसानी से प्राप्त हो जाएगा यदि आप किसी खास मुद्दे पर हमसे बातचीत करना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट करके मैसेज करके और ईमेल करके बता सकते हैं मैसेज करने का विकल्प आपको हमारी वेबसाइट पर जाकर व्हाट्सएप के जरिए आसानी से प्राप्त हो जाएगा यदि आप मधुमेह अर्थात डायबिटीज के रूप से जुड़ी किसी अन्य जानकारी को रखते हैं या फिर आप मधुमेह अर्थात डायबिटीज के रूप को समाप्त करने के घरेलू नुस्खे बारे में विस्तार से जानते हैं (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

तो आप हमारे साथ उन दोस्तों को शेयर कर सकते हैं आपके द्वारा बताए गए जानकारी सत्य साबित होती है तो हम आपके द्वारा बताए गए जानकारी को अपने व्यवसाय पर संलग्न करेंगे यदि आपको इस जानकारी के पढ़ने के दौरान किसी प्रकार का दुविधा है या परेशानी उत्पन्न होता है तो आप हमें कमेंट करके या ईमेल करके बता सकते हैं हम समय-समय पर अपने द्वारा दिए गए जानकारी को अपडेट करते रहते हैं ऐसे में आपके द्वारा दिया गया जानकारी हमारे लिए और डायबिटीज से पीड़ित उन सभी लोगों के लिए कारगर साबित हो सकता है  (डायबिटीज (Diabetes) मधुमेह रोग के कारण लक्षण और उपचार के उपाय)

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
WhatsApp us