अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार

अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार

अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार

आज मैं आप सभी को बताने जा रहा हूं। हिंदी फिल्म जगत के शहंशाह और अमिताभ बच्चन के नाम से प्रसिद्ध सदी के सबसे बड़े महानायक अमिताभ बच्चन की। मुझे ज्ञात है कि आप सभी ने अमिताभ बच्चन के बारे में अवश्य सुना होगा। भारत देश के अथवा भारत देश के बाहर भी अमिताभ बच्चन के चाहने वालों की कमी नहीं है। इनके दमदार अभिनय और जोरदार आवाज के कारण इन्हें नेशनल फिल्म अवार्ड भी दिया जा चुका है। यही नहीं अमिताभ बच्चन के अच्छे अभिनय के कारण भारत सरकार के द्वारा इन्हें पदम श्री और पदम भूषण से भी सम्मानित किया जा चुका है। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

सलाह और सफलता Advice does not always lead to success

लेकिन अमिताभ बच्चन के जिंदगी के शुरुआती दौर में ऐसा कुछ भी नहीं था। उन्होंने अपनी इस मंजिल को पाने के लिए बहुत कठिन सफर का सामना किया है। सुनने में यह आश्चर्य लगेगा कि एक्टर को फिल्म में आने में काफी संघर्ष का सामना करना पड़ता है। लेकिन वही अमिताभ बच्चन को फिल्म में आने से पहले भी कई संघर्ष से गुजरना पड़ा। और फिल्में में आने के बाद भी इनका संघर्ष जारी रहा। अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर 1942 के उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले में हुआ था। अमिताभ बच्चन ने जब शुरुआती दौर में फिल्म जगत में कदम रखा। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

Best Inspirational Thought Success or Die करो या मरो

तो इनके सारे फिल्म फ्लॉप होते जा रहे थे। इसी कारण से इनके साथ काम करने वाले सभी लोगों ने इन्हें वापस घर जाने तक को कह दिया। लेकिन अमिताभ बच्चन ने अपने संघर्ष को जारी रखा और और मेहनत करते रहे। अमिताभ बच्चन के पिता का नाम हरिवंश राय बच्चन था। जो एक जाने माने कवि थे। इनके कई सारी कविताएं आज भी हमारे दिल में हरिवंश राय बच्चन की छवि को निखारती है। अमिताभ बच्चन के माता का नाम तेजी बच्चन था। अमिताभ बच्चन की माता समाज सेविका का काम किया करती थी। अमिताभ बच्चन के जन्म होने के बाद अमिताभ बच्चन के माता-पिता ने इनका नाम इंकलाब रखा था। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

Inspirational Story Shah Rukh Khan 1500 से 4000 करोड़ तक का सफर

कहां जाता है कि जब अमिताभ बच्चन का जन्म हुआ था। तो उस समय भारत में क्रांतिकारियों का इंकलाब का नारा बड़े जोर शोर से गूंज रहा था। और इनके पिता हरिवंश राय बच्चन भी उस समय भारत की आजादी के लिए जोर शोर से संघर्ष कर रहे थे। इसी कारण से हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन ने अपने पुत्र का नाम इंकलाब रखा। लेकिन आगे चलकर हम हरिवंश राय बच्चन के एक करीबी मित्र सुमित्रानंद पंत के कहने पर उन्होंने अपने पुत्र का नाम इंकलाब से अमिताभ रखा। इनका कहना था कि अमिताभ नाम इसके लिए बहुत उपयुक्त है। और अमिताभ का मतलब होता है कि चारों तरफ प्रकाश को फैलाना। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

Paytm के मालिक विजय शेखर शर्मा के जीवन के संघर्ष की कहानी

हरिवंश राय बच्चन हमेशा से चाहते थे। कि उनकी पुत्र की की ख्याति पूरे भारत देश में फैले। अमिताभ बच्चन का शुरुआती पढ़ाई उनके घर इलाहाबाद मैरी स्कूल से ही प्रारंभ हुआ। अपने प्रारंभिक पढ़ाई पूरी करने के बाद अमिताभ बच्चन नैनीताल के एक बहुत ही अच्छे कॉलेज मैं एडमिशन लिया जहां उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ अपने अभिनय का काम भी जारी रखा। जब इन्होंने नैनीताल से अपनी पढ़ाई पूरी कर ली। तो यह वापस दिल्ली आ गए। दिल्ली आने के बाद इन्होंने करोड़ीमल कॉलेज में दाखिला लिया। जहां उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के बाद अमिताभ बच्चन ने जगह-जगह घूमकर नौकरी की तलाश की। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

प्रेरणादायक कहानी दशरथ मांझी मनुष्य जब जोड़ लगता है पत्थर पानी बन जाता है

लेकिन इन्हें हर जगह से निराशा हाथ लगी। ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद भी जब इन्हें कहीं किसी तरह का नौकरी नहीं मिल रहा था तो अपने एक दोस्त के कहे अनुसार उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो में नौकरी के लिए अपना किस्मत आजमाने की सोची। लेकिन कहां जाता है कि जब यह अपना जॉब लेने ऑल इंडिया के ऑफिस पहुंचे तो रिजेक्ट कर दिया गया। कि इनकी आवाज बहुत मोटी है। यहां भी अमिताभ बच्चन को नौकरी न मिलने के कारण यह बहुत ही हताश हुए और अपने दोस्त के साथ वापस कोलकाता आ गए। कहां जाता है कि अमिताभ बच्चन ने अपने जीवन के 5 साल तक कोलकाता में ही रहे। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

India Tv के मालिक रजत शर्मा के जीवन की संघर्षपूर्ण सफर की कहानी

यहां इन्होंने कई सारी कंपनियों में कम सैलरी पर भी काम किया। लेकिन शुरूआत से ही अमिताभ बच्चन के मन में अभिनय करने का संकल्प बन चुका था। इसी कारण से अपने जीवन को चलाने के लिए तो कई जगह पर अपने नौकरी के लिए दरबदर भटकते रहे। लेकिन दूसरी तरफ उन्होंने अपने मन में यह सोच रखा था। आगे उन्हें अभिनय हीं करना है। यही सब सोचकर 1968 में अमिताभ बच्चन अपने आपको फिल्म जगत में आजमाने के लिए मुंबई आ गए। जैसा की मैंने आप सभी को पहले भी बताया है। कि दिल्ली में जहां इन्हें मोटी आवाज के कारण नौकरी नहीं मिली और इन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह की जीवनी और इनके जीवन की प्रेरणदायक कहानी

वहीं मुंबई में इनकी फिल्मों में शुरुआत इनके आवाज बदौलत ही हुई। मुंबई आने के बाद शुरुआती दौर में अमिताभ बच्चन ने अपने फिल्म जगत में वॉइस ट्रांसलेटर के जगह पर काम करना शुरू किया। अमिताभ बच्चन के पिता की राजीव गांधी से अच्छी पहचान होने के कारण उन्हें फिल्मों में आने में ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा। 1969 में अमिताभ बच्चन को एक फिल्म सात हिंदुस्तानी में अभिनय करने का मौका मिला। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण अमिताभ बच्चन की यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर धमाल नहीं मचा पाई। और यह फिल्म बहुत बुरी तरीके से फ्लॉप हो गई। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

पत्थर उठाने वाला दिलीप सिंह राणा बन गया The Great Khali

पहले फिल्म में इस तरह से निराशा हाथ लगने के बाद भी अमिताभ बच्चन ने हार नहीं मानी और अपनी कोशिश को आगे बरकरार बनाए रखा। ऐसी लगन और मेहनत के कारण 1970 में अमिताभ बच्चन को मुंबई टॉकीज में काम करने का फिर से मौका मिला। लेकिन इस बार फिर से अमिताभ बच्चन को निराशा हाथ लगी। और उनके द्वारा बनाई गई यह फिल्म फिर से फ्लॉप हो गई। ऐसे कठिन परिस्थितियों का सामना करने के बाद भी अमिताभ बच्चन ने हार नहीं मानी। और अपनी कोशिश को लगातार बरकरार बनाए रखने में अपने आप को साथ दिया। कहां जाता है कि मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

प्रेरणादायक विचार जब दर्द नहीं था सीने में तो खाक मजा था जीने में Limant Post

इसी कारण से 1971 में अमिताभ बच्चन को उस समय के सुपरस्टार राजेश खन्ना के साथ काम करने का मौका मिला। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन ने अपने जोरदार कोशिश के साथ-साथ दमदार अभिनय का शुरूआत किया। आनंद मूवी के बॉक्स ऑफिस पर अच्छी चलने के कारन फिल्म फेयर अवार्ड में अमिताभ बच्चन को बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवार्ड भी दिया गया। यहां से अमिताभ बच्चन के सफलता का सफर शुरू हो जाता है। समय बीतने के साथ-साथ धीरे-धीरे के लोगों को अमिताभ बच्चन के द्वारा बनाई गई फिल्में भी पसंद आने लगी। अमिताभ बच्चन को असली सफलता उनके 13 फिल्मों के बाद मिली। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम के जीवन के प्रेरणादायक सफर हिंदी में जानकारी

1973 में प्रकाश मेहरा की फिल्म जंजीर से शुरू हुई। अमिताभ बच्चन की जोरदार और दमदार अभिनय सफलता के उस राह पर लाकर खड़ा कर दिया। जहां से अमिताभ बच्चन कभी पीछे मुड़कर नहीं देखे। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर ऐसा धमाल मचाया कि एक ही रात में अमिताभ बच्चन फिल्म जगत के सुपर स्टार बन गए। कहां जाता है कि अमिताभ बच्चन की फिल्म जंजीर के आने के बाद उस समय का सबसे ज्यादा कमाई करने वाला फिल्म बन गया। जंजीर फिल्म के धमाल मचाने के बाद अमिताभ बच्चन को एंग्री यंग मैन के नाम से जाना जाने लगा। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

प्रेरणादायक कहानी तांगा चलने वाला धर्मपाल गुलाटी कैसे बने MDH मसाले कम्पनी के मालिक

यह समय अमिताभ बच्चन के लिए एक ऐसा समय था। जहां से इन्होंने कैरियर की सफलता की शुरुआत की। इस समय के बाद अमिताभ बच्चन ने अदालत और अमर अकबर एंथोनी जैसे सुपरहिट फिल्मों से दर्शकों का दिल जीत लिया। अमिताभ बच्चन के लिए कैसा समय आ चुका था कि जब दर्शक इन्हें देखने के लिए भीड़ इकट्ठा करने लगे। लेकिन तभी अचानक 26 जुलाई  को कुली फिल्म की शूटिंग के दौरान बच्चन को एक बड़ी गहरी चोट का सामना करना पड़ा। कहा जाता है कि इस फिल्म के दौरान जब शूटिंग चल रही थी। तो फिल्म के रोल के हिसाब से पुनीत को मुक्का मारना था। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

सच बोलने के माध्यम से अपने जीवन में खुशी और शांति प्राप्त करे

पुनीत अमिताभ बच्चन को मुक्का मारने के लिए तैयार थे। तभी अमिताभ बच्चन का पैर फिसल गया। और वह पीछे रखे एक लोहे की रॉड से टकरा गए। जिससे उन्हें बहुत बड़ा गहरा आघात पहुंचा। अमिताभ बच्चन इतनी बुरी तरह से जख्मी हो गए। कि उनका बचना भी मुश्किल साबित हो रहा था। लेकिन डॉक्टरों की बहुत कोशिश करने के बाद और उनके चाहने वालों की दुआओं ने उन्हें फिर से अभिनय करने के काबिल बना दिया। इसके बाद 1983 में उनकी यह फिल्म सुपरहिट हुई। साथ हे साथ उस साल का सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों के लिस्ट में शामिल हो गई। फिल्म में अच्छी सफलता पाने के बाद उन्होंने अपना कदम राजनीति की तरफ बढ़ाना चाहा। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

Comedian कपिल शर्मा के जीवन के संघर्ष से सफलता तक का सफ़र

लेकिन राजनीति के परिवार में इनका पैर ज्यादा दिन तक टिक नहीं सका। इसी कारण से 1988 में इन्होंने फिर से अपने शहंशाह मूवी के साथ फिल्मी जगत में वापस एंट्री मारा। लेकिन राजनीति से वापस फिल्म जगत में आने के बाद उन्हें फिर से कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। वापस आने के बाद इन्होने बहुत सारी फिल्में बनाई। लेकिन बहुत सारी फिल्में में से इनकी कोई सी भी फिल्म नहीं चल पाई। कहा जाता है कि लगभग इन का कैरियर फिल्मी जगत में खत्म सा हो चुका था। लेकिन 2002 में आई फिल्म मोहबत्ते इनके फिल्मी कैरियर को फिर से बनाने में सफल साबित हुई। मोहबत्ते फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ऐसा धमाल मचाया कि फिर से अमिताभ बच्चन फिल्मी जगत के सुपर स्टार बन गए। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

दुनिया से सबसे अमीर इंसान Bill Gates के जीवन में हुए संघर्ष से परिचय

इस फिल्म के कारण इनके अभिनय को फिर से सराहा गया। फिल्म जगत की अपार सफलता पाने के बाद इन्होंने अपना कदम टीवी की दुनिया में भी रखा। और उन्होंने कौन बनेगा करोड़पति जैसे शो का निर्माण किया। इस शो में टीवी जगत की सारी टीआरपी को तोड़कर एक नया मुकाम हासिल कर लिया। उनका मानना है कि उनके सभी सफलताओं के पीछे उनके पिता हरिवंश राय बच्चन के पुत्र होना ही है। अमिताभ बच्चन के लिए उनके पिता हरिवंश राय बच्चन हमेशा से एक आदर्श रहे हैं।

छत्रपती शिवाजी महाराज के जीवन की संघर्ष से विजेता का सम्पूर्ण कथा

यदि आपको हमारे द्वारा दी गई अमिताभ बच्चन के जीवन के बारे में यह जानकारी पसंद आई हो। तो आप इसे ट्विटर लिंक्डइन पर शेयर अवश्य कर दें। ताकि हमारे पूरे भारत वासियों को यह पता चल सके कि अमिताभ बच्चन के जीवन में कितने परेशानियों का सामना करना पड़ा था। यदि आप अमिताभ बच्चन के बारे में कुछ पूछना चाहते हैं। तो हमें कमेंट करके बता सकते हैं। यदि आप अमिताभ बच्चन के बारे में कुछ खास जानकारी लेना चाहते हैं। तो आप हमें मैसेज के जरिए भी बता सकते हैं। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

भारत देश के सबसे शक्तिशाली और प्रभावी 15वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

मैसेज करने के लिए आपको हम के होम पेज पर Facebook के जरिए मैसेज करने का भी विकल्प आसानी से मिल जाएगा। यदि आप हमें कमेंट करना चाहते हैं। तो इस पोस्ट के नीचे कमेंट करने का विकल्प भी आसानी से प्राप्त हो जाएगा। यदि आप अमिताभ बच्चन के बारे में किसी विशेष जानकारी को रखना चाहते हो। और हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं। तो आप हमें मैसेज या कमेंट के जरिए बता सकते हैं। यदि आपके द्वारा दी गई जानकारी सत्य होतो है। तो हम आपके जानकारी को अपने वेबसाइट पर आपके नाम के साथ संलग्न करेंगे। (अमिताभ बच्चन के जीवन के संघर्ष की कहानी और प्रेरणादायक विचार)

भारत देश के महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की जीवनी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

9 Comments

  1. Pingback: भारत के महान जासूस रविंद्र कौशिक जिसने पाकिस्तान की सेना तक ज्वाइन कर लिया | Limant
  2. Pingback: दुनिया का सबसे खतरनाक फाइटर ब्रूस ली के जीवन परिचय | Limant
  3. Pingback: Paytm के मालिक विजय शेखर शर्मा के जीवन के संघर्ष की कहानी
  4. Pingback: भारत रत्न से सम्मानित डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर का जीवन परिचय | Limant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us