औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था

औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था

औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था

Limant Post के सभी पाठको का बहुत बहुत स्वागत है। मेरा नाम विक्रमादित्य रंजन है। आज मैआप सभी को एक ऐसे इतिहास के मुगल शासक की कहानी बताने जा रहा हु जो अपने कट्टरपंथी के लिए आज तक जाना जाता है। उसकी कट्टरपंथी का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं। कि उसने अपने पिता तक को नहीं छोड़ा था। आज हम अपने इस लेख में बात करने वाले हैं। शाहजहां के बेटे औरंगजेब के बारे में, और आपको बताएंगे उसका संपूर्ण जीवन और उसके इतिहास के बारे में, सबसे पहले औरंगजेब का पूरा नाम अबुल मुज़फ़्फ़र मुहिउद्दीन मुहम्मद औरंगज़ेब आलमगीर था। औरंगजेब का जन्म 14 अक्टूबर 1618 में दाहोद गुजरात में हुआ था। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

औरंगजेब के माता पिता का नाम मुमताज और शाहजहां था। औरंगजेब भारत देश का एक महान मुगल शासक था। जिसने भारत में कई वर्षों तक राज्य किया हुआ था। औरंगज़ेब 6 नंबर का मुगल शासक था। जिसने भारत में शासन किया था। औरंगजेब ने 1658 इसवी से 1760 तक लगभग 49 साल तक शासन किया था। अकबर के बाद औरंगज़ेब पहला ऐसा मुग़ल शासक था जिसने भारत पे इतने लम्बे समय तक शासन किया था। इसकी मौत के बाद मुगल एंपायर पूरी तरह हिल गया था। और धीरे-धीरे खत्म होने लगा था। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

Microsoft Corporation के मालिक Bill Gates की जीवनी

Stephen Hawking स्टीफन हॉकिंग की जीवनी और सफलता

Albert Einstein अल्बर्ट आइंस्टीन का जीवन परिचय और योगदान

सरदार पटेल की जीवनी और राष्ट्रीय एकता में सरदार पटेल की भूमिका

प्लासी युद्ध क्या है कब और किसके बीच में युद्ध लड़ी गई

नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जीवन परिचय एवं कुछ रोचक तथ्य

स्वराज रचयिता बाल गंगाधर तिलक के जीवन और उपलब्धियां

Inspirational Story प्रेरणादायक कहानी Value of Life जीवन का मूल्य क्या है

भगवान की भक्ति क्या है

पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन की जानकारी

औरंगजेब ने अपने पूर्वज के काम को बखूबी आगे बढ़ाया था। अकबर ने जिस तरह मेहनत व लगन से मुगल साम्राज्य को खड़ा किया था। औरंगजेब ने भी इस साम्राज्य को और ज्यादा स्मृति प्रदान की थी। और भारत में मुगलों का साम्राज्य को और ज्यादा बढ़ाया था। लेकिन औरंगजेब को उसकी प्रजा ज्यादा पसंद नहीं करती थी। जिसकी वजह थी, उसका व्यवहार औरंगजेब अपनी कट्टरपंथी पक्के मुसलमान और कठोर किस्म के राजा के रूप में जाना जाता था। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

अकबर ने हिंदू मुस्लिम एकता को बढ़ावा दिया था। एक अकबर थे, जिन्होंने अपनी हिंदू प्रजा की जरूरतों का भी ख्याल रखा था। लेकिन औरंगजेब सीधा इसके उलट था। औरंगजेब ने अपने नाम के आगे आलमगीर स्वयं लगाया था। जिसका अर्थ था विश्व विजेता, औरंगजेब की 4 बेटियां भी थी। औरंगजेब कुल 6 भाई बहन था। जिसमें से वह शाहजहां के तीसरे नंबर का पुत्र था। आइये अब जानते है, औरंगजेब की शुरुआती जीवन के बारे में, औरंगजेब बाबर के खानदान का था। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

गुरु नानक देव जी के जीवन के संघर्ष की जानकारी

भारत की प्रथम महिला अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला

Patanjali और बाबा रामदेव बालकृष्ण के जीवन का परिचय

Rolex घड़ी के मालिक Hans Wilsdorf की सफलता की कहानी

भारत रत्न से सम्मानित डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर का जीवन परिचय

Amazon.com के मालिक Jeff Bezos की सफलता की जानकारी

क्रिकेट जगत के महान खिलाड़ी सचिन तेन्दुलकर की जीवनी

कैसे बना क्रिस्टियानो रोनाल्डो दुनिया का सबसे महंगा खिलाड़ी

हॉकी के भगवान कहे जाने वाले मेजर ध्यानचंद के जीवनी

दुनिया का सबसे खतरनाक फाइटर ब्रूस ली के जीवन परिचय

जिसको मुगल साम्राज्य का संस्थापक माना जाता है। औरंगजेब के जन्म के समय उसके पिता का सहजहॉ गुजरात के गवर्नर थे। महज 9 साल की उम्र में ही औरंगजेब को उसके दादा जहांगीर द्वारा लाहौर में बंधक बना लिया गया था। इसकी वजह थी उनके पिता का युद्ध में असफल हो जाना, इसके 2 साल बाद इनकी 1628 में शाहजहां आगरा के राजा घोषित किए गए, तब औरंगजेब व उनके बड़े भाई दारा सिंह को वापस अपने माता पिता के साथ रहने लगे। एक बार 1633 में आगरा में कुछ जंगली हाथियों ने हमला बोल दिया था। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

जिससे प्रजा में भगदड़ मच गई। औरंगजेब ने बड़ी बहादुरी से अपनी जान को जोखिम में डाल इन हाथियों से मुकाबला किया। और एक कोठरी में बंद किया। यह देख उसके पिता बहुत खुश हुए। और औरंगजेब को सोने से तौल दिया। और उसे बहादुर की उपाधि दी। अपनी सूझबूझ से औरंगजेब अपने पिता का सबसे प्यारा बेटा बन गया। महज 18 साल की उम्र में उसे 1636 में दक्कन का सूबेदार बनाया गया। 1637 में औरंगजेब ने सखविद की राजकुमारी दिलराज बानो बेगम से निकाह किया। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

भारत के महान जासूस रविंद्र कौशिक जिसने पाकिस्तान की सेना तक ज्वाइन कर लिया

स्वामी विवेकानन्द के जीवन के संघर्ष और सफलता की जानकारी

वीर भगत सिंह और उनके साथी क्रन्तिकारी के जिन्दादिली संघर्ष

Abraham Lincoln अमेरिका के 16वे राष्ट्रपति जीवन की संघर्ष की कहानी

अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार

भारत देश के महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की जीवनी

भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

छत्रपती शिवाजी महाराज के जीवन की संघर्ष से विजेता का सम्पूर्ण कथा

दुनिया से सबसे अमीर इंसान Bill Gates के जीवन में हुए संघर्ष से परिचय

Comedian कपिल शर्मा के जीवन के संघर्ष से सफलता तक का सफ़र

यह औरंगजेब की पहली पत्नी थी। इसके बाद 1644 में औरंगज़ेब की एक बहन की अचानक मृत्यु हो गई। इतनी बड़ी बात होने के बावजूद भी औरंगजेब तुरंत अपने घर आगरा नहीं गया। यही वजह थी जो औरंगजेब के घर में पारिवारिक विवाद का सबसे बड़ा कारण बना। इस बात से आघाट शाहजहां ने औरंगजेब को ढक्कन के सुविदार के पद से हटा दिया। साथ ही साथ उसके सारे राज्य अधिकार छीन लिए गए। और उसको दरबार में आने से मनाही कर दी गई। शाहजहां का गुस्सा शांत होने पर उन्होंने 1645 में औरंगजेब को गुजरात का सूबेदार बना दिया। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

यह मुगल साम्राज्य का सबसे अमीर प्रांत था। औरंगजेब ने यहां अच्छा काम किया। जिसके चलते उसे अफगानिस्तान का गवर्नर भी बना दिया गया था। 1653 में औरंगजेब को फिर से एक बार ढक्कन का सूबेदार बनाया गया। उसने अकबर द्वारा बनाए गए राजस्व नियम को दक्षिण में भी लागू कर दिया। इस समय औरंगजेब के बड़े भाई दारा शिकोह अपने पिता शाहजहां के प्यारे बेटे थे। वह उनके मुख्य सलाहकार थे। 1657 में शाहजहां बहुत बीमार पड़ गए। जिसके चलते तीनों भाइयों में सत्ता को लेकर जंग छिड़ गई।

सच बोलने के माध्यम से अपने जीवन में खुशी और शांति प्राप्त करे

प्रेरणादायक कहानी तांगा चलने वाला धर्मपाल गुलाटी कैसे बने MDH मसाले कम्पनी के मालिक

ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम के जीवन के प्रेरणादायक सफर हिंदी में जानकारी

प्रेरणादायक विचार जब दर्द नहीं था सीने में तो खाक मजा था जीने में Limant Post

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह की जीवनी और इनके जीवन की प्रेरणदायक कहानी

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

प्रेरणादायक कहानी दशरथ मांझी मनुष्य जब जोड़ लगता है पत्थर पानी बन जाता है

Paytm के मालिक विजय शेखर शर्मा के जीवन के संघर्ष की कहानी

Inspirational Story Shah Rukh Khan 1500 से 4000 करोड़ तक का सफर

तीनों में औरंगजेब सबसे अधिक बलवान था। उन्होंने अपने पिता सहजहॉ को बंदी बना लिया। वह भाइयों को फांसी दे दी। इसके बाद औरंगजेब ने अपना राज्य अभिषेक खुद ही कराया। इस वजह से औरंगजेब पर पूरा मुगल साम्राज्य के समय थू थू करती थी। और प्रजा भी उससे नफरत करती थी। औरंगजेब ने अपने पिता को भी मारने की कोशिश की थी। लेकिन कुछ वफादारओं के चलते हुए ऐसा नहीं कर सका।

और अब बात करते हैं, औरंगजेब के शासन का, औरंगजेब पूरे भारत को मुस्लिम देश बनाना चाहता था। उसने हिंदू पर बहुत जुल्म किए, वह हिंदू त्योहारों को मनाना पूरी तरह से बंद करा दिया। औरंगजेब ने गैर मुस्लिम समुदाय के लोगों पर अतिरिक्त कर भी लगाया था। वह कश्मीर के लोगों पर मुस्लिम धर्म अपनाने के लिए जोड़ भी डालता था। जब सिख गुरु तेग बहादुर ने कश्मीरी लोगों के साथ खड़े होकर इस बात का विरोध किया औरंगजेब ने उन्हें भी फांसी दे दी। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

Best Inspirational Thought Success or Die करो या मरो

सलाह और सफलता Advice does not always lead to success

चौकीदार से ले के सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक और संघर्ष की कहानी

Munaf Kapadia google की नौकरी छोड़ के बेचने लगे समोसा

Inspirational Story about Alibaba founder 30 बार असफल होने के बाद की सफलता

Inspirational Story of Sundar Pichai जमीन से आसमान तक का सफर

औरंगजेब ने अपने शासनकाल में बहुत से मंदिर तोड़ दिए। उसके मस्जिद का निर्माण करवाया। औरंगजेब ने अपने शासनकाल में सती प्रथा को एक बार फिर से शुरू करवा दिया था। औरंगजेब के राज्य में मांस खाना शराब पीना वेश्यावृत्ति जैसे कार्य बढ़ते गए। हिंदुओं को मुगल साम्राज्य में कोई भी काम नहीं दिया जाता था। औरंगजेब के बढ़ते अत्याचार को देखते हुए 1660 में मराठाओ ने औरंगज़ेब के खिलाफ बिद्रोह कर दिया।इसके बाद 1669 जाट ने 1672 में सतनामी ने 1675 ईसवी में सिख ने और 1679 में राजपूत ने औरंगजेब के खिलाफ आवाज उठाई। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

1686 में अंग्रेजों की इंडिया कंपनी ने भी औरंगजेब के खिलाफ विद्रोह किया। औरंगजेब ने इनमें से बहुत सी लड़ाई तो जीती। लेकिन जीत हमेशा एक के साथ नहीं रहती। एक के बाद एक लगातार विद्रोह से पूरा मुगल साम्राज्य हील गया। और उसकी एकता टूटने लगी। औरंगजेब कीकड़ी तपस्या भी काम नहीं आई। साम्राज्य से कला नाच संगीत दूर होते चला गया। ना यहां बड़ों की इज्जत होती ना औरतों का सम्मान किया जाता। पूरा साम्राज्य इस्लाम की रूढ़ीवादी बातों के तले दबता चला गया। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

Inspirational story of Rajnikant बस कंडक्टर से सुपरस्टार तक की प्रेरणादायक कहानी

Inspirational Story about Elon musk

औरंगजेब के पूरे शासनकाल में वह हमेशा युद्ध चढ़ाई करने में व्यस्त रहा। कट्टर मुस्लिम होने की वजह से हिंदू राजा इसके बहुत बड़े दुश्मन बन गए। शिवाजी इनकी दुश्मन की सूची में प्रथम स्थान पर थे। औरंगज़ेब ने शिवाजी को बंदी बनाया था। लेकिन शिवाजी वह से भाग निकले थे। अपने सेना के साथ मिलकर शिवाजी ने औरंगजेब से युद्ध किया। और औरंगजेब को हरा दिया। इस तरह मुगलो का शासन खत्म होने लगा। 90 साल की उम्र में 3 मार्च 1707 में औरंगजेब की मौत हो गई। 50 साल के शासन में औरंगजेब ने अपने इतने विद्रोही बढ़ा लिए थे, की उसके मरते ही मुगल साम्राज्य का अंत हो गया। उसके पूर्वज बाबर मुगल साम्राज्य के संस्थापक माने जाते हैं।

और औरंगजेब इस साम्राज्य के अंत का कारण बना। औरंगजेब ने ही दिल्ली के लाल किले में मोती मस्जिद बनवाई थी। इसमें कोई दो राय नहीं कि औरंगजेब एक महान शासक था। लेकिन अपनी कट्टरपंथी और जालिम स्वभाव के कारण वह सब का दुश्मन बन बैठा, उसकी मृत्यु के 15 से 16 वर्ष बाद ही मुगल साम्राज्य का अंत हो गया। प्रोफेसर कादरी मुगल शासन काल के बारे में लिखते हैं। कि बाबर ने मुगल राज्य के भवन के लिए मैदान साफ किया। हुमायूं ने उसकी न्यू डाली, अकबर ने उस पर सुंदर भवन खड़ा किया। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

जहांगीर ने उसे सजाया संवारा, शाहजहां ने उस में निवास कर आनंद किया, लेकिन औरंगजेब ने उसे विध्वंस कर दिया था। एक ज्ञान की बात जो सिरफिरे होते हैं, वही इतिहास लिखते हैं, समझदार तो सिर्फ उनके बारे में पढ़ते हैं, आशा करता हु आप सब को हमारे द्वारा इस लेख में बताया गया इतिहास पसंद आया होगा। (औरंगजेब कौन था कट्टरपंथी औरंगजेब का इतिहास क्या था)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *